पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रेप पीड़ित पर एसिड फेंका, राजीनामा से इंकार करने पर घटना; पुलिस ने कहा- दोनों पक्षों में पुरानी रंजिश है

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित लड़की को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। - Dainik Bhaskar
पीड़ित लड़की को अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।
  • बाबूगढ़ इलाके के गांव में शुक्रवार शाम की घटना
  • रेप का आरोपी इस समय जेल में, 7 फरवरी को पीड़ित की केस में गवाही

हापुड़. उत्तर प्रदेश के हापुड़ में रेप पीड़ित पर एसिड अटैक की घटना सामने आई है। इससे पहले पीड़ित परिवार के साथ मारपीट की भी गई। आरोपी पक्ष समझौते के लिए दबाव बना रहा था। पुलिस ने बताया कि दोनों पक्षों में पहले से विवाद चल रहा है। एसिड अटैक के संबंध में जांच की जा रही है। घटना बाबूगढ़ इलाके के एक गांव की है।


परिवार के अनुसार, जून 2019 को गांव के युवक दिलशाद ने नाबालिग लड़की से दुष्कर्म किया था। पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी दिलशाद को जेल भेज दिया था। आरोपी अभी जेल में है। इसी केस में 7 फरवरी को कोर्ट में पीड़ित की गवाही है। मामले को लेकर राजीनामा के लिए दबाव बनाया जा रहा था। आरोप है कि इंकार करने पर रविवार को मारपीट की गई। इसके बाद पीड़ित पर तेजाब से हमला किया गया, जिससे एक पैर बुरी तरह झुलस गया। घटना की जानकारी मिलने पर वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। पीड़ित को अस्पताल भेजा गया।

विवाद पुराना, एसिड अटैक के संबंध में साक्ष्य जुटाए जा रहे : पुलिस
अपर पुलिस अधीक्षक ने बताया कि दोनों पड़ोसी खानादानी हैं। रविवार को कूड़ा डालने को लेकर महिलाओं में विवाद हुआ। पहले मारपीट की गई। फिर पुरुषों में विवाद बढ़ गया। इसी दौरान नाबालिग लड़की पर एसिड अटैक हुआ। लड़की घुटने के नीचे झुलसी है। सामान्य हालत है। शुरुआती जांच में सामने आया कि दोनों पक्षों में पुरानी रंजिश है। आरोपी पक्ष ने पहले रेप का केस दर्ज कराया था, जो जांच में झूठा पाया गया। इसके बाद दूसरे पक्ष ने भी रेप का केस दर्ज कराया। इसका आरोपी जेल में है। रविवार को पीड़ित पक्ष की महिला घर के बाहर पानी और कूड़ा डाल रही थी। इसी बात को लेकर विवाद हुआ। एसिड अटैक किन परिस्थितियों में हुआ, किसने किया, इसकी जांच की जा रही है। फोरेंसिक टीम साक्ष्य जुटा रही है। साक्ष्य के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...