मुस्लिम युवक ने 4 साल बाद कटाई दाढ़ी; घर पहुंचकर सुनाई झूठी कहानी, पुलिस ने पकड़ा

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
फारुख। - Dainik Bhaskar
फारुख।
  • घर वालों के पूछने पर आरोपी बोला; ट्रेन में कुछ लोगों ने जबरन काटी, पुलिस ने घटना को नकारा
  • पुलिस ने सोशल मीडिया पर जबरन दाढ़ी काटने की अफवाह फैलाने के आरोप में पकड़ा

बागपत. उत्तर प्रदेश के बागपत में एक मुस्लिम युवक ने शेव (दाढ़ी) जबरन काटने की अफवाह फैलाने की कोशिश की। आरोपी युवक ने वीडियो बनाया और उसके एक दोस्त ने इसे सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लिया है। उसने अफवाह फैलाने की बात कबूल की है।
 

ये भी पढ़ें
बच्चा चोरी की अफवाहों को रोकने के लिए यूपी पुलिस की मदद में लगे तीन लाख वालंटियर
यहां मुगलपुरा मोहल्ला निवासी फारुख का वीडियो टि्वटर पर एम वदूद साजिद नाम के यूजर ने पोस्ट किया। उसने वीडिया के साथ यह भी लिखा कि फारुख को बागपत में ट्रेन में खींचकर पीटा गया और जबरन उसकी दाढ़ी काट दी। यूजर ने पीड़ित के लिए मदद मांगी थी।
 

पोस्ट में यूपी पुलिस को किया गया था टैग
पोस्ट में यूजर ने यूपी पुलिस, बागपत पुलिस, रेल मंत्रालय, सीएम योगी आदित्यनाथ और अमित शाह को टैग किया। इसके अलावा पोस्ट में एक फोन नंबर भी दिया गया जो पीड़ित के भाई का बताया गया। इस संवेदनशील मामले की जांच जब पुलिस ने शुरू की तो मामला कुछ और निकला।
 

दाढ़ी दाढी कटवाने की झूठी कहानी बनाई: एसपी
एसपी प्रताप गापेंद्र यादव ने बताया कि फारुख को विश्वास में लेकर जब पूछताछ की गई तो पता चला कि वह चार साल पहले एक इज्तमा में शामिल हुआ था। इसके बाद उसने दाढ़ी बढ़ा ली थी। अब वह उसे कटवाना चाहता था। लेकिन, समाज व धर्म का भय था। इसलिए उसने जबरदस्ती दाढ़ी कटवाने की झूठी कहानी बनाई। 
 

आरोपी ने अफवाह फैलाने की बात कबूली
पुलिस ने बताया कि फारुख ने लोनी में रहने वाले अपने एक साथी के पास पहुंचकर दाढ़ी कटवा दी। फिर घर लौटते वक्त खुद ही अपने कपड़े फाड़कर ये अफवाह फैलाई थी कि ट्रेन में उसके साथ मारपीट हुई और उसकी दाढ़ी काट दी गई। फारुख ने भी स्वीकार किया कि उसने खुद दाढ़ी कटवाई थी।
 
 


 

खबरें और भी हैं...