गाजियाबाद / दो बच्चों की हत्या कर पत्नी और एक महिला के साथ 8वीं मंजिल से कूदा कारोबारी

पुलिस जांच में जुटी। पुलिस जांच में जुटी।
घर की दीवार पर लिखा नोट। घर की दीवार पर लिखा नोट।
दीवार पर लिखा- मौत का जिम्मेदार कौन? दीवार पर लिखा- मौत का जिम्मेदार कौन?
दंपती के शव। दंपती के शव।
जांच में जुटी पुलिस। जांच में जुटी पुलिस।
फ्लैट के भीतर जांच करती पुलिस। फ्लैट के भीतर जांच करती पुलिस।
सोसायटी की इसी बिल्डिंग से कूदे दंपती। सोसायटी की इसी बिल्डिंग से कूदे दंपती।
X
पुलिस जांच में जुटी।पुलिस जांच में जुटी।
घर की दीवार पर लिखा नोट।घर की दीवार पर लिखा नोट।
दीवार पर लिखा- मौत का जिम्मेदार कौन?दीवार पर लिखा- मौत का जिम्मेदार कौन?
दंपती के शव।दंपती के शव।
जांच में जुटी पुलिस।जांच में जुटी पुलिस।
फ्लैट के भीतर जांच करती पुलिस।फ्लैट के भीतर जांच करती पुलिस।
सोसायटी की इसी बिल्डिंग से कूदे दंपती।सोसायटी की इसी बिल्डिंग से कूदे दंपती।

  • इंदिरापुरम के वैभव खंड में मंगलवार सुबह की घटना, 2 बच्चों समेत 5 की मौत से सभी सन्न
  • कारोबारी ने वारदात को अंजाम देने से पहले फ्लैट की दीवार पर अंतिम संस्कार के लिए 500 रुपए का नोट चस्पा किया
  • आर्थिक तंगी को सुसाइड की वजह मान रही पुलिस, मृतक के भाई ने उसके साढ़ू पर लगाया उत्पीड़न का आरोप

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2019, 12:23 PM IST

गाजियाबाद. यहां इंदिरापुरम के वैभव खंड में मंगलवार सुबह दो बच्चों की हत्या करने के बाद कारोबारी ने पत्नी और एक अन्य महिला के साथ 8वीं मंजिल से कूदकर जान दे दी। दूसरी महिला कारोबारी के साथ पत्नी के तौर पर रह रही थी। दो बच्चों समेत 5 की मौत की इलाके के लोग सन्न हैं। शुरुआती जांच में पुलिस आर्थिक तंगी को इस घटना की वजह मान रही है। फ्लैट में पुलिस को एक खरगोश भी मृत मिला है।  

पूरा परिवार खत्म

मामला इंदिरापुरम की कृष्णा अप्रा सोसायटी का है। सोसायटी की आखिरी मंजिल पर ए-805 नंबर के फ्लैट में गुलशन (40 वर्ष), पत्नी परवीन (38 वर्ष) और दूसरी महिला संजना (35 वर्ष) के साथ रहता था। संजना गुलशन की दूसरी पत्नी बताई जा रही है। वह कारोबार में भी उसकी सहयोगी थी। इनके दो बच्चे 11 साल का ऋतिक और 12 साल की रीतिका थे।

मंगलवार की सुबह गुलशन ने पत्नी परवीन और संजना के साथ 8वीं मंजिल से छलांग लगा दी। वहां मौजूद लोग तीनों को तुरंत अस्पताल ले गए। जहां डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।  

सूचना पाकर मौके पर पुलिस पहुंची। पुलिस ने जब फ्लैट का दरवाजा खोला तो दोनों बच्चों की लाश मिली। वहां एक खरगोश भी मृत मिला। पुलिस का कहना है कि आत्महत्या से पहले दंपती ने अपने सोते हुए बेटे का गला घोंटा और फिर उसका गला चाकू से रेत दिया। इसके बाद बेटी की भी हत्या की। बाद में खरगोश को भी मार दिया।

फ्लैट की दीवारों पर सुसाइड नोट के साथ 500 रुपए चस्पा थे। लिखा था- हमारी तमन्ना है लाशों को एक साथ जलाया जाए। दीवार पर राकेश वर्मा नाम के शख्स को भी इस घटना का जिम्मेदार होने की बात लिखी है। दीवारों पर कुछ बाउंस चेक भी चस्पा थे। मौके से मिले नोट के आधार पर पुलिस खुदकुशी की वजह आर्थिक तंगी मान रही है।

पुलिस की शुरुआती जांच में पता चला है कि मृतक गुलशन की जींस फैक्ट्री थी। उसमें इसे घाटा हो गया। गाजियाबाद के एसएसपी सुधीर कुमार सिंह ने बताया- मामला आर्थिक तंगी से जुड़ा लग रहा है। वहीं, मृतक के भाई ने आरोप लगाया कि उनके भाई और साढ़ू राकेश वर्मा के बीच 2 करोड़ रुपए के लेन-देन का विवाद था।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना