Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Bill Gets Meet Cm Yogi In Lucknow News And Updates

सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात

एनेक्सी में बिल गेट्स सीएम योगी से सुबह 10.30 बजे मुलाकात करेंगे।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 17, 2017, 08:06 AM IST

  • सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात
    +7और स्लाइड देखें
    मुलाकात के बाद बिल गेट्स ने कहा- हम यूपी के कई क्षेत्रों में काम करना चाहते हैं।

    लखनऊ.माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी के सह संस्थापक और मिलिंडा एंड बिल गेट्स फाउंडेशन के चेयरमैन बिल गेट्स ने शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की। दोनों के बीच ये मुलाकात एनेक्सी में हुई। इस दौरान बिल गेट्स ने राज्य में निवेश के साथ कई समाजिक मुद्दों पर भी चर्चा की।निवेश की जताई इच्छा

    -यूपी सरकार और मिलिंडा एंड बिल गेट्स फाउंडेशन के बीच वर्ष 2012 में सहयोग को लेकर एक समझौता हुआ था। इस समझौते की अवधि इसी साल समाप्त हो रही है।

    -22 अक्टूबर को अमेरिकी कंपनियों ने उत्तर प्रदेश में निवेश के मौके तलाश रही 26 बड़ी अमेरिकी कंपनियों के प्रतिनिधियों ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। सीएम योगी के साथ हुई मीटिंग में फेसबुक, एडोब, कोका कोला, उबर, मास्टरकार्ड, हनीवेल, पीएंडजी, ओरैकल और जीई हेल्थ जैसी कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल हुए थे।

    -सीएम से मुलाकात में स्वास्थ्य और पोषण के अलावा आईटी सेक्टर को लेकर भी चर्चा की गई है। बिल गेट्स की संस्था आईटी सेक्टर के कार्यक्रमों में अपना सहयोग बढ़ाने पर विचार कर रही है।

    मुलाकात के बाद बिल गेट्स ने क्या कहा

    -बिल गेट्स ने कहा- "हम यूपी सरकार को नवीनतम तकनीकों के माध्यम से मिट्टी की मैपिंग में मदद करना चाहते हैं। किसानों के बीच बेहतर बीज का उपयोग करने के लिए जागरूकता के स्तर में वृद्धि करना चाहते हैं।" हम पहले से ही केंद्रीय सरकार के साथ काम कर रहे हैं और अब यूपी सरकार के साथ भी काम करना पसंद करेंगे।"

    -गेट्स की संस्था उत्तर प्रदेश में पहले से ही काम कर रही है। फाउंडेशन स्वास्थ्य और शिक्षा समेत कई अन्य क्षेत्रों में काम कर रहा है। गेट्स ने कहा कि उन्हें योगी से मिलकर खुशी हुई है। उनकी संस्था इस राज्य में और बेहतर काम करने की इच्छुक हैं।

    -"गेट्स फाउंडेशन तपेदिक के इलाज के लिए एक बेहतर दवा पर काम कर रहा है। अधिक प्रभावी तरीके से अनुसंधान कर हम कुछ वर्षों में इस नई दवा के साथ आने की उम्मीद करते हैं।"

    -बिल गेट्स ने कहा- "हम यूपी में नगर निगम के कचरे का इलाज करने और नदियों साफ करने के मुद्दे पर काम करना चाहते हैं।"

    -बिल गेट्स ने बताया- "उनकी संस्था वेक्टर जनित एवं जल जनित रोगों के नियंत्रण, पेयजल आपूर्ति, सैनिटेशन, मातृ एवं शिशु पोषण तथा कृषि उत्पादकता में वृद्धि करने वाली तकनीकों के क्षेत्र में राज्य सरकार को सहयोग देना चाहेगी।"

