बुलंदशहर हिंसा / गोकशी के आरोप में पकड़े गए तीन आरोपियों पर लगी रासुका, जेल में हैं निरुद्ध



bulandshahr violence nsa invoked against three cow slaughter
X
bulandshahr violence nsa invoked against three cow slaughter

  • स्याना कोतवाली के महाव गांव में तीन दिसंबर को हुई थी गोकशी
  • गोकशी के बाद भड़की थी हिंसा, इंस्पेक्टर समेत दो की गई थी जान

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 07:01 PM IST

बुलंदशहर. यहां स्याना कोतवाली में बीते साल तीन दिसंबर को हुई गोकशी के मामले में पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (एनएसए) लगाया है। तीनों आरोपी वर्तमान में जेल में हैं। वहीं, गोकशी के बाद यहां चिंगरावठी गांव में भड़की हिंसा व इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के मामले में पुलिस अब तक 35 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। कोर्ट ने हिंसा के सभी आरोपियों के खिलाफ कुर्की का नोटिस जारी किया था। 

 

बुलंदशहर जिले के स्याना कोतवाली इलाके के महाव गांव में बीते साल तीन दिसंबर को गोकशी के बाद हिंसा भड़क गई थी। हिंसा ने महाव के अलावा चिंगरावठी इलाके को अपने गिरफ्त में लिया था। इस दौरान स्याना कोतवाल सुबोध सिंह व ग्रामीण युवक सुमित की गोली लगने से मौत हुई थी। हिंसा व इंस्पेक्टर की हत्या के मामले में पुलिस अभी तक मुख्स आरोपी बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज, भाजयुमो का नगर अध्यक्ष शिखर अग्रवाल, प्रशांत नट, जीतू फौजी समेत 35 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। वहीं, गोकशी के मामले में भी पुलिस ने सात लोगों को पकड़ा था। यह सभी जेल में हैं। 

 

जिलाधिकारी डॉक्टर अनुज कुमार झा ने बताया कि हिंसा की जांच के लिए गठित एसआइटी ने गोकशी के आरोप में आठ आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इनमें अजहर पुत्र तकी खां निवासी मोहल्ला कैतवाल कस्बा स्याना, नदीम उर्फ नदीनुद्दीन पुत्र बाबू खां उर्फ जहीरुद्दीन व महबूब अली पुत्र अब्दुल मारूफ निवासी चौधरियान मोहल्ला कस्बा स्याना को मुख्य दोषी मानते हुए एसआइटी व पुलिस ने अपनी जांच रिपोर्ट सौंप दी थी। रिपोर्ट के आधार पर तीनों आरोपियों पर रासुका की कार्रवाई की गई है। 

COMMENT