नोएडा

--Advertisement--

नोएडा: तेज रफ्तार कार नाले में गिरी, युवती की पानी में दम घुटने से हुई मौत

हादसे में मृत युवती की पहचान तान्या खन्ना के रूप में हुई। वह रेडियो मिर्ची में ग्रुप सेल्स मैनेजर पद पर कार्यरत थीं।

Dainik Bhaskar

May 02, 2018, 08:20 PM IST
girl died due to car felled in drain

नोएडा. मंगलवार देर रात नोएडा के सेक्टर-85 गोल चक्कर के पास तेज रफ्तार से आ रही एक कार टर्न लेते समय अनियंत्रित होकर नाले में गिर गई। जिससे कार में सवार युवती करीब 25 मिनट तक कार में फंसी रहीं। जिसकी वजह से नाले के पानी से दम घुटकर उसकी मौत हो गई। हादसे में मृत युवती की पहचान तान्या खन्ना (28) के रूप में हुई। वह रेडियो मिर्ची में ग्रुप सेल्स मैनेजर पद पर कार्यरत थीं।

दोस्तों के साथ निकली थी तान्या

-एसपी सिटी अरुण कुमार ने बताया कि तान्या खन्ना गाजियाबाद के कविनगर में रहती थी। वह नोएडा फिल्मसिटी स्थित रेडियो मिर्ची में पिछले कई साल से कार्यरत थीं। मंगलवार देर रात करीब 1 बजे वह अपनी वर्ना कार से घर के लिए निकली थीं।

-रास्ते में उनके एक दोस्त दूसरी कार से थे। इसलिए पहले गाजियाबाद जाने के बजाय दोस्त के पीछे-पीछे सेक्टर-137 स्थित ईको सिटी अपने दुसरे घर ग्रेटर नोएडा की तरफ जा रही थी।

बीच में भटक गयी रास्ता
-पुलिस ने बताया कि दोनों अट्टा से होते अलग-अलग कार से सेक्टर-137 की तरफ आ रहे थे। एक्सप्रेस-वे की सर्विस लेन से आते समय वह अपनी कार से सोसायटी तक पहुंच गए लेकिन सेक्टर-137 के कट से तान्या रास्ता भटक गयी। सोसायटी के पास जब वह नहीं पहुंची तो उसके दोस्त तलाश करते हुए सेक्टर-85 गोलचक्कर तक पहुंचे तो देखा कि वहां पुलिस पहले से मौजूद है और नाले में फंसी कार को निकालने की कोशिश में जुटी है।

समय से कार से नहीं निकल पाई तान्या
-जिस जगह यह हादसा हुआ वहीं पर ओम साईं नर्सरी है। नर्सरी चलाने वाले बसंत ने बताया कि वह बच्चे के साथ वहीं पर सो रहे थे। मंगलवार रात करीब डेढ़ बजे तेज रफ्तार से आ रही कार अनियंत्रित होने के बाद ब्रेक लगाते समय आवाज हुई तब देखा कि नाले पर बनाए लकड़ी के पुल को तोड़ते हुए एक कार पूरी तरह से पहले पलट गई। इसके बाद करीब 8 फुट चौड़े और 9 फुट गहरे नाले में गिर गई।
-नाले में गिरते ही कार का फ्रंट शीशा टूट गया जिससे कार में प्रेशर के साथ पानी घुस गया। इससे कार चला रही युवती बचने के लिए पीछे की सीट की तरफ पहुंची। मगर पीछे वाला शीशा टूटा नहीं और कार उलटी होकर नाले के दोनों तरफ से फंस जाने की वजह से उसमे पानी भर गया. बाहर से भी तुरंत कोई मदद नहीं मिल पायी।

क्रेन से कार को बाहर निकाला, तब तक हो चुकी थी मौत

-बसंत ने बताया कि क्रेन और फायरब्रिगेड को बुलाने में 15 मिनट से ज्यादा का समय लग गया। इसके बाद नाले से कार को बाहर निकालने में भी करीब 5-10 मिनट लगे। इस तरह हादसे के 25 मिनट बाद जब युवती को बाहर निकाला गया और नजदीकी यथार्थ अस्पताल में ले गए तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।

girl died due to car felled in drain
X
girl died due to car felled in drain
girl died due to car felled in drain
Click to listen..