--Advertisement--

आप छत पर हों, कोई नीचे से सीढ़ी हटा दें...तो क्या ये क्राइम है?

गोरखपुर की रहने वाली अंकिता सिंह (26) ने पीसीएस-जे में 80वी रैंक हासिल की है।

Danik Bhaskar | Nov 28, 2017, 12:11 AM IST

लखनऊ. यूपी लोक सेवा आयोग की तरफ से आयोजित PCS(J) 2016 का रिजल्ट बीते दिनों घोषित हुआ। गोरखपुर की रहने वाली अंकिता सिंह (26) ने पीसीएस-जे में 80वी रैंक हासिल की। वर्तमान में वो लखनऊ में रहती हैं। अंकिता ने जैसे ही लॉ की पढ़ाई पूरी की, सिविल जज की वैकेंसी आ गई। उन्होंने फर्स्ट अटेंप्ट में ही पीसीएस-जे का एग्जाम क्वालीफाई किया। DainikBhaskar.com से बातचीत में उन्होंने इंटरव्यू में पूछे गए सवालों को शेयर किया। ये है एकैडिमिक प्रोफाइल...

 

 

सवाल- अगर आप छत पर हों और कोई नीचे से सीढ़ी हटा दे। इसके आलावा नीचे उतरने का और कोई रास्ता न हो, तो क्या कोई केस होगा?
जवाब- जी, रॉन्गफुल कन्साइन्मेंट के तहत केस दर्ज करवाया जाएगा।

 

- अंकिता मूल रूप से गोरखपुर की रहनी वाली हैं। उनके पिता परशुराम सिंह लखनऊ के नाका थाने के एसएचओ हैं। वो अपनी मां और छोटे भाई के साथ गोरखपुर में रहती थीं।
- गोरखपुर से हाईस्कूल करने के बाद वे परिवार के साथ लखनऊ आ गई।
- अंकिता ने 2016 में लॉ कंप्लीट किया। इस दौरान पीसीएस-जे की वैकेंसी आ गई। पहली कोशिश में एग्जाम क्वालीफाई कर लिया और सिविल जज बन गई।

 

बच्चों में टाइम न दे पाने का पापा को रहता था दुखः
- अंकिता बताती हैं- "मेरे पापा पुलिस विभाग में थे। उनकी ड्यूटी ऐसी थी कि वो हम लोगों के लिए टाइम नहीं निकाल पाते थे। लेकिन वो हमेशा कहते थे - मैं तुम लोगों के लिए टाइम नहीं दे पा रहा हूं। मेरा सपना है कि तुम लोग बड़े अफसर बनो और मेरा नाम रोशन करो।''
- ''पापा की ये बातें मेरे दिल में रहती थीं। कहीं न कहीं मुझे यही बातें प्रेरित करती थीं। मुझे आगे जाकर कुछ बड़ा करना है। मैं हमेशा अपने छोटे भाई को भी प्रेरित करती हूं।"