--Advertisement--

चोरी की घटना को ऐसे कबूल करवा रही पुलिस, VIDEO हो रहा वायरल

मुरादाबाद में एक शख्स से पुलिस जबरदस्ती चोरी कबूल करवा रहे थे।

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 02:55 PM IST
Police use third degree in police station

मुरादाबाद (यूपी). यहां सोमवार शाम से एक वीडियो वायरल हो रहा है। बताया जा रहा है कि सिविल लाइन थाने में एक युवक को बंद कर दिया था। उसके बाद उसे पीट-पीट कर जुर्म कबूल करवाया जा रहा है। चोरी का लगा था आरोप...


- शिकायतकर्ताओं के मुताबिक ये वीडियो रिजवान और वसीम नामक युवक का है। जिन्हें पुलिस ने चोरी के आरोप में जेल भेजा है। परिजनों के मुताबिक इन्हें थर्ड डिग्री देकर जुर्म कुबूल करवाया गया है।
- इस वीडियो के बाद स्थानीय पुलिस अधिकारियों जांच कर कार्रवाई की बात कह रहे हैं।

ये है पूरा मामला

- रिजवान और वसीम जो कि सिविल लाइन थाना क्षेत्र के चक्कर की मिलक निवासी हैं। इनको चोरी के आरोप में जेल भेजकर सिविल लाइन पुलिस अपनी पीठ थपथपा रही है। - पुलिस की इस कार्रवाई के पीछे का सच क्या है? ये तो जांच का विषय है, लेकिन सोमवार को एक वीडियो वायरल हुआ है, जो पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर रहा है। - वीडियो में रिजवान की पिटाई करने के बाद जबरन घटनाएं कुबूल कराई जा रही है। परिवार के लोगों का तो यहां तक आरोप है कि पुलिस ने असली मुल्जिमों को वसूली करने के बाद छोड़कर इन दोनों को फंसाया है।
- सिविल लाइन पुलिस ने रविवार को मोबाइल, लैपटॉप चोरी करने वाले वसीम और रिजवान को जेल भेज दिया है। बाकायदा उनसे 4 मोबाइल, लैपटॉप, चोरी की बाइक, तमंचा और चाकू भी बरामद दिखाया है।

ऐसा है VIDEO
- वीडियो में रिजवान की बेल्ट से पिटाई की जा रही है, पिटाई होते होते भी रिजवान घटनाएं कुबूल करने से इंकार रहा है। उससे जबरन चोरी की घटनाएं कबूल कराई जा रही है।
- पीड़ित के परिजन ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा, ''पुलिस ने जिसके पास से लैपटॉप पकड़ा, उसे थाने लाने के बाद वसूली कर छोड़ दिया है। इस घटना से आहत होकर यह वीडियो मानवाधिकार आयोग को भेजा जा रहा था।''

पुलिस ने क्या कहा
- इंस्पेक्टर सिविल लाइन अजीत सिंह ने ने कहा, ''चोरी के मामले में युवक को जेल भेजा गया लेकिन मारपीट का ऐसा कोई वीडियो वायरल नहीं हुआ है।''
- एसपी सिटी आशीष श्रीवास्तव ने कहा, ''जिस वीडियो को वायरल दिखाया जा रहा है, उसकी जांच की जाएगी। जांच करने के बाद जो दोषी होगा उसपर कार्रवाई की जाएगी।''

Police use third degree in police station
X
Police use third degree in police station
Police use third degree in police station
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..