--Advertisement--

दक्षिण कोरियाई डेलिगेशन ने की सीएम योगी से मुलाकात, कई मुद्दों पर हुई चर्चा

कोरियाई दल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर पर्यटन के साथ कई अन्य मुद्दों पर बात की।

Danik Bhaskar | Nov 24, 2017, 03:08 PM IST
यह मुलाकात मुख्यमंत्री आवास 5 केडी में आयोजित की गई थी। यह मुलाकात मुख्यमंत्री आवास 5 केडी में आयोजित की गई थी।

लखनऊ. शुक्रवार को सीएम योगी आदित्यनाथ ने दक्षिण कोरियाई डेलिगेशन के साथ मुलाकात की। कोरियाई दल ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलकर पर्यटन के साथ कई अन्य मुद्दों पर बात की। यह मुलाकात मुख्यमंत्री आवास 5 केडी में आयोजित की गई थी।

-गिम्हे सिटी कोरिया के मेयर सहित 10 सदस्यीय दल मुख्यमंत्री से मिलने लखनऊ पहुंचा। इस बैठक में यूपी सरकार की ओर से पर्यटन और कृषि विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे।

डेलिगेशन ने पर्यटन में अपार संभावनाएं बताते हुए डेवलप करने की बात की। मुलाकात के बाद सीएम ने र्फस्ट फेज को प्राथमिकता के तौर पर काम शुरू करने का निर्देश दिया। जिसमें रामायण सर्किट, काशी, कुंभ और मथुरा को शामिल किया है।

डेलिगेशन ने मुलाकात में प्लान, र्फस्ट फेज में रामायण सर्किट, कुंभ, और काशी पर फोकस


-कोरियाइ डेलिगेशन से मुलाकात में पर्यटन में एमओयू साइन के बाद सीएम की इच्छा पर र्फस्ट फेज में रामायण सर्किट, कुभं और काशी से जुड़े पर्यटन पर फोकस करने के साथ इनके डेवलपमेंट पर काम करने का निणर्य हुआ।

क्या है रामायण सर्किट
-केन्द्र सरकार ने 245 करोड़ की इस परियोजना का पहला चरण अयोध्या के लिए ही प्रस्तावित किया है। इसके अलावा चित्रकूट और श्रृंगवेरपुर के बीच के 11 स्थलों के लिए भी अलग बजट प्रस्तावित है।
-इन महत्वपूर्ण धार्मिक स्थलों को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाएगा।
-अयोध्या में कई विकास योजनाएं रामायण सर्किट के तहत ही प्रस्तावित की गई हैं। अयोध्या को जनकपुर से सीधे सड़क मार्ग से जोड़ने की भी योजना है। जिसमें जनकपुर से रामेश्वरम तक राम वनगमन मार्ग के प्रमुख स्थलों को विकसित करने की है।
-इसके शुरूआती दौर में इस रामायण सर्किट के तहत ही अयोध्या से इलाहाबाद-श्रंगवेरपुर होते हुए चित्रकूट को जोड़ा जाएगा।

काशी, कुंभ और मथुरा पर फोकस


-इसके साथ ही अगले साल होने वाले महाकुंभ को धार्मिक स्थल के अलावा टूरिस्ट प्लेस के तौर पर विशेष डेवलप करने के लिए कहा गया है। जिसमें विदेशों ज्यादा से ज्यादा पर्यटक आ सके।
-इलाहाबाद में 2019 के महाकुंभ को लेकर पूरी सरकार अभी से तैयारी करने के साथ ही विदेशों में इसको लेकर काफी प्रचार प्रसार करने की तैयारी में है।
-इसी प्रकार काशी को आध्यात्मिक तो मथुरा को कृष्ण लीलाओं से जोड़कर पूरी तरह से सांस्कृतिक और आध्यात्म से जोड़ने की तैयार कर ली है।


बिल गेट्स ने की थी मुलाकात
-अभी हाल ही में माइक्रोसॉफ्ट कम्पनी के सह संस्थापक और मिलिंडा एंड बिल गेट्स फाउंडेशन के चेयरमैन बिल गेट्स ने सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी। दोनों के बीच ये मुलाकात एनेक्सी में हुई थी।
-इस दौरान बिल गेट्स ने राज्य में निवेश के साथ कई समाजिक मुद्दों पर भी चर्चा की थी।
-यूपी सरकार और मिलिंडा एंड बिल गेट्स फाउंडेशन के बीच वर्ष 2012 में सहयोग को लेकर एक समझौता हुआ था। इस समझौते की अवधि इसी साल समाप्त हो रही है।