हवाई हमला / शहीद अमित व प्रदीप के परिजन बोले- इतने से संतुष्ट नहीं, खून का बदला खून चाहिए



शहीद अमित कुमार के परिजन। शहीद अमित कुमार के परिजन।
X
शहीद अमित कुमार के परिजन।शहीद अमित कुमार के परिजन।

  • पुलवामा हमले में शहीद हुए थे सीआरपीएफ जवान अमित कुमार व प्रदीप कुमार
  • दोनों शहीद शामली जिले के रहने वाले

Dainik Bhaskar

Feb 26, 2019, 12:33 PM IST

शामली. पुलवामा आतंकी हमले के 12 दिन बाद भारतीय वायुसेना ने मंगलवार तड़के लाइन ऑफ कंट्रोल को क्रॉस कर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के कई लॉन्च पैड को तबाह कर दिए हैं। भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 फाइटर विमान ने मुजफ्फराबाद, बालाकोट और चकोटी के कई ठिकानों पर बमबारी की। इधर, शहीदों के परिवार इस कार्रवाई भर से संतुष्ट नहीं हैं। उनका कहना है कि इस तरह की गोलाबारी तो अपने देश में खाली जगह पर प्रैक्टिस के लिए भी कर सकते हैं। उन्हें खून का बदला खून चाहिए।

 

शहीद अमित कुमार के भाई सुनील कुमार ने कहा कि देश की सरकार के द्वारा लिए गए फैसले के बाद पाकिस्तान पर वायु सेना ने हमले किए। पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों को खत्म किया है। लेकिन, मरने वालों की सूचना अभी तक जारी नहीं हुई है। जब तक 40 के बदले 4000 आतंकवादियों को नहीं मार गिराया जाएगा, तब तक सुकून नहीं मिलेगा। देश की सरकार से शहीदों का परिवार जवाब मांग रहा है। यह खानापूर्ति करके एक खाली ठिकानों पर ही हमला करके काम नहीं चलेगा। ठोस कदम उठा कर सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए।

 

शहीद प्रदीप कुमार के बेटे सिद्धार्थ का कहना है कि यह सब खानापूर्ति की जा रही है। खाली मकानों पर वायु सेना प्रेक्टिस करने का काम कर रही है। अगर यह प्रैक्टिस करनी थी तो पुलवामा और राजस्थान में बहुत जमीन खाली पड़ी है। वहां पर हमारे देश की सेना ऐसा कर सकती है। हम लोग अभी तक की कार्रवाई से संतुष्ट हैं, लेकिन हम लोगों को खून का बदला खून चाहिए। जब तक कोई आतंकी नही मारा जाता तब तक हमें सकून नहीं मिलेगा। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना