--Advertisement--

मेट्रिमोनियल साइट के जरिए लुटेरे दूल्हे ने तीन शादियां की, तीन राज्यों में करोड़ों रुपए ठगे; 7 साल बाद नोएडा में पकड़ाया

नोएडा पुलिस ने तरुण शर्मा व उसकी कथित बहन को दबोचा, दोनों पर 25-25 हजार का था इनाम

Dainik Bhaskar

Aug 18, 2018, 03:13 AM IST
लुटेरा दूल्हा और उसकी कथित बहन लुटेरा दूल्हा और उसकी कथित बहन

भोपाल की बैंक मैनेजर से भी शादी कर ऐंठे थे दस लाख

नोएडा /भोपाल. मेट्रिमोनियल वेबसाइट के जरिए अच्छी प्रोफाइल की युवती से शादी कर रकम लेकर फरार होने वाले लुटेरे दूल्हे को नोएडा पुलिस ने उसकी कथित बहन के साथ धर दबोचा है। सात साल से तीन राज्यों की पुलिस को चकमा देकर वह भोपाल, उप्र और चंडीगढ़ की महिलाओं को झांसा दे चुका है। दोनों आरोपियों पर नोएडा पुलिस से 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित था। आरोपी तरुण शर्मा ने बीते एक साल के भीतर ही तीन शादियां कर लीं थीं।
पहली शादी नोएडा में अप्रैल 2017 में एक नर्स से की थी और 4 महीने बाद ही 40 लाख रुपए हड़पकर फरार हो गया था। इसके बाद भोपाल पहुंचा और यहां बैंक मैनेजर को झांसे में लेकर जनवरी 2018 में शादी कर ली थी। इस महिला से भी 8-10 लाख रुपए ठगकर मई 2018 में अपनी कथित बहन के साथ फरार हो गया था। अब जुलाई में वाराणसी की रहने वाली लड़की से इलाहाबाद में शादी कर उससे सवा करोड़ रुपए खर्च करवाकर एक ट्रैवल एजेंसी शुरू करने की तैयारी में था। इसी सिलसिले में वह शुक्रवार सुबह नोएडा सेक्टर-71 पहुंचा, जहां पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया। नोएडा एसएसपी डॉ. अजयपाल शर्मा के मुताबिक आरोपियों में तरुण शर्मा और उसकी कथित बहन दुर्गांशु शर्मा है।
तरुण गाजियाबाद और दुर्गांशु देहरादून की रहने वाली है। एसएसपी ने बताया कि तरुण शर्मा अपने भाइयों के साथ गाजियाबाद में लाखों की जालसाजी के मामले में 2008 में जेल भी जा चुका है। जेल से छूटने के बाद ही 2010 में वह दुर्गांशु के संपर्क में आया था और फिर दोनों नए तरीके से ठगी का प्लान बनाने लगे थे।
अप्राकृतिक दुष्कर्म और अपहरण की धाराएं भी लगीं : नोएडा एसएसपी डॉ अजयपाल ने बताया कि मुख्य आरोपी तरुण के खिलाफ धोखाधड़ी करने के साथ शादी करके दोनों युवतियों के साथ अप्राकृतिक दुष्कर्म करने का भी मामला दर्ज किया गया है। वहीं, दुर्गांशु के खिलाफ धोखाधड़ी के साथ साजिश रचने का मामला दर्ज किया गया है। एसएसपी ने बताया कि इनके खिलाफ 6 मामले प्रकाश में आ चुके हैं, जिनके आधार पर जल्द ही गैंगस्टर भी लगाया जाएगा।

चंडीगढ़ में खोला ऑनलाइन शॉपिंग मॉल व न्यूज पोर्टल : मेरठ से दिसंबर 2011 से निकलकर दोनों ने एक आई-10 कार चुराई। उसी कार को लेकर दोनों पंजाब चले गए। कुछ दिनों बाद चंडीगढ़ में ऑनलाइन शॉपिंग सेंटर और एक न्यूज पोर्टल भी शुरू किया। इस दौरान तरुण ने एक विवाहिता को झांसे में लिया और उसके साथ लिव-इन में रहने लगा। कई समाचार पत्रों में विज्ञापन देकर बिजनेस के नाम पर अलग-अलग लोगों से 70-80 लाख रुपए तक हड़प लिए फिर नवंबर 2016 में दिल्ली जा पहुंचा। चंडीगढ़ में मंजीत व अन्य लोगों ने मिलकर दोनों के खिलाफ लाखों की धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। तरुण को लुटेरा दूल्हा बनने का आइडिया फिल्म डॉली की डोली से मिला था। दरअसल, दुर्गांशु को यह फिल्म बेहद पसंद है, जिसे वह दर्जनों बार देख चुकी है।

ठगी की शुरुआत इस तरह... 10 रुपए के स्टाम्प पर लिखता था- नहीं लूंगा दहेज: तरुण ने नोएडा और भोपाल दोनों शहरों में मेट्रिमोनियल वेबसाइट और 10 रुपए के स्टाम्प पेपर पर दहेज नहीं लेने की बात कहकर जाल में फंसाया था। दोनों को उसने शादी से पहले 10 रुपए के स्टाम्प पेपर पर लिखकर दिया कि वह दहेज नहीं लेगा। बस शगुन के तौर पर 1 रुपए और एक जोड़ी कपड़े लेगा। इस तरह दोनों लड़कियों के परिवार के लोग झांसे में आ गए थे।

खुद को बताया मुलायम सिंह का करीबी, ऐंठे 25 लाख: तरुण और दुर्गांशु दोनों फरवरी 2011 में मेरठ में रहने वाले अजय त्यागी के मकान में किरायेदार बनकर गए थे। तरुण ने खुद को एक न्यूज पोर्टल का मालिक बताते हुए दावा किया कि वह समाजवादी पार्टी सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव का करीबी है। इसी झूठ पर कुछ पुलिसकर्मियों से भी दोस्ती कर ली। फिर उनके साथ फोटो खिंचवाकर मकान मालिक व आसपास के लोगों के बीच पैठ बनाने लगा। अजय की बेटी की शादी तय हुई तो तरुण ने भरोसे में लेकर सामान खरीदवाने के लिए उनसे 15 लाख रुपए ले लिए। पूरा परिवार सगाई करने गया था तभी वह दुर्गांशु के साथ शादी के लिए रखा कैश, ज्वैलरी समेत 25 लाख का सामान लेकर फरार हो गया था। मेरठ पुलिस को इस मामले में गिरफ्तारी करना बाकी है।

X
लुटेरा दूल्हा और उसकी कथित बहनलुटेरा दूल्हा और उसकी कथित बहन
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..