Hindi News »Uttar Pradesh »Meerut» Body Election Councilor Candidate In Muzaffarnagar

शादियों में झाड़ू लेकर पहुंच जाता है ये शख्स, अब बहन लड़ेगी पार्षदी का चुनाव

मुजफ्फरनगर के वार्ड 47 में 2 साल से रोज युवक निस्वार्थ भाव से झाड़ू लगा रहा है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 06, 2017, 12:01 PM IST

  • शादियों में झाड़ू लेकर पहुंच जाता है ये शख्स, अब बहन लड़ेगी पार्षदी का चुनाव
    +3और स्लाइड देखें
    वार्ड 47 में 2 साल से युवक निस्वार्थ भाव से झाड़ू लगा रहा है। इसी वजह से इलाके के लोगों ने उसकी बहन को कैंडिडेट बनाकर चुनाव मैदान में उतारा है। (झाड़ू लगता अनीस और इनसेट में बहन)
    मुजफ्फरनगर.यहां के वार्ड 47 में 2 साल से युवक निस्वार्थ भाव से झाड़ू लगा रहा है। इसके आलावा नाली में हाथ डालकर उसे साफ-सफाई करता है। उसकी लगन को देखते हुए इलाके के लोगों ने उसे पार्षद बनाने का फैसला लिया। लेकिन आरक्षण में सीट महिला होने की वजह से उसकी बहन को कैंडिडेट बनाकर चुनाव मैदान में उतार दिया है। लोगों का कहना है, ''अनीस को सफई का जुनून सवार है। मोहल्ले या आसपास के इलाकों में कहीं भी किसी लड़की की शादी होती है तो वो हाथ में झाडू लेकर पहुंच जाता है।'' ऐसे सवार हुआ साफ-सफाई का जुनून...
    - यहां के वार्ड 47 में रहने वाला अनीस रिक्शा चलाकर अपने परिवार को पेट भर रहा है। उसने बताया, ''करीब दो साल पहले वह किसी काम से सहारनपुर गया था। वहां उसे कुछ ऐसे लोग आपस में बात करते मिले जो मुजफ्फरनगर के मोहल्लों में फैली गंदगी की बात कर रहे थे। उसी वक्त मैंने तय कर लिया कि अपने मोहल्ले को जरूर साफ रखूंगा।''
    - इसके बाद रोज सुबह अनीस हाथ में झाडू उठाकर साफ-सफाई में जुट गया। 2 साल से लगातार वो ये काम कर रहा है।
    लड़कियों की शादी में खुद पहुंच जाता है साफ सफाई करने
    - स्थानीय लोगों का कहना है, ''अनीस को सफई का जुनून सवार है। मोहल्ले या आसपास के इलाकों में कहीं भी किसी लड़की की शादी होती है तो वो हाथ में झाडू लेकर पहुंच जाता है। साफ-सफाई करने के लिए पहुंच जाता है।''
    - ''इसी वजह से लोगों ने इन्हें वार्ड का पार्षद बनाने का फैसला लिया, लेकिन सीट महिला कोटे में आरक्षित होने के कारण उनकी बहन नजराना को कैंडिडेट बनाकर चुनाव मैदान में उतार दिया है।''
    - मोहल्ले के लोगों ने पैसा इकट्ठा कर चुनाव के दौरान होने वाले खर्च उठाने की बात कही है।
    - अनीस अहमद का कहना है, ''उसे मोहल्ले के लोगों का साथ मिला है, इसलिए उसकी बहन जरूर चुनाव जीतेगी।''
    - स्थानीय निवासी इंतजार और खुर्रम का कहना है, ''पिछले 2 साल से इसे मोहल्ले में झाडू और सफाई करते हुए देख रहे हैं। उसकी निस्वार्थ सेवा को देखकर ही लोगों ने उसे चुनाव में खड़ा करने का निर्णय लिया है।''
  • शादियों में झाड़ू लेकर पहुंच जाता है ये शख्स, अब बहन लड़ेगी पार्षदी का चुनाव
    +3और स्लाइड देखें
    अनीस ने बताया- दो साल पहले वो किसी काम से सहारनपुर गया था। वहां कुछ लोग मुजफ्फरनगर के मोहल्लों में फैली गंदगी की बात कर रहे थे। उसी के बाद से अपने इलाके को साफ रखने का जुनून सवार हुआ।
  • शादियों में झाड़ू लेकर पहुंच जाता है ये शख्स, अब बहन लड़ेगी पार्षदी का चुनाव
    +3और स्लाइड देखें
    झाड़ू ही नहीं नाली में हाथ डालकर गंदगी साफ करता अनीस।
  • शादियों में झाड़ू लेकर पहुंच जाता है ये शख्स, अब बहन लड़ेगी पार्षदी का चुनाव
    +3और स्लाइड देखें
    स्थानीय लोगों का कहना है- अनीस को सफई का जुनून सवार है। मोहल्ले या आसपास के इलाकों में कहीं भी शादी होती है तो वो हाथ में झाडू लेकर पहुंच जाता है।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Meerut

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×