--Advertisement--

बीमारी की वजह से 6 Yr बेड पर रही ये एथलीट, फ‍िर भी IND को दिए 24 गोल्ड

बनारस की रहने वाली एथलीट नीलू मिश्रा अब तक भारत को 24 से ज्यादा गोल्ड मेडल जीतकर दे चुकी हैं।

Dainik Bhaskar

Dec 27, 2017, 02:22 PM IST
एथलीट नीलू की उम्र 45 साल है और उनका 20 साल का एक बेटा भी है। एथलीट नीलू की उम्र 45 साल है और उनका 20 साल का एक बेटा भी है।

वाराणसी. बनारस की रहने वाली एथलीट नीलू मिश्रा अब तक भारत को 24 से ज्यादा गोल्ड मेडल जीतकर दे चुकी हैं। नीलू की उम्र 45 साल है और उनका 20 साल का एक बेटा भी है। बता दें, बीमारी की वजह से वह 6 साल तक बेड पर रही थीं। इसके बाद भी उन्होंने उम्मीद नहीं छोड़ी