--Advertisement--

दिवाली के अगले जब घर से कोई नहीं निकला तो लोगों ने तोड़ा दरवाजा, सामने पड़ी थी बुजुर्ग दंपत्ति की लाश, पड़ोसियों ने बताया- हर दिन रोता था दंपति

इस वजह से हर दिन 80 वर्षीय बुजुर्ग दंपति भगवान से मांगता था मौत की दुआ

Dainik Bhaskar

Nov 09, 2018, 05:41 PM IST

शाहजहांपुर (यूपी)। जिले के औरंगाबाद गांव में एक बुजुर्ग दंपत्ति ने जहर खाकर खुदकुशी कर ली। दीपावली के अगले ही दिन दोनों ने कमरे में खुद को बंद करके जहरीला पदार्थ खा लिया। जब दोनों घर से बाहर नहीं निकले तो आसपास के लोगों ने दरवाजा खटखटाया लेकिन कोई अवाज सुनाई नहीं दी। फिर लोगों ने दरवाजा तोड़ दिया दोनों की लाश कमरे में अंदर पड़ी हुई थी। लोगों ने पुलिस को सूचना दी जिसके बाद शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।

80 वर्षीय जागीर सिंह और उनकी पत्नी सुरेंद्र कौर अकेले रहते थे। लोगों ने बताया कि दंपत्ति का एक बेटा था। जिसकी लंबे वक्त तक बीमार रहने के कारण मौत हो गई। बच्चे की मौत के बाद दोनों अकेले पड़ गए। दोनों का कोई रिश्तेदार भी नहीं था। बेटे के शोक में दोनों रोज भगवान से मौत की दुआ मांगते, और बैठे-बैठे रोते रहते थे। दीपावली के दिन भी मौत की दुआ करते रहे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended