Hindi News »Uttar Pradesh »Meerut» Additional Chief Secretary Inspection In Noida Traffic Park

जब इंस्पेक्शन पर निकली ये लेडी अफसर, कमी मिलने पर यूं हाथ जोड़ लिए अधिकारी

नोएडा में प्राधिकरण अधिकारियों की बोलती उस समय बंद हो गई। जब अपर मुख्य सचिव ने ट्रैफिक पार्क का जायजा लिया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 14, 2017, 01:49 AM IST

  • जब इंस्पेक्शन पर निकली ये लेडी अफसर, कमी मिलने पर यूं हाथ जोड़ लिए अधिकारी
    +3और स्लाइड देखें
    अपर मुख्य सचिव (परिवहन) अराधना शुक्ला ने ट्रैफिक पार्क का जायजा लिया।
    नोएडा. यहां सोमवार को प्राधिकरण अधिकारियों की बोलती उस समय बंद हो गई। जब अपर मुख्य सचिव (परिवहन) अराधना शुक्ला ने सेक्टर-108 स्थित ट्रैफिक पार्क का जायजा लिया। उन्होंने अधिकारियों से पार्क का काम पूरा न होने का कारण पूछा। तो अधिकारी हाथ जोड़कर खड़े हो गए। इस दौरान उन्होंने निर्माण सामग्री की जांच की। जिसमें अनियमितता पाई गई।आगे पढ़िए पूरा मामला...

    - यातायात नियमों के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए सेक्टर-108 में प्राधिकरण ट्रैफिक पार्क का निर्माण करा रहा है। इसका निर्माण अक्टूबर -2016 में पूरा होना था। जिसके बाद इसकी डेड लाइन जुलाई -2017 दी गई।
    - बावजूद इसे आम जनता के लिए खोला नहीं जा सका। निर्माण कार्य में निरंतर देरी होने के चलते सोमवार को अपर मुख्य सचिव (परिवहन) खुद ट्रैफिक पार्क का जायजा लेने सेक्टर-108 पहुंच गई।
    - यहां उन्होंने पार्क के निर्माण की समीक्षा की। जिसके बाद निर्माण पूरा नहीं होने का कारण पूछा। वहीं, मौके पर निर्माण में प्रयुक्त किए जा रहे सामग्री की जांच की। उन्होंने पार्क में मौजूद अधिकारियों से पूछा कि निर्माण सामग्री की जांच कैसे होती है।
    - इसके बाद उन्होंने खुद गिलास चम्मच मंगवाकर जांच की। जिसमें अनियमितता पाई गई। उन्होंने स्पष्ट कहा, ''यह जांच रिपोर्ट सीएम के समक्ष रखी जाएगी। जाहिर है इसके बाद एक और घोटाला खुलने की पूरी आशंका है।''
    - वहां से अपर मुख्य सचिव ने परिवहन व एसआरटीओ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। जिसमें लोगों को आ रही समस्याओं को जल्द दूर करने के निर्देश दिए गए है।
    जमकर लगाई फटकार
    - ट्रैफिक पार्क में सचिव ने ठेकेदारों को तलब किया। जिसके बाद जमकर फटकार लगाई गई। यही नहीं अपर मुख्य सचिव ने ट्रैफिक पार्क में बिजली व्यवस्था की जानकारी मांगी।
    - पता चला कि यहां बिजली की सप्लाई तक नहीं है। इस पर उन्होंने संबंधित एपीई के साथ परियोजना अभियंता को भी फटकार लगाते हुए पूरे मामले की शिकायत सीएम से करने की बात तक कहीं।
    क्या है ट्रैफिक पार्क परियोजना ?
    - लोगों को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए प्राधिकरण सेक्टर-108 में ट्रैफिक पार्क का निर्माण कर रहा है। इसे 8 एकड़ में बनाया जा रहा है। इसके निर्माण में करीब 40 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे है।
    - यह हू-ब-हू ट्रैफिक सिग्नल, जिक-जेक रोड, डिवाइडर, स्पीड ब्रेकर के अलावा ट्रैफिक निमयों के बोर्ड लगाए जा रहे है। इसका निर्माण जुलाई-2017 में पूरा होना था। लेकिन 8 साल बाद भी इसका 75 प्रतिशत काम ही पूरा हो सका है।
  • जब इंस्पेक्शन पर निकली ये लेडी अफसर, कमी मिलने पर यूं हाथ जोड़ लिए अधिकारी
    +3और स्लाइड देखें
    पार्क का काम पूरा न होने अधिकारियों को जमकर फटकारा।
  • जब इंस्पेक्शन पर निकली ये लेडी अफसर, कमी मिलने पर यूं हाथ जोड़ लिए अधिकारी
    +3और स्लाइड देखें
  • जब इंस्पेक्शन पर निकली ये लेडी अफसर, कमी मिलने पर यूं हाथ जोड़ लिए अधिकारी
    +3और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Meerut

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×