--Advertisement--

मां-बहन की हत्या के बाद से गायब बेटा, पिता बोले-इस गेम को खेलने की थी लत

ग्रेटर नोएडा. यहां बुधवार को मिली मां-बेटी की लाश के बाद अब फैमिली घटना के बाद से गायब बेटे को ढूंढ़ने में लगी है।

Danik Bhaskar | Dec 07, 2017, 08:22 PM IST
4 दिसंबर को हुई थी मां-बहन की हत्या। उसके बाद से गायब है बेटा। 4 दिसंबर को हुई थी मां-बहन की हत्या। उसके बाद से गायब है बेटा।

ग्रेटर नोएडा. ग्रेटर नोएडा में मां-बेटी की हत्या के बाद से फरार फैमिली का नाबालिग लड़का 3 दिन बाद शुक्रवार को बनारस में पकड़ा गया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक, उसने अपनी मां और बहन की हत्या की बात कबूल कर ली है। नोएडा पुलिस शनिवार दोपहर को हत्याकांड का खुलासा करेगी। आरोपी को जुवेनाइल कोर्ट में पेश किया जाएगा। आरोपी लड़के ने बैट से पीट-पीटकर डबल मर्डर को अंजाम देने की बात बताई है। क्राइम फाइटर गेम के चक्कर में हुआ मर्डर...

- पुलिस के मुताबिक, डबल मर्डर के आरोपी लड़के ने शुरुआती पूछताछ में क्राइम फाइटर गेम को वारदात की वजह बताया है। उसने बैट से पीटकर दोनों की हत्या की थी।

- दो दिन तक बेटे के लापता रहने पर परिवार ने उससे घर लौटने की अपील की थी। लड़के के पिता और दादा ने कहा था कि वह अपनी मां और बहन की हत्या नहीं कर सकता।

- पुलिस सूत्रों ने बताया कि इस अपील के बाद शुक्रवार को आरोपी नाबालिग ने किसी अनजान नंबर से पिता को फोन किया। इसकी लोकेशन के आधार पर उसे बनारस के दशाश्वमेघ घाट से पकड़ा गया।

क्या है पूरा मामला...

- मामला ग्रेटर नोएडा वेस्ट के गौर सिटी 2 के 11 एवेन्यू का है। यहां फ्लैट नंबर 1446 के बेडरूम में मां अंजलि (35) और बेटी मणिकर्णिका (12) की डेडबॉडी पड़ी मिली।
- पुलिस के मुताबिक, 4 दिसंबर को शाम 8 बजे के बाद से दोनों मां-बेटी को किसे ने भी नहीं देखा। रिश्तेदार लगातार फोन कर रहे थे। जब फोन नहीं उठा तो एक पड़ोस में रहने वाले रिश्तेदारों को फोन किया गया, फिर पुलिस को सूचना दी गई।
- पुलिस ने गेट खोला तो घर के अंदर बेडरूम में मां-बेटी की लाश मिली। लाश के पास एक बैट पड़ा हुआ मिला, जिस पर खून के निशान हैं और धारदार हथि‍यार मिला।
- घटना के बाद से अंजलि का 15 साल का बेटा रोहन (बदला नाम) गायब है। वारदात के दिन अंजलि के पती सौर्य अग्रवाल बिजनेस के काम से बाहर गए थे।

- उन्होंने बताया, बेटे रोहन को क्राइम गैंगस्टर गेम खेलने का शौक था। वो कॉलेज-कोंचिग जाता था, इसलिए उसको मोबाइल दिलवाया था। लेकिन जब वो अपना सारा वक्त फोन पर देने लगा तो उससे मोबाइल छीन लिया।

- फोन वापस लेने के बाद उसने अपने लैपटॉप में वो गेम डाउनलोड कर लिया था। अंजलि ने इसके लिए कई बार उसे डांटा और लैपटॉप से गेम भी हटा दिया था। लेकिन बेटे को गेम की लत इस तरह थी कि लैपटॉप से गेम हटाने के बाद वो अपनी मां से मोबाइल मांगता रहता था।

- मैं अपने बेटे के ख‍िलाफ कोई कार्रवाई नहीं चाहता, बस किसी भी कीमत पर उसे वापस पाना चाहता हूं। सोशल मीडिया के जरिए विनती भी की है।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में हुआ ये खुलासा....

- एसएसपी लव कुमार ने बताया, घटना के बाद से रोहन के साथ मृतका अंजलि का फोन भी गायब है। फोन की आख‍िरी लोकेशन वारदात की रात (4 दिसंबर) को नई दिल्ली के चांदनी चौक की मिली।

- घटना में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट भी आ गई है। रिपोर्ट के अनुसार, मां-बेटी को पहले नशीला पदार्थ ख‍िलाकर बेहोश किया गया, उसके बाद कैंची से कई वार किए गए। फिर बल्ले से दोनों के सिर पर कई वार किए गए। दोनों की मौत 4 दिसंबर की रात करीब 11 बजकर 45 मिनट पर हुई।

- फिलहाल, मृतका का बेटा गायब है, उसकी तलाश की जा रही है। लूट जैसी कोई बात सामने नहीं आई है। सीसीटीवी फुटेज भी चेक किए जा रहे हैं।''
बेड पर रजाई से ल‍िपटी थी मां-बेटी की डेडबॉडी। बेड पर रजाई से ल‍िपटी थी मां-बेटी की डेडबॉडी।
एसएसपी लव कुमार ने बताया, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार, मां-बेटी को पहले नशीला पदार्थ ख‍िलाकर बेहोश किया गया, उसके बाद कैंची से कई वार किए गए। फिर बल्ले से दोनों के सिर पर कई वार किए गए। दोनों की मौत 4 दिसंबर की रात करीब 11 बजकर 45 मिनट पर हुई। एसएसपी लव कुमार ने बताया, पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के अनुसार, मां-बेटी को पहले नशीला पदार्थ ख‍िलाकर बेहोश किया गया, उसके बाद कैंची से कई वार किए गए। फिर बल्ले से दोनों के सिर पर कई वार किए गए। दोनों की मौत 4 दिसंबर की रात करीब 11 बजकर 45 मिनट पर हुई।
घटना के बाद से अंजलि का 15 साल का बेटा गायब है। घटना के बाद से अंजलि का 15 साल का बेटा गायब है।
लाश के पास से खून लगा बैट और एक धारदार हथि‍यार म‍िला है। लाश के पास से खून लगा बैट और एक धारदार हथि‍यार म‍िला है।