उप्र / मकर संक्रांति व गणतंत्र दिवस पर्व पर लगे हिंसा के बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज के बधाई पोस्टर



बुलंदशहर जिले में लगे यह पोस्टर। बुलंदशहर जिले में लगे यह पोस्टर।
X
बुलंदशहर जिले में लगे यह पोस्टर।बुलंदशहर जिले में लगे यह पोस्टर।

  • बीते साल तीन दिसंबर को स्याना कोतवाली इलाके में गोकशी को लेकर भड़की थी हिंसा
  • हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध सिंह व ग्रामीण सुमित की गोली लगने से हुई थी मौत
  • हिंसा भड़काने के आरोप में योगेश राज जेल में बंद

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 01:59 PM IST

बुलंदशहर. यहां बीते साल तीन दिसंबर को गोकशी के बाद भड़की हिंसा व इंस्पेक्टर सुबोध सिंह की हत्या के मामले में बजरंग दल का जिला संयोजक योगेश राज जेल में है। लेकिन उसके नाम से बुलंदशहर में मकर संक्रांति की बधाई दी जा रही है। स्याना व अन्य इलाकों में मकर संक्रांति, गणतंत्र दिवस बधाई के पोस्टर लगे हैं, जिनमें योगेश राज की तस्वीर भी चस्पा है। योगेश राज को बजरंग दल का जिला संयोजक दिखाया गया है।

 

प्रांत सहसंयोजक बोले- योगेश राज आरोपी, दोषी नहीं

पोस्टर वायरल होने पर बजरंग दल के प्रांत सह संयोजक प्रवीण भाटी ने कहा कि, योगेश राज बजरंग दल का जिला सयोंजक है। इसलिए उसका पोस्टर हमारे कार्यकर्ताओं ने लगाया है। पोस्टर लगाने का उद्देश्य केवल मकर संक्रांति और गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देना है। प्रवीण भाटी का कहना है कि, हिंसा व इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या के मामले में योगेश राज आरोपी है। दोषी नहीं है। वहीं, विश्व हिंदू परिषद के विभाग मंत्री ब्रोनो भूषण का कहना है कि, बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं के द्वारा ही यह पोस्टर लगाए गए हैं। 


गोकशी के बाद भड़की थी हिंसा

बुलंदशहर जिले के स्याना थाना के पास 3 दिसंबर को कथित गो हत्या की अफवाह के बाद हिंसा हुई थी। इस हिंसा में पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और ग्रामीण युवक सुमित की गोली लगने से मौत हो गई थी। बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज पर इस हिंसा को भड़काने का आरोप है। इस हिंसा में कुल 35 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। पुलिस ने योगेश राज को 3 जनवरी, 2019 को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। 
 

COMMENT