--Advertisement--

2 BHK दिखाकर बेंच दिए 1 BHK फ्लैट्स, LDA के इंजीनियर्स से हुई चूक

एलडीए ने 19 नवंबर से बिना ले आउट प्रकाशन के 'पहले आओ पहले पाओ' योजना में फ्लैट के पंजीकरण खोल दिए थे।

Danik Bhaskar | Nov 29, 2017, 03:33 PM IST
जनेश्वर एन्क्लेव योजना में पंजीकरण खोले जाने से पहले 1BHK और 2 BHK को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हुई थी। जनेश्वर एन्क्लेव योजना में पंजीकरण खोले जाने से पहले 1BHK और 2 BHK को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हुई थी।

लखनऊ. राजधानी में एलडीए के द्वारा एक बड़ी लापरवाही का मामला सामने आया है। दरअसल, एलडीए के इंजीनियर्स ने ग्राहकों को 2 BHK का फ्लैट्स दिखाकर 1 BHK का फ्लैट्स उन्हें बेंच दिया। वहीं, कुछ दिन बाद जब डिजाइन की पड़ताल की गई तब सामने आया कि यह फ़्लैट 2BHK का नहीं बल्कि 1 BHK का है। जिसके बाद एलडीए के अधिकारियों ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। इंजीनियर्स की गलत रिपोर्ट से हुई चूक...


- बता दें, किसी भी आवासीय योजना के डेवलपमेंट में इंजीनियरिंग विभाग की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी होती है। फ्लैट के सुपर अथवा बिल्ड अप एरिया की जानकारी योजना का काम देख रहे इंजीनियर को ही होती है। यही नहीं, इंजीनियर ही फ्लैट की निर्माण लागत के आधार पर प्री कास्टिंग निर्धारित करते हैं। इसके बाद कास्टिंग विभाग आवेर हेड चार्ज लगाकर फाइनल कास्टिंग निर्धारित करता है।
- बताया जा रहा है कि जनेश्वर एन्क्लेव योजना में पंजीकरण खोले जाने से पहले 1BHK और 2 BHK को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं हुई थी। लेकिन इसके बाद भी इंजीनियर्स ने अपनी रिपोर्ट एलडीए को भेज दी थी। जिस वजह से ग्राहकों से 1 BHK फ्लैट्स को 2 BHK बता कर बेंच दिया गया।

बिना ले आउट के ही खोले गए थे पंजीकरण
- एलडीए ने 19 नवंबर से बिना ले आउट प्रकाशन के 'पहले आओ पहले पाओ' योजना में फ्लैट के पंजीकरण खोल दिए थे।
- इस योजना के तहत गोमतीनगर निवासी तुषार गुप्ता ने 28.04 लाख में 2BHK टाइप-1 फ्लैट की बुकिंग कराई थी। जिसके लिए उन्होंने 2.31 लाख रुपए की पंजीकरण राशि भी जमा कर दी थी।
- कुछ दिन बाद डिजाइन की पड़ताल करने पर मालूम हुआ। यह फ्लैट 2BHK का नहीं बल्कि 1BHK है। जिसके बाद तुषार ने अधिकारियों से इसकी शिकायत की थी।

क्या कहते हैं मुख्य कर निर्धारण अधिकारी
- मुख्य कर एवं निर्धारण अधिकारी डीएम कटियार ने बताया , "इंजीनियर विभाग से दी गई जानकारी के आधार पर पंजीकरण खोल दिए गए थे। फ्लैट के प्रकार अथवा कीमत को लेकर संबंधित योजना के इंजीनियर से जवाब तलब किया गया है। एक आवंटी की शिकायत भी आई है। जांच कराई जा रही है।"

एलडीए के अधिकारियों ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। एलडीए के अधिकारियों ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।