अमरोहा / नेशनल हाईवे पर सिपाही का शव रखकर परिजनों ने लगाया जाम, पुलिस ने दौड़ा दौड़ाकर पीटा



X

  • बीते गुरुवार को बागपत के टिकरी चौकी पर सिपाही ने गोली मारकर की थी खुदकुशी
  • अमरोहा जिले का रहने वाला था सिपाही

Dainik Bhaskar

Nov 02, 2019, 01:28 PM IST

अमरोहा. बागपत जिले के टिकरी चौकी पर तैनात सिपाही प्रवीण कुमार ने बीते गुरुवार को इंचार्ज भगवत सिंह की सर्विस रिवॉल्वर से गोली मारकर खुदकुशी कर ली थी। वह अमरोहा के सैदनगली का रहने वाला था। शुक्रवार को परिजनों ने नेशनल हाईवे 24 पर रखकर जाम लगा दिया और चौकी इंचार्ज पर हत्या करने का आरोप लगाया। इस दौरान कुछ युवक इस घटनाक्रम का वीडियो बना रहे थे। पुलिस ने एक युवक को जमकर पीटा और उसका मोबाइल छीन लिया। परिजनों का आरोप है कि, सिपाही की हत्या हुई है, लेकिन पुलिस हमारी सुन नहीं रही है। मामले की निष्पक्ष जांच हो। 

 

अमरोहा जिले की हसनपुर तहसील के सैदनगली थाना क्षेत्र के गांव तरारा निवासी सिपाही प्रवीण का शव बागपत से गुरुवार रात उसके पैतृक गांव लाया गया। शुक्रवार को परिजन शव के अंतिम संस्कार के लिए लेकर निकले। लेकिन दिल्ली-लखनऊ हाईवे पर कांकाठेर के नजदीक शव रखकर उन्होंने जाम लगा दिया। परिजनों का आरोप लगाया कि, सिपाही ने आत्महत्या नहीं की है। उसकी हत्या की गई है। सिपाही के सर में दो गोली लगी है। 

 

सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने परिजनों को समझाने का प्रयास किया। इस दौरान पुलिस की परिजनों से झड़प हुई। इस झड़प का एक युवक वीडियो बना रहा था। जैसे ही पुलिसवालों की उस पर नजर पड़ी, सभी टूट पड़े और युवक को दौड़ा-दौड़ा कर पीटना शुरू कर दिया। मौके पर अफरा तफरी मच गई। परिवार ने शव छोड़कर भागकर अपनी जान बचाई। 

 

मृतक के पिता राजेंद्र ने कहा कि इस हत्या में चौकी इंचार्ज और एक खाना बनाने वाली व एक सिपाही शामिल है। अभी तक कोई भी अधिकारी मेरे घर मुझसे मिलने नहीं आया है। हमारी मांग है कि, नौकरी, बेटियों की पढ़ाई का खर्च ओर माता पिता को पेंशन दी जाए। मांगो के लिए जब जाम लगाया तो पुलिस ने हम लोगों को दौड़ा दौड़ा कर पीटा है। 


अपर पुलिस अधीक्षक अजय प्रताप सिंह ने कहा कि, परिजन कुछ मांगों को लेकर नेशनल हाईवे पर धरना प्रदर्शन कर रहे थे। मृतक आरक्षी के परिजनों के साथ किसी ने भी किसी तरीके की मारपीट नहीं की है। 

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना