--Advertisement--

वाइफ की संदिग्ध मौत, बहन बोली- आख‍िरी वक्त में कराह रही थी वो

मायकेवालों ने दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाते हुए थाने में पति और दो नन्दों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है।

Danik Bhaskar | Nov 16, 2017, 06:26 PM IST

इलाहाबाद. कर्नलगंज थाना क्षेत्र के रहने वाले सिंचाई विभाग के कर्मचारी जीतेंद्र कुमार सोनकर की पत्नी रीना (35) की मंगलवार रात संदिग्ध हालात में मौत हो गई थी। मायकेवालों ने दहेज के लिए हत्या का आरोप लगाते हुए थाने में पति और दो नन्दों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। पुलिस ने बुधवार शाम शव को पोस्टमॉर्टम हाउस भेज दिया। गुरुवार को दोपहर 2 बजे पोस्टमॉर्टम किया गया।

5 साल पहले 6 फरवरी 2012 को हुई थी शादी
- अल्लापुर थाना क्षेत्र के रहने वाली मालती देवी ने अपनी चार बेटियों में छोटी रीना की शादी करीब पांच साल पहले 6 फरवरी 2012 को कर्नलगंज थाना क्षेत्र में रहने वाले जीतेंद्र सोनकर से की थी।
- जि‍तेंद्र गोविंदपुर कॉलोनी स्थित सिंचाई विभाग के कार्यालय में बतौर क्लर्क कार्यरत हैं। रीना को अभी कोई संतान नहीं थी। मंगलवार रात करीब आठ बजे उसने अपनी बहन सुनीता से फोन पर बात की।
- इसके बाद रात साढ़े नौ बजे मायकेवालों को सूचना मिली कि रीना की मौत हो गई है। खबर पाकर मायके से मां मालती और बहन-भाई समेत कई रिश्तेदार उसके ससुराल पहुंच गए। शव घर पर रखा था।
- पति जि‍तेंद्र ने कहा- रीना की तबीयत अचानक खराब हो गई थी। वो उसे लेकर पहले एक हॉस्पिटल जाने लगे, रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।

पति बोला- टीवी हो गई थी उसको
- मायके वालों की सूचना पर पुलिस भी घर पहुंच गई। उनका आरोप है- दहेज में लाखों रुपए की मांग नहीं पूरी होने की वजह से ससुरालवालों ने रीना को मार डाला। पीटने की वजह से उसके मुंह से खून बाहर आया है।
- इधर पति के मुताबिक, रीना टीबी की मरीज थी और लंबे समय से उसका इलाज चल रहा था। उसका हीमोग्लोबिन स्तर तीन पर पहुंच गया था। रीना पर किसी ने हाथ नहीं उठाया। बीमारी की वजह से उसकी अचानक मौत हो गई।

रीना को होने लगी थी खून की उल्टी
- मृतका के देवर कुंवर प्रशांत सिंह ने बताया, ''शादी के पहले से ही रीना टीवी के पेशेंट थी। उनकी दवा लगातार चल रही थी।''
- पति ने कहा- ''शादी के कुछ महीने बाद ही मुझे पता चला कि रीना को टीवी है। 18 जून 2012 से इलाज करवा रहे थे। 9 महीने तक मैंने इलाज करवाया। उसक बाद डॉक्टर ने कहा कि वो अब ठीक है।''
- ''16 जनवरी 2017 से इनको फिर से परेशानी होने लगी, तब हमने डॉक्टर डीएन केसरवानी से इलाज करवाना शुरू किया। 14 तारीख को दोपहर 1:30 बजे से 2:00 के बीच में रीना को खून की उल्टी आई। हम लोग डॉक्टर के पास लेकर भागे और डॉक्टर ने दवा दी।
- ''हम लोगों कुछ आराम दिखा। फिर रीना ने अपने मायके फोन लगाकर अपनी बहन और मां से बात भी की। करीब 9:30 बजे फिर इन्हें खून की उल्टी शुरू होने पर हम लोग अलग-अलग 3 हॉस्पिटल्स में गए। लेकिन किसी ने एडमिट नहीं लिया। इसी दौरान उनकी मौत हो गई।''

फोन पर आ रही थी कराहने की आवाज
- मृतिका रीना की बहन अनीता सोनकर ने ससुराल वालों पर दहेज के लिए हत्या करने की बात कही। उन्होंने बताया, ''रीना को उसकी ननद सीता और गीता, देवर बोस, ससुर बोदी सिंह और पति जितेंद्र सिंह दहेज के लिए मारते-पीटते थे।''
- ''कभी एक लाख लाओ-कभी 50 हजार लाओ। इस तरह से टॉर्चर किया करते थे। अपनी बात मायके आकर वो बता ना पाए, इसलिए कभी मायके भी नहीं भेजते थे।''
- ''मरने से पहले आखिरी फोन हमारी बहन सुनीता के पास किया था, लेकिन फोन पर सिर्फ कराहने की आवाज ही सुनाई पड़ रही थी।''

क्या कहती है पुलिस?
- सीओ कर्नलगंज आलोक मिश्र ने बताया, मृतका के मायके वालों ने पति और दो बहनों के खिलाफ दहेज हत्या का केस लिखाया गया है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद सही कारणों का पता चल पाएगा।