--Advertisement--

गांव छोड़ने पर मजबूर हुई ये महिला, रेप का किया था विरोध

पीड़िता का आरोप है कि मामले में पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है।

Danik Bhaskar | Nov 29, 2017, 08:36 AM IST

बेरली. यहां के शाही में कुछ युवकों ने एक महिला के साथ दुष्कर्म करने की कोशिश की। जब महिला ने इसका विरोध किया तो युवकों ने महिला के परिवार को प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। जिसके बाद महिला का परिवार गांव छोड़ने के लिए मजबूर हो गया।


उजाड़ दी महिला की फसल


-युवकों ने विरोध करने पर महिला के खेतों की फसल उजाड़ दी और उसकी झोपड़ी तोड़ डाली। पीड़िता का कहना है- "पुलिस-प्रशासन की तरफ से राहत नहीं मिली तो खौफ में परिवार ने गांव छोड़ दिया।"
-पीड़ित परिवार न्याय के लिए अब भी अधिकारियों के दर पर भटक रहा है।
-पीड़ित महिला ने महिला ने आरोप लगाया है- "गांव के रहने वाले एक युवक ने 18 नवंबर को खेत में काम करते वक्त अकेला पाकर उसके साथ रेप का प्रयास किया। जब पीडि़ता ने इसका विरोध किया तो आरोपी ने अन्य साथियों के साथ मिलकर उसकी फसल उजाड़ दी और झोपड़ी को भी तोड़ दिया।"

थाने में नहीं हुई सुनवाई


-महिला का कहना है कि मामले की शिकायत लेकर जब शाही थाने में पहुंची तो पुलिसकर्मियों ने बिना सुनवाई के ही पीड़ित परिवार को थाने से भगा दिया। पीड़िता अपने पति और बेटी के साथ डीएम, एसएसपी के चक्कर लगा रही है। लेकिन उसकी कही सुनवाई नहीं हो रही है।

परिवार ने छोड़ा गांव


-पीड़ित परिवार ने युवकों के खौफ के कारण गांव से पलायन कर लिया है। पीड़िता के पति का कहना है- "योगीराज में भी गरीब- मजलुमों की कहीं भी सुनवाई नहीं हो रही है। सभी अफसरों के यहां न्याय की गुहार लगा चुके हैं, लेकिन कोई भी सुनने को तैयार नहीं है।"

क्या कहना है पुलिस का


मामले में एसपी देहात ख्याति गर्ग का कहना है- "मामला रंजिश का लग रहा है, जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।"