सुलतानपुर

--Advertisement--

जिसे 46 पहले मरा जानकर पत्नी ने सिंदूर पौंछ दिया, वो अचानक लौट आया

95 साल के इस बुजुर्ग के वापस लौटने पर घरवाले इतने खुश हुए कि, उसकी दुबारा बारात निकाल दी।

Dainik Bhaskar

Mar 07, 2018, 12:39 PM IST
अपनी पत्नी के साथ 46 साल बाद घर ल अपनी पत्नी के साथ 46 साल बाद घर ल

सुल्तानपुर(यूपी)। जिस आदमी को 46 साल पहले मरा हुआ जानकर प्रतीकात्मक रूप से उसका अंतिम संस्कार कर दिया, वो अचानक लौट आया। 95 साल के इस बुजुर्ग के वापस लौटने पर घरवाले इतने खुश हुए कि, उसकी दुबारा बारात निकाल दी। मामला जिले से 70 किलोमीटर दूर कादीपुर कोतवाली अंतर्गत तवक्कलपुर नगरा गांव का है। जानें पूरा मामला...

-वापस लौटे जस्सू के बड़े बेटे रामचेत के अनुसार, उनके पिता का मानसिक संतुलन ठीक नहीं है। अक्सर वो कई-कई दिनों तक घर से लापता हो जाते थे।1972 में जब वो लापता हुए, तो फिर ढूंढे नहीं मिले।
-रामचेत बताते हैं कि पिता को ढूंढ़ निकालने के लिए वे तांत्रिकों के पास तक गए।
-क़रीब 15 वर्ष पूर्व जब उनके बड़े पिता बंसू बिन्द मौत हुई, तब उन्होंने जस्सू को भी मरा जानकर उनका पिंडदान कर दिया।
-इसके बाद पत्नी प्रतापी ने मांग से सिंदूर पोंछ दिया और विधवा जीवन जीने लगी।
-46 साल बाद अचानक होली की रात जस्सू के जिंदा होने की खबर मिली।
-ग्राम प्रधान महेंद्र वर्मा को कोतवाली कादीपुर से सूचना दी गई कि जस्सू जिंदा है। वो महाराष्ट्र के नागपुर में एक हास्पिटल में है।
-नागपुर से जस्सू को लेकर परिजन गांव पहुंचे। वहां उन्हें घोड़े पर बैठाया गया और बैंडबाजों के साथ बारात निकाली गई।

-समाज सेवा अधीक्षक अनघा राजे मोहरिल ने dainikbhaskar.com को बताया कि बात 1985 की है, जब सड़क किनारे पड़े जस्सू पर उनकी नजर पड़ी। वे उन्हें उठाकर अस्पताल ले गईं और उनका ट्रीटमेंट शुरू कराया। डॉ. फारुकी और डॉ. प्रवीण नक्खरे ने जस्सू का ट्रीटमेंट किया।
-मोहरिल के मुताबिक, जस्सू सिर्फ इतना बता पा रहा था कि वो सुल्तानपुर का है। जैसे-तैसे उनका पता ढूंढा गया।

X
अपनी पत्नी के साथ 46 साल बाद घर लअपनी पत्नी के साथ 46 साल बाद घर ल
Click to listen..