--Advertisement--

ईद पर लड़कों को गले लगाकर विवादों में घिरी थी ये लड़की, अब कहा- इरादा गलत नहीं था, लेकिन अधूरा वीडियो दिखाकर मकसद को ही बदल दिया

पूरे मुरादाबाद में अलीशा की चर्चा है। इस वीडियो को लाखों लोग देख चुके हैं।

Danik Bhaskar | Jun 22, 2018, 07:46 PM IST

मुरादाबाद (यूपी). 17 जून को ईद के मौके पर शहर में लड़कों को गले लगाकर विवादों में घिरी अलीशा मलिक काफी परेशान हैं। उस पर परिवार और धर्म का मजाक बनाने के आरोप लगाया जा रहा है। मामले पर अपना पक्ष रखते हुए अलीशा ने कहा है कि उसका कोई गलत इरादा नहीं था। वह केवल रूढ़िवादी सोच को बदलना चाहती थी। लेकिन सोशल मीडिया पर अधूरा वीडियो दिखाकर उसके मकसद को ही बदल दिया गया। अलीशा बोली-पब्लिसिटी पाना मकसद नहीं था...

- अलीशा का कहना है कि सोशल मीडिया पर उसका जो वीडियो वायरल हुआ है, वो अधूरा है। 'मैंने ईद पर केवल लड़कों को गले नहीं लगाया था, बल्कि महिलाओं और बच्चों के भी गले मिलकर उन्हें ईद की बधाई दी थी।'
- 'यह सब मैंने पब्लिसिटी पाने के लिए नहीं किया था। मैं तो बताना चाहती थी कि महिला-पुरुष में कोई भेद नहीं है। लेकिन इसे लेकर जो विवाद खड़ा हुआ है, उससे मैं काफी आहत हूं।'
- 'ऐसा करने से पहले मैंने अपनी मां से सहमति ली थी। सोशल मीडिया पर लोग भद्दे कमेंट्स कर रहे हैं। मैं खुद को काफी असहज महसूस कर रही हूं।'

मौलाना ने कहा-'गैर मर्द के गले लगना गलत'
- वहीं, जिला इमाम मौलाना मुफ्ती रईस अशरफ ने इसे शरीयत के खिलाफ बताते हुए जिला प्रशासन से लड़की और उसकी फैमिली के खिलाफ एक्शन लेने की मांग की है।
- उन्होंने कहा कि इस्लाम में इसकी इजाजत नहीं है। कोई भी महिला गैर मर्द से गले नहीं मिल सकती।

वीडियो को मिल चुके हैं लाखों व्यूज
- इन दिनों पूरे मुरादाबाद में अलीशा की चर्चा है। ईद पर लड़कों से गले मिलते उसके वीडियो को लाखों लोग देख चुके हैं। इसके अलावा इसे लगातार शेयर भी किया जा रहा है।
- वीडियो में कतार में लगे लड़कों से गले मिलते नजर आ रही है। अलीशा ने अलग-अलग मॉल्स में जाकर लोगों से गले मिलते हुए उन्हें मुबारकबाद दी थी।
- यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। तब अलीशा से गले मिलने के लिए लड़कों की लंबी लाइन लग गई थी।