घोटाला / एक समय में दो विभागों ने बना डाली एक ही सड़क, निर्माण से रिपेयरिंग पर लगी दो गुना से अधिक रकम



प्रतीकात्मक। प्रतीकात्मक।
X
प्रतीकात्मक।प्रतीकात्मक।

  • मुरादाबाद में पीडब्ल्यूडी व आरईएस विभाग का कारनामा
  • पीड्ब्ल्यूडी अधिकारियों के पास नहीं कोई संतोषजनक जवाब

Dainik Bhaskar

Sep 12, 2019, 02:41 PM IST

मुरादाबाद. यहां सड़क निर्माण व रिपेयरिंग के नाम पर 43.50 लाख का घोटाला सामने आया है। प्रधानमंत्री सड़क योजना के तहत ग्रामीण अभियंत्रण सेवा विभाग के द्वारा बनवाई गई सड़क की रिपेयरिंग के लिए पीडब्ल्यूडी विभाग ने टेंडर निकालकर धन का गबन कर लिया। मामले का खुलासा होने के बाद जांच का हवाला दिया जा रहा है। खास बात यह है कि, सड़क के निर्माण की लागत से ज्यादा रिपेयरिंग के लिए रकम खर्च की गई है। 

 

दो साल पहले निर्माण शुरू हुआ
डिलारी विकास खंड में पीलखपुर से बामनिया पट्टी तक की सड़क, प्रधानमंत्री सड़क योजना के अंतर्गत ग्रामीण अभियंत्रण सेवा विभाग द्वारा बनवाई गयी। जिसका टेंडर 27 दिसंबर 2017 को निकाला गया और सड़क निर्माण 28 मार्च 2018 को पूर्ण किया गया। सड़क निर्माण पर 19 लाख 76 हजार रूपए खर्च हुए। 

 

लेकिन खास बात यह है कि, जो सड़क अभी बनकर तैयार ही नहीं हुई थी, 20 मार्च 2018 को लोक निर्माण विभाग ने उसी सड़क बमनिया पट्टी से पीलखपुर तक मरम्मत का टेंडर निकाल दिया। यानी अभी ग्रामीण अभियंत्रण सेवा द्वारा बनवाई जा रही सड़क के बनने में 8 दिन बाकी थे। पीडब्ल्यूडी ने उसी सड़क की मरम्मत का टेंडर 43.50 लाख रूपए की लागत निकाल दिया। 

 

प्रधान ने रिपेयरिंग की बात को नकारा
बमनिया पट्टी गांव के प्रधान अजय ने बताया कि पिलखपुर से बमनिया पट्टी तक की सड़क की मरम्मत का काम एक साल पहले हुआ था। इसका निर्माण प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत हुआ है। इस एक साल के बीच में सड़क की कोई मरम्मत का कार्य नही हुआ है। 

 

क्या बोले अधिकारी?

  • ग्रामीण अभियंत्रण सेवा के सहायक अभियंता ने बताया कि निर्माण कार्य पूरा होने पर सड़क पीडब्ल्यूडी को सौंप दी गयी है। उन्होंने इस बाबत अभिलेख भी दिखाए। कहा कि जब तक सड़क को हम पीडब्लूडी को नहीं सौंप देते, तब तक उस सड़क पर कोई मरम्मत का कार्य पीडब्लूडी विभाग नहीं करा सकता। क्योंकि एक साल तक सड़क में मरम्मत कराने की जिम्मेदारी ठेकेदार की है। यह सड़क हमारे विभाग द्वारा बनवाई गई है। पीडब्लूडी ने इस सड़क पर कोई कार्य नही कराया है। 
  • पीडब्ल्यूडी के अधिशासी अभियंता लक्ष्मी नारायण ने बताया कि, विभाग ने बमनिया पट्टी से सरकड़ा तक की सड़क बनवाई है। पीछे की सड़क ग्रामीण अभियंत्रण द्वारा बनवाई गयी, उस पर हमारे द्वारा कोई कार्य नहीं किया गया। जबकि टेण्डर में मरम्मत का कार्य पीलखपुर से बमनिया पट्टी दर्शाया गया है। अगर ऐसा कोई मामला है तो इस मामले की जांच कराई जाएगी। जांच के बाद ही बता सकते है कि जो पेमेंट निर्माण कार्य के नाम पर निकाल ली गयी है, उससे रिकवरी की जाएगी या नहीं।
     

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना