--Advertisement--

30 सालों से थाने में झाड़ू लगा रहा है ये शख्स, इसकी वेतन सुन हो जाएंगे हैरान

युवक ने 20 रुपए महीना से शुरू की थी नौकरी।

Dainik Bhaskar

Nov 21, 2017, 02:24 PM IST
थाने में सफाई करते महेंद्र बाल्मीकि। इन्हें महीने भर में केवल 600 रुपए मिलते हैं। थाने में सफाई करते महेंद्र बाल्मीकि। इन्हें महीने भर में केवल 600 रुपए मिलते हैं।

शाहजहांपुर. यूपी के शाहजहांपुर जिले में एक शख्स पिछले 30 साल से थाने में झाड़ू लगा रहा है, लेकिन बदले में उसको सैलरी के नाम पर सिर्फ 600 रुपए महीना मिलते हैं। वह इसी उम्मीद में सालों से यह काम कर रहा है कि एक दिन वह भी सरकारी कर्मचारी बन जाएगा। 20 रुपए से शुरू की थी नौकरी...

- शाहजहांपुर के सिधौली थाने में सफाई करने वाले महेंद्र बाल्मीकि कहते हैं कि पिछले 30 सालों के दौरान सेलरी 20 रुपए से बढ़कर केवल 600 रुपए तक पहुंची है। बढ़ती मंहगाई को देखते हुए इतने पैसों से परिवार चलाना मुश्किल हो रहा है।

- महेंद्र के परिवार में 8 सदस्य हैं। पत्नी की मौत हो चुकी है। उसके पास जमीन भी नहीं है। इस कारण उसे पूरा खर्च इस छोटी-सी पगार से ही चलाना पड़ता है। उसने यह भी बताया कि पहले सैलरी नकद मिलती थी। लेकिन अब स्टेट बैंक सिधौली में खाता खुल गया है। अब खाते में ही सैलरी आती है। उसको भी निकालने के लिए घंटों लाइन में खड़े रहना पड़ता है।

- महेंद्र कहते हैं कि शासन-प्रशासन भी हम पर ध्यान नहीं देता। हम तो इसी उम्मीद में यहां काम कर रहे हैं कि किसी न किसी दिन हमारी भी सरकारी नौकरी हो जाएगी।

क्या कहती है पुलिस?

- सिधौली के इंस्पेक्टर राजवीर ने बताया कि हम उसे 100 से 200 रुपए अलग से दे देते हैं। थाने के दारोगा उससे कुछ काम करवा लेते हैं, तो कुछ पैसे वे दे देते हैं। साथ ही थाने के कुछ कॉन्स्टेबल भी उसकी मदद कर देते हैं। इससे उसका घर खर्च चलता रहता होगा।
- उन्होंने बताया कि प्रदेश में जितने भी स्वीपर थाने की सफाई करते हैं, उन सभी को 600 रुपए ही पगार मिलती है। बस इंसानियत के नाते थाने के लोग उनकी मदद अलग से करते रहते हैं।

आगे की स्लाइड्स में देखिए रिलेटेड फोटोज...

महेंद्र बाल्मीकि ने 30 साल पहले ये काम शुरू किया था। महेंद्र बाल्मीकि ने 30 साल पहले ये काम शुरू किया था।
महेंद्र बाल्मीकि। महेंद्र बाल्मीकि।
X
थाने में सफाई करते महेंद्र बाल्मीकि। इन्हें महीने भर में केवल 600 रुपए मिलते हैं।थाने में सफाई करते महेंद्र बाल्मीकि। इन्हें महीने भर में केवल 600 रुपए मिलते हैं।
महेंद्र बाल्मीकि ने 30 साल पहले ये काम शुरू किया था।महेंद्र बाल्मीकि ने 30 साल पहले ये काम शुरू किया था।
महेंद्र बाल्मीकि।महेंद्र बाल्मीकि।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..