--Advertisement--

न चीख और न कोई हाथापाई, बेड के नीचे इस हाल में मिली देवर-भाभी की बॉडी

लखनऊ कृष्णा नगर के प्रेम नगर स्थित किराए के रूम में गुरुवार को रेलवे कर्मी और उसकी भाभी शव रहस्यमय हालत में मिला।

Danik Bhaskar | Nov 24, 2017, 01:08 AM IST
कृष्णा नगर के प्रेम नगर स्थित किराए के रूम में रेलवे कर्मी और उसकी भाभी शव रहस्यमय हालत में मिला। कृष्णा नगर के प्रेम नगर स्थित किराए के रूम में रेलवे कर्मी और उसकी भाभी शव रहस्यमय हालत में मिला।

लखनऊ. राजधानी कृष्णा नगर के प्रेम नगर स्थित किराए के रूम में गुरुवार को रेलवे कर्मी और उसकी भाभी का शव रहस्यमयी हालत में मिला। शव पूरी तरह जले हुए मिले। किसी ने उनकी चीख-पुकार भी नहीं सुनी। मकान मालिक ने कमरे से धुआं उठते देखा। दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे तो चारपाई के नीचे दोनों की लाशें जली पड़ी थी। कमरे से पेट्रोल की बदबू आ रही थी। हत्या और आत्महत्या की गुत्थी को सुलझाने फारेंसिक टीम लगी है। आगे पढ़िए पूरा मामला...


- शहर के हुसैनगंज (मकबूलगंज लाल कुआं) निवासी मृतक ओम प्रकाश (55) रेलवे में कारपेंटर के पद पर तैनात था। परिवार में पत्नी, 3 बेटे और एक बेटी है।
- मृतक के बेटे सुधांशू ने बताया, ''डेढ़ साल पहले हुए विवाद के चलते पिता कृष्णा नगर के प्रेम नगर इलाके में किराए के मकान में अलग रहते थे। लेकिन एक बार उन्हें हार्ट अटैक आया तो उन्हें वापस घर ले आए।''
-''गुरुवार सुबह 11 बजे पिता घर से निकले। आधे घंटे बाद बहन ने कॉल किया तो उन्होंने दोस्त के साथ चुनावी रैली में शामिल होने की बात बताई।''

भाभी ने ही दिलवाया था देवर को कमरा
- मृतक ओम के साथ जली मृतका मीना कश्यप (52) रिश्ते में भाभी लगती है। पुलिस के मुताबिक, ''मृतक ओम को इसी ने प्रेम नगर में किराए का रूम दिलवाया था।''

- किराए के रूम से मृतका मीना का घर कुछ ही दूरी पर है। इसके परिवार में पति, दो बेटे और दो बेटियां हैं। मृतका की बेटी रजनी की शादी 30 नवंबर को है। वो उसी का कार्ड बांटने घर से निकली थी।
- वहीं, मृतक ओम की बेटी ने बताया, ''मीना को वो लोग बड़ी मम्मी कहकर बुलाते थे। चचेरे रिश्तेदार होने के नाते परिवार से बोल-चाल नहीं थी। पिता और उनके संबंधों को लेकर परिवार में खींचा तानी भी चल रही थी।''
- ''पिछले कई सालों से दोनों परिवारों में कड़वाहट इतनी ज्यादा थी कि एक दूसरे के घर भी आना जाना बंद हो गया था।''

न चीख-न पुकार, जिंदा जले
- मकान मालिक आशा का कहना है, ''गुरुवार दोपहर करीब 2.45 बजे मीना उससे मिलने आई थी। ठीक आधे घंटे बाद रूम से काला धुआं उठने की जानकारी मिली।''
- ''रूम से किसी भी तरह की कोई चीख पुकार नहीं सुनाई दी। इसके बाद मोहल्ले के लोगों की मदद से दरवाजा तोड़कर अंदर घुसे। किसी तरह से आग बुझाई। चारपाई के नीचे देखा तो दोनों की जली डेडबॉडी पड़ी थी।''

हालात हत्या की तरफ कर रहे इशारा
- कमरे से पेट्रोल की भी बदबू आ रही थी। आशंका जताई जा रही है कि पेट्रोल डालकर आग लगाई गई होगी।
- रूम में किसी तरह का संघर्ष नहीं दिखा। अगर जिंदा जलते तो भागने के निशान या फिर चीखें निकलती, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।
- एसपी पूर्वी सर्वेश कुमार मिश्रा ने कहा, ''मामले की जांच की जा रही है। जल्द खुलासा होगा।''

दोनों के शव पुलिस को पूरी तरह जले हुए बरामद हुए। किसी ने उनकी चीख-पुकार भी नहीं सुनी। दोनों के शव पुलिस को पूरी तरह जले हुए बरामद हुए। किसी ने उनकी चीख-पुकार भी नहीं सुनी।
कमरे से पेट्रोल की भी बदबू आ रही थी। हत्या और आत्महत्या की गुत्थी को सुलझाने फारेंसिक टीम लगी हुई है। कमरे से पेट्रोल की भी बदबू आ रही थी। हत्या और आत्महत्या की गुत्थी को सुलझाने फारेंसिक टीम लगी हुई है।
दरवाजा तोड़ा अंदर घुसे तो चारपाई के नीचे दोनों की लाशें जली हुई पड़ी थी। दरवाजा तोड़ा अंदर घुसे तो चारपाई के नीचे दोनों की लाशें जली हुई पड़ी थी।
मृतक ओम प्रकाश (55) की फाइल फोटो । मृतक ओम प्रकाश (55) की फाइल फोटो ।