--Advertisement--

फूल बरसाकर होगा मोदी- मैंक्रों का वेलकम, सोने की थाली में परोसी जाएंगी बनारसी डिश

देश के कल्चरल कैपिटल के नाम से फेमस काशी नगरी या फिर बनारस के लिए 12 मार्च को बेहद खास दिन होने वाला है।

Danik Bhaskar | Mar 12, 2018, 12:42 AM IST
प्रोटोकॉल के मुताबिक इस पैलेस में पहुंचने पर कार से उतरने के बाद पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों के रेड कॉर्पेट से होत हुए पैलेस के अंदर जाएंगे। प्रोटोकॉल के मुताबिक इस पैलेस में पहुंचने पर कार से उतरने के बाद पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों के रेड कॉर्पेट से होत हुए पैलेस के अंदर जाएंगे।

वाराणसी. देश के कल्चरल कैपिटल के नाम से फेमस काशी नगरी या फिर बनारस के लिए 12 मार्च को बेहद खास दिन होने वाला है। जब इंडियन पीएम नरेन्द्र मोदी और फ्रांस के प्रेसीडेंट इमैनुएल मैक्रों एक साथ शहर के नदेसर पैलेस में लंच करेंगे। इस दौरान कई ऐतिहासिक फैसले भी लिए जाएंगे। दोनों देश के राष्ट्राध्यक्ष यहां इंडो- फ्रेंच फोरम को भी संबोधित करने वाले हैं। सोने की थाली में बनारसी डिश परोसे जाएंगे..

- तय प्रोटोकॉल के मुताबिक इस पैलेस में पहुंचने पर कार से उतरने के बाद पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों के रेड कॉर्पेट से होत हुए पैलेस के अंदर जाएंगे।

- दोनों नेताओं का वेलकम फूल बरसाकर किया जाएगा। पैलेस के हॉल में दोनों नेता टेबल पर सोने की थाली में राजशाही अंदाज में लंच करेंगे।

- पीएम मोदी और राष्ट्रपति को परोसे जाने वाली इस थाली में वाराणसी के कई फेमस पकवान शामिल होंगे।

महाराज ऑफ बनारस ने बनवाया था..

- बता दें, नदेसर पैलेस को पहले काशी स्टेट की नदेसरी कोठी कहते थे। इस पैलेस को 18वीं सेंचुरी के आखिर में महाराज ऑफ बनारस ने जेम्स प्रिंसेप के कहने पर मेहमानों के मेजबानी के लिए बनवाया था। उस वक्त जेम्स प्रिंसेप वाराणसी के प्राचीन इतिहास पर रिसर्च कर रहे थे। प्रिंसेप की ही देखरेख में नदेसर कोठी का रेनोवेशन करवाया गया था।

- हिस्टोरियन्स के मुताबिक, नदेसर पैलेस का नाम बनारस के महाराज के कहने पर नदेश्वरी देवी की तर्ज पर रखा गया था। बनारस के महराजा प्रभु नारायण सिंह हुकूमत के वक्त 1889 से 1931 तक इसी पैलेस में रहे थे।

ये है यहां ठहरने की कीमत

- यह नदेसरी कोठी अब नदेसर पैलेस में तब्दील हो चुकी है। पैलेस में कुल 10 लग्जरी रूम हैं। यहां एक रात स्टे करने 60 हजार से 80 तक का किराया दिया जाता है। बताते हैं यहां के, रूम में गेस्ट को उनका नाम गढ़े गोल्ड के पेन-पेंसिल दिए जाते हैं।

( इमैनुअल चार दिन के भारत दौरे पर हैं, इस दौरान DainikBhaskar.com आपसे ये जानकारी साझा कर रहा है)

पैलेस के हॉल में दोनों नेता टेबल पर सोने की थाली में राजशाही अंदाज में लंच करेंगे। पैलेस के हॉल में दोनों नेता टेबल पर सोने की थाली में राजशाही अंदाज में लंच करेंगे।
पीएम मोदी और राष्ट्रपति को परोसे जाने वाली इस थाली में वाराणसी के कई फेमस पकवान शामिल होंगे। पीएम मोदी और राष्ट्रपति को परोसे जाने वाली इस थाली में वाराणसी के कई फेमस पकवान शामिल होंगे।
बनारसी पकवान। बनारसी पकवान।
दोनों नेताओं का वेलकम फूल बरसाकर किया जाएगा। दोनों नेताओं का वेलकम फूल बरसाकर किया जाएगा।