    योगी ने क्या कहा-

    -योगी ने कहा- "प्रदेश में लगभग 2 लाख आंगनबाड़ी केन्द्रों में 4 लाख आंगनबाड़ी कार्यकत्रियां मौजूद हैं। उन्होंने अपेक्षा की कि संस्था ऐसी तकनीक एवं सॉफ्टवेयर विकसित कराने में सहयोग प्रदान करेगी, जिसके माध्यम से इन आंगनबाड़ी केन्द्रों में आने वाले बच्चों एवं महिलाओं की स्वास्थ्य सम्बन्धी स्थिति बेहतर की जा सके।"
    -उन्होंने कहा- "बेसिक शिक्षा परिषद द्वारा संचालित विद्यालयों में मिड-डे-मील योजना को और अधिक पौष्टिक बनाने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। इसके तहत माइक्रो न्यूट्रियेण्ट युक्त फोर्टिफाइड राइस आदि की उपलब्धता शामिल है।"
    -योगी ने कहा- "संस्था के सहयोग से प्रदेश सरकार ने मातृ एवं शिशु मृत्यु दर में कमी दर्ज कराने में सफलता हासिल की है। उन्होंने संस्था से अन्य क्षेत्रों में सहयोग का आह्वान करते हुए कहा कि राज्य सरकार ने कई क्षेत्रों में प्रभावकारी कदम उठाते हुए प्रदेश को विकास के रास्ते पर आगे बढ़ाने के लिए प्रयास तेज किए हैं।"

    शिक्षा और स्वास्थ्य क्षेत्र में निवेश पर हुई चर्चा
    -योगी से करीब 45 मिनट चली मुलाकात में बिल गेट्स ने मुख्यमंत्री से राज्य में निवेश की इच्छा तो जतायी ही साथ में कहा- "वह जनहित के अन्य कार्यों में भी हाथ बटांना चाहते हैं। स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छता अभियान, कुपोषण और महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में खासतौर से मदद करने की इच्छा जतायी।"
    -बिल गेट्स की संस्था "बिल गेट्स फाउंडेशन" उत्तर प्रदेश में पहले से ही काम कर रही है। फाउंडेशन की मंशा रोजगार के अवसर भी उपलब्ध कराना है। बिल गेट्स से मुलाकात के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि फाउंडेशन और राज्य सरकार मिलकर काम करना चाहते हैं।

    कौन हैं बिल गेट्स

    -बिल गेट्स का जन्म 28 अक्टूबर, 1955 को वाशिंगटन के एक हाईयर-मीडिल क्लास परिवार में हुआ। इनके पिता का नाम विलियम एच. गेट्स तथा माता का नाम मेरी मैक्सवैल है। बिल गेट्स माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी के सह संस्थापक तथा अध्यक्ष हैं।

    17 साल पहले शुरू किया था टैरिटी फाउंडेशन
    - गेट्स ने 2000 में माइक्रोसॉफ्ट सीईओ पद छोड़ने के बाद पत्नी मेलिंडा के साथ बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन बनाया था। यह दुनिया की सबसे बड़ी निजी चैरिटी संस्था है।
    - इस दान से पहले इसके पास 2.6 लाख करोड़ रुपए का फंड था। फाउंडेशन का मकसद फिलहाल अगले तीन साल में पूरी दुनिया को पोलियोमुक्त बनाने का है।
    - हेल्थ फैसेलिटी मुहैया कराना अौर गरीबी मिटाना भी इसके मकसद में शामिल है।
    - गेट्स और बफेट ने 2010 में ‘गिविंग प्लेज’ नाम से चैरिटी भी शुरू की। उन्होंने अपनी आधी प्रॉपर्टी दान देने का टारगेट रखा था।
    - मार्क जकरबर्ग, माइकल ब्लूमबर्ग और जॉर्ज लुकास समेत 170 बड़े अमीर इस चैरिटी से जुड़ चुके हैं।
    -"बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन" के जरिये बिल गेट्स समाजिक कार्य करते हैं। यह संस्था गरीबी मिटाने, बीमारियों से लड़ने और हर व्यक्ति तक कंप्यूटर की पहुंच मुहैया कराने के लिए काम कर रही है।

    -1994 से अब तक बिल और मेलिंडा गेट्स ने 2.25 लाख करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी दान की है। उन्होंने 1999 में एक लाख करोड़ रुपए के माइक्रोसॉफ्ट के शेयर दान किए थे।
    - इसके बाद 2000 में 32,000 करोड़ रुपए से बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन की शुरूआत की थी।

  • सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात
    +7और स्लाइड देखें
  • सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात
    +7और स्लाइड देखें
  • सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात
    +7और स्लाइड देखें
  • सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात
    +7और स्लाइड देखें
  • सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात
    +7और स्लाइड देखें
  • सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात
    +7और स्लाइड देखें
  • सीएम योगी से मिलेंगे बिल गेट्स, यूपी को मिल सकती है कोई बड़ी सौगात
    +7और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×