Hindi News »Uttar Pradesh »Sitapur» Emotinal Story Of Dalit Women In Sitapur

अपहरण कर दलित लड़की से किया गैंगरेप फिर मुंबई में बेच दिया; 8 महीने पहले दर्ज हुआ था मुकदमा, अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी

यह आरोप इलाके के ही 3 मुस्लिम लड़कों पर लगाया है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - May 02, 2018, 03:06 PM IST

अपहरण कर दलित लड़की से किया गैंगरेप फिर मुंबई में बेच दिया; 8 महीने पहले दर्ज हुआ था मुकदमा, अब तक नहीं हुई गिरफ्तारी

सीतापुर. यहां एक दलित बुजुर्ग माँ ने आरोप लगाया है कि उसकी 17 साल की नाबालिक लड़की का अपहरण कर उसको कई दिनों तक बंधक बनाकर उसके साथ गैंगरेप किया गया। फिर उसे मुंबई ले जाकर बेच दिया गया। यह आरोप इलाके के ही 3 मुस्लिम लड़कों पर लगाया है।

8 महीने हो गए घटना के लड़की का कोई पता नहीं

-इस घटना को 8 महीने हो गए। केस भी दर्ज हुआ लेकिन कोई कार्यवाई नहीं हुई। आरोपी आज भी खुलेआम घूम रहे है। धमका रहे है। पीडित बुजर्ग माँ का आरोप है कि लखनऊ में सीएम योगी आदित्यनाथ के दरबार भी गए, मिले भी, लेकिन कोई कार्यवाई पुलिस ने नहीं की।
-बुजर्ग पीड़ित महिला बताती हैं कि उन्हें बीजेपी सरकार के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का नम्बर भी दिया गया, पीड़ित महिला का कहना है की केशव मौर्य ने इस मामले को गंभीरता से देखने को भी कहा लेकिन ऐसा नहीं हुआ। -पीड़ित बुजर्ग का कहना है की केशव प्रसाद मौर्य को कई बार फ़ोन किया, बात भी हुई, लेकिन कोई कार्यवाई नहीं हुई। अब वो सुसाइड की बात कह रही है।

मुकदमा दर्ज हुआ लेकिन गिरफ़्तारी नहीं हुई

-मामला तूल न पकड़े इसके लिए पुलिस ने आरोपी लड़कों पर धारा 504, 354, 342, 364, 376D में केस भी दर्ज किया। पुलिस ने 3 नवम्बर 2017 को एफआईआर में सभी तीनो आरोपियों पर 364 यानि अपहरण, 376D यानी गैंगरेप की सनसनीखेज़ धाराओं में मामले को दर्ज किया।
-लेकिन अभी तक इस मामले में लड़की की बरामदगी के नाम पर लड़कों से पूछताछ तक नहीं की गयी। न ही उन्हें कभी थाने बुलवाया गया। यही वजह है की पीड़ित बुज़ुर्ग महिला को आरोपी लगातार केस वापस लेने के लिए धमकाते है।
-बुजुर्ग महिला का कहना है कि लड़की को मुंबई में रिजवान नाम के शख्स को बेच दिया गया है।

अधिकारीयों के चक्कर लगाये लेकिन नहीं हुई कार्यवाई

-सीएम से मिलने के बाद पीड़ित महिला थाना रामपुरमथुरा, सीतापुर पुलिस अधीक्षक आनद कुलकर्णी, सीओ महमूदाबाद जावेद अहमद के दफ्तर के चक्कर लगा रही है। लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। आरोप है कि अब तो उसे वहा से भगा भी दिया जाता है।

क्या कहते हैं अधिकारी

-इस मामले की विवेचना सीओ महमूदाबाद के पास है। फोन पर थाना प्रभारी मामले में बात तो करते हैं लेकिन कैमरे पर कोई भी अधिकारी बयान देने को तैयार नहीं है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sitapur

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×