--Advertisement--

'अपराधी UP छोड़ेंगे या एनकाउंटर में मारे जाएंगे' CM के बयान पर NHRC ने जारी किया नोटिस

एनएचआरसी ने सीएम योगी के बयान का संज्ञान लेते हुए यूपी पुलिस से हुए 6 महीने के एनकाउंटर पर नोटिस जारी किया है।

Danik Bhaskar | Nov 22, 2017, 07:39 PM IST
सीएम योगी आद‍ित्यनाथ। फाइल सीएम योगी आद‍ित्यनाथ। फाइल

लखनऊ. राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) ने सीएम योगी आदित्यनाथ के बयान का संज्ञान लेते हुए यूपी पुलिस से हुए 6 महीने के एनकाउंटर पर नोटिस जारी किया है। मुख्य सचिव, उत्तर प्रदेश को नोटिस जारी करते हुए 6 सप्ताह में जबाव मांगा है। यह नोटिस मीडिया रिपोर्ट का संज्ञान लेते हुए जारी क‍िया गया है। पुल‍िस मुठभेड़ में अपराध‍ियों के मारे जाने को कथ‍ित रुप से सरकार ने अपनी उपलब्ध‍ियां ग‍िनाई है। यूपी सरकार ने जारी क‍िए थे एनकाउंटर के ये आंकड़े...


- 5 अक्टूबर 2017 को यूपी पुलिस से जारी हुए आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, 6 महीने में 433 मुठभेड़ हुई हैं।
-19 मार्च 2017 से जब भाजपा की सरकार आई तो कुल 19 अपराधियों की एनकाउंटर में मौत हुई हैं। वहीं, 89 बदमाश घायल हुए हैं। इसके अलावा 98 अधिकारी भी घायल हुए, जिसमें एक की मौत हो गई।
-16 सितंबर 2017 को एक मीडिया रिपोर्ट में लिखा गया कि मुठभेड़ में 15 लोग मारे गए।
-वहीं, यूपी सरकार द्वारा एनकाउंटर को ऐसा डिसक्राइब किया गया कि मुठभेड़ से लॉ एंड ऑर्डर में सुधार हुआ हो।

सीएम के बयान पर जारी हुआ नोटिस
-सीएम योगी आदित्यनाथ ने 19 नवंबर 2017 को मीडिया से बातचीत में बयान दिया कि अपराधी यूपी छोड़ेंगे या एनकाउंटर में मारे जाएंगे।
-एनएचआरसी ने नोटिस किया क‍ि मुठभेड़ में 22 लोगों की मौत की सूचना मिली है। वहीं, सरकार का कहना है क‍ि इससे कानून व्यवस्था में सुधार भी हुआ है।
-इस बयान पर एनएचआरसी ने नोटिस जारी करते हुए 6 हफ्ते में रिपोर्ट मांगी है।

एक्स डीजीपी ने कहा

-एक्स डीजीपी एके जैन ने कहा, सीएम योगी ने कोई भी अवैधानिक बात नहीं कही है। यूपी पुलिस का हौसला बढ़ाने के लिए और जनता में कानून व्यवस्था के सुधार के ल‍िए सीएम ऐसे बयान देते हैं। NHRC अपना काम कर रही है और पुलिस अपना काम करेगी। इस नोटिस से कोई भी असर नहीं पड़ेगा।