मेरठ / बालगृह से तीन किशोरों की फरारी का मामला: सीएम योगी ने जांच के दिए आदेश, चार पर हुई कार्रवाई



सीएम योगी आदित्यनाथ। सीएम योगी आदित्यनाथ।
X
सीएम योगी आदित्यनाथ।सीएम योगी आदित्यनाथ।

  • शुक्रवार रात बालगृह से भागे तीन किशोर, शनिवार को दी गई पुलिस को जानकारी
  • डीएम, एडीएम सिटी व अन्य अफसरों ने किया बालगृह का निरीक्षण

Dainik Bhaskar

Jun 17, 2019, 03:27 PM IST

लखनऊ/मेरठ. उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के सूरजकुंड स्थित राजकीय बाल गृह (बालक) से तीन किशोरों की फरारी के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जांच के निर्देश दिए हैं। वहीं, बाल अधिकार आयोग ने भी पूरे प्रकरण पर रिपोर्ट तलब की है। इस प्रकरण में बालगृह अधीक्षक समेत चार को निलंबित कर दिया गया है। शासन की सख्ती के बाद डीएम, एडीएम सिटी व अन्य अफसरों ने बाल गृह का निरीक्षण किया है। शुरूआती जांच में स्टॉफ की लापरवाही उजागर हुई है। जिस सरिये को तोड़कर तीनों किशोर फरार हुए हैं, वह काफी कमजोर थी, बावजूद इसके स्टॉफ ने अनदेखा किया।   

 

यह पूरा प्रकरण

सूरजकुंड स्थित राजकीय बाल गृह (बालक) में लावारिस हालत में मिलने वाले किशोर रखे जाते हैं। वर्तमान में 28 किशोर यहां रखे गए हैं। शनिवार सुबह गिनती में तीन किशोर कम मिले। ये मेरठ, बरेली व सोनभद्र जिले के रहने वाले हैं। जांच से पता चला कि, बाथरूम के रोशनदान को तोड़कर पाइप के सहारे नीचे उतरकर बालगृह से फरार हो गए। शुरुआत में रोडवेज बस अड्डा, रेलवे स्टेशन आदि स्थानों पर घंटों कांबिंग के बाद भी जब किशोरों का पता नहीं चला तो पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को जानकारी दी गई। पुलिस ने प्रभारी अधीक्षक प्रकाश चंद्र की ओर से किशोरों की फरारी का मुकदमा भी दर्ज कर लिया है। 

 

डीएम ने एडीएम सिटी को सौंपी जांच

डीएम ने इस घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश दिए हैं। यह जांच एडीएम सिटी महेश चंद्र शर्मा करेंगे। एक सप्ताह के अंदर वह जांच रिपोर्ट डीएम को सौंपेंगे। एसपी सिटी डॉक्टर अखिलेश नारायण सिंह ने बताया कि, बाल गृह के प्रभारी अधीक्षक ने नौचंदी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है। निरीक्षण के दौरान डीएम की ओर से किशोरों की बरामदगी के आदेश दिए है। उनके घरों और रिश्तेदारियों में संपर्क कर पुलिस बरामदगी में जुटी हुई है। 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना