शामली / सीआरपीएफ के जवान सतेंद्र कश्यप को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई, बेटे दीपांशु ने दी मुखाग्नि



Martyr Satendra's Dead Body Has Reached His Village And Now The Funeral Will Be Done
X
Martyr Satendra's Dead Body Has Reached His Village And Now The Funeral Will Be Done

  • शुक्रवार सुबह उनके पैतृक गांव किवाना लाया गया था शव
  • अंतिम संस्कार में उप्र के मंत्री सुरेश राणा, सांसद प्रदीप चौधरी भी हुए शामिल
  • अनंतनाग हमले में हुए थे शहीद

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 04:41 PM IST

लखनऊ. दक्षिणी कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमले में शहीद हुए शामली के जांबाज सीआरपीएफ जवान सतेंद्र कश्यप का शुक्रवार को राजकीय सम्मान के साथ उनके पैतृक गांव में अंतिम संस्कार किया गया। शहीद के बेटे दीपांशु ने मुखाग्नि दी।

 

इस दौरान प्रदेश के गन्ना राज्य मंत्री सुरेश राणा, सांसद प्रदीप चौधरी, शामली विधायक तेजेंद्र निरवाल और डीएम अखिलेश सिंह सहित जिले भर के जनप्रतिनिधि और विभिन्न राजनीतिक दलों के लोग सतेंद्र की अंतिम यात्रा में शामिल हुए। 

 

सतेंद्र की अंतिम विदाई में उमड़ा जनसैलाब
जिले के हजारों लोग जांबाज बेटे को अंतिम विदाई देने गांव किवाना पहुंचे। जब तक सूरज चांद रहेगा, सतेंद्र तेरा नाम रहेगा के जयघोष इस दौरान गूंजते रहे। इस दौरान डीएम अखिलेश सिंह, एएसपी राजेश कुमार श्रीवास्तव, एडीएम आनंद कुमार शुक्ला सीओ एके सिंह समेत विभिन्न अधिकारी मौजूद रहे। वहीं सीआरपीएफ के अधिकारियों ने परिजनों को हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

 

शुक्रवार सुबह गांव किवाना पहुंचा था पार्थिव शरीर
आतंकी हमले में शहीद हुए सतेंद्र का पार्थिव शरीर उनके गांव किवाना में शुक्रवार सुबह आठ बजे पहुंचा। शामली के लाल सतेंद्र के शव के इंतजार में सुबह चार बजे से ही मेरठ-करनाल हाईवे स्थित लिसाड़ मोड़ पर आस-पास गांवों के सैकड़ों युवा हाथों में तिरंगा लिए खड़े थे। जैसे ही सुबह आठ बजे सतेंद्र का पार्थिव शरीर गांव पहुंचा तो भारत माता की जय, शहीद सतेंद्र अमर रहे और पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगने शुरू हो गए। इस दौरान हर किसी की आंखों में आंसू आ गए।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना