Hindi News »Uttar Pradesh »Lucknow »News» Second Phase Voting Started In 25 Districts Of Uttar Pradesh

2nd फेज के 25 जिलों में वोटिंग आज, 100 साल में पहली बार लखनऊ के वोटर चुनेंगे महिला मेयर

निकाय चुनाव के दूसरे चरण के लिए आज 25 जिलों के कुल 189 निकायों में वोटिंग होगी।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 26, 2017, 12:01 AM IST

    • लखनऊ के मॉल एवेन्यू में बने पोलिंग बूथ पर राजनाथ सिंह ने वोट डाला ।

      लखनऊ.उत्तर प्रदेश में निकाय चुनाव के दूसरे फेज के लिए रविवार को 25 जिलों के कुल 189 निकायों में वोटिंग हुई। इलेक्शन कमीशन के मुताबिक, शुरुआती आंकड़ों के आधार पर इस बार 52% वोट पड़े, जो पिछली बार के मुकाबले 8% ज्यादा हैं। दूसरे चरण में 6 नगर निगम लखनऊ, अलीगढ़, इलाहाबाद, वाराणसी, गाजियाबाद और पहली बार नगर निगम बना मथुरा भी शामिल था। इसके अलावा 51 नगरपालिका और 132 नगर पंचायतों के लिए वोट डाले गए। कुल 1.29 करोड़ वोटर्स ने 24 हजार 622 कैंडिडेट्स की किस्मत का फैसला किया।

      आगे की स्लाइड्स में पढ़‍िए कहां पड़े क‍ितना फीसदी वोट...

      नगर पालिका- नगर पंचायतों में वोट प्रतिशत बढ़ा

      - स्टेट इलेक्शन कमिश्नर एस के अग्रवाल ने बताया, "दूसरे चरण में करीब 52% वोटिंग हुई है। अभी फाइनल आंकड़े नहीं आए। पिछली बार 44% मतदान हुआ था। नगर निगम के इलाकों में वोटिंग पर्सेंटेज नहीं बढ़ा है। इसमें बढ़ोतरी की वजह है कि नगर पालिका और नगर पंचायतों में लोगों ने ज्यादा रुचि दिखाई।"

      इन जिलों में हुई वोटिंग

      - लखनऊ, मुजफ्फरनगर, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, अमरोहा, रामपुर, पीलीभीत, शाहजहांपुर, अलीगढ़, मथुरा, मैनपुरी, फर्रुखाबाद, इटावा, ललितपुर, बांदा, इलाहाबाद, सुल्तानपुर, अम्बेडकरनगर, बहराइच, श्रावस्ती, संतकबीरनगर, देवरिया, बलिया, वाराणसी, भदोही।

      कहां, कितनी वोटिंग?

      - अम्बेडकर नगर 65.8%, अलीगढ़ 51.41%, इटावा 53.85%, इलाहाबाद 34.2%, गाजियाबाद 46.9%,

      - देवरिया 62.18%, पीलीभीत 63.80%, फ़र्रुखाबाद 58.53%, बलिया 60.05%, बहराइच 54.80%,

      - बांदा 63.64%, भदोही 64.23%, मुज़फ्फरनगर 63.86%, मथुरा 46.88%, मैनपुरी 58.68%,

      - रामपुर 55.59%, लखनऊ 37.57%, ललितपुर 64.97%, बनारस 44.39%, श्रावस्ती 44.28%,

      - संत कबीर नगर 67.59%, सुल्तानपुर 58.76%

      - शाहजहांपुर 59.03%, गौतमबुद्धनगर 61.65%, अमरोहा 76.66%

      100 साल में लखनऊ में बनेगी पहली महिला मेयर
      - लखनऊ में पिछले 100 साल में पहली बार कोई महिला मेयर चुनी जाएगी, जो एक इतिहास बनेगा।
      - पहली बार यहां मेयर की सीट महिला के लिए रिजर्व की गई है।
      - बता दें, 1916 में म्यूनिसिपल कॉर्पोरेशन एक्ट बनाया गया था और 1917 में महापौर का पहला चुनाव हुआ था।

      इन टॉप लीडर्स की साख दांव पर
      - निकाय चुनाव के दूसरे चरण में भी कई बड़े नेताओं की साख दांव पर होगी।
      - इनमें पीएम मोदी से लेकर गृहमंत्री राजनाथ सिंह, पूर्व सीएम अखिलेश यादव और मुलायम सिंह यादव जैसे दिग्गज शामिल हैं।

      बनारस: वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है। यहां से लाखों वोटों से जीत कर नरेंद्र मोदी सांसद चुने गए थे। यहां दूसरे चरण में नगर निगम की एक सीट के लिए मतदान होना है। पीएम का संसदीय क्षेत्र होने के कारण यह सीट जीतना बीजेपी के लिए साख की बात बन गई है वहीं, पीएम मोदी की प्रतिष्ठा भी इसे लेकर दांव पर है।

      लखनऊ: यहां से गृहमंत्री राजनाथ सिंह सांसद हैं। ऐसे में यहां उनकी साख दांव पर है। 20 साल से ज्यादा वक्त से राजधानी के मेयर की सीट पर बीजेपी का कब्जा है। ऐसे में यह सिलसिला बनाए रखने की जिम्मेदारी अब बीजेपी के दिग्गजों पर आ गई है।

      रामपुर: रामपुर सपा के दिग्गज नेता आजम खान का गढ़ माना जाता है। दूसरी ओर बीजेपी के केन्द्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी इसे अपना गढ़ मानते हैं। ऐसे में इन दो दिग्गजों पर रामपुर की नगर पालिका सीट जीतने का दबाव है।

      इटावा और मैनपुरी: इटावा और मैनपुरी सपा परिवार का गढ़ माना जाता है। राजनीति में यहां समाजवादी परिवार का काफी दबदबा रहता है। ऐसे में यहां की नगर पालिका परिषद पूर्व सीएम अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव के लिए साख का सवाल है।

      अलीगढ़: यहां से यूपी के पूर्व सीएम कल्याण सिंह और उनके बेटे संदीप सिंह की साख दांव पर होगी। कल्याण सिंह अभी राजस्थान के गवर्नर और उनके बेटे संदीप सिंह योगी सरकार में मंत्री हैं। अलीगढ़ कल्याण सिंह का गृह जिला है।

      सुल्तानपुर: पिछले कई महीनों से सुल्तानपुर से बीजेपी सांसद वरुण गांधी की पार्टी से नाराजगी की खबरें सामने आती रही हैं। हालांकि, कई बार वरुण गांधी और बीजेपी संगठन इसे नकार चुका है। इसके बावजूद यहां की नगरपालिका सीट जीतना बीजेपी और खुद वरुण गांधी के लिए साख की बात बन गई है।

      इलाहाबाद: इलाहाबाद पर मेयर कैंडिडेट का चुनाव भी काफी अहम है। यहां से बीजेपी के मंत्री नंदगोपाल गुप्ता 'नंदी' की पत्नी अभिलाषा गुप्ता चुनाव मैदान में हैं। अभिलाषा वहां की मौजूदा मेयर भी हैं। इलाहाबाद बीजेपी के स्पोक्सपर्सन और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह का भी गृह जिला है। ऐसे में यहां भी बीजेपी को जीत दिलाना इन दिग्गज नेताओं के लिए चुनौती होगी।

      बहराइच: पिछले आंकड़ों पर गौर करें तो यहां निकाय चुनावों में ज्यादातर समाजवादी पार्टी और बीएसपी ही हावी रही है, लेकिन इस वक्त सूबे में बीजेपी की सरकार है और यहां की स्थानीय विधायक अनुपमा जायसवाल प्रदेश सरकार में मंत्री हैं। ऐसे में निकाय चुनाव में दोनों पार्टियों का तिलिस्म तोड़ बीजेपी को जीत दिलाना मिनिस्टर अनुपमा के लिए चुनौती होगी।

    • 2nd फेज के 25 जिलों में वोटिंग आज, 100 साल में पहली बार लखनऊ के वोटर चुनेंगे महिला मेयर
      +5और स्लाइड देखें
      दूसरे फेज में 189 निकायों में आज वोटिंग हो रही है।
    • 2nd फेज के 25 जिलों में वोटिंग आज, 100 साल में पहली बार लखनऊ के वोटर चुनेंगे महिला मेयर
      +5और स्लाइड देखें
    • 2nd फेज के 25 जिलों में वोटिंग आज, 100 साल में पहली बार लखनऊ के वोटर चुनेंगे महिला मेयर
      +5और स्लाइड देखें
    • 2nd फेज के 25 जिलों में वोटिंग आज, 100 साल में पहली बार लखनऊ के वोटर चुनेंगे महिला मेयर
      +5और स्लाइड देखें
      100 साल में पहली बार लखनऊ के वोटर महिला मेयर चुनेंगे।
    • 2nd फेज के 25 जिलों में वोटिंग आज, 100 साल में पहली बार लखनऊ के वोटर चुनेंगे महिला मेयर
      +5और स्लाइड देखें
      लखनऊ में गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने डाला वोट।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From News

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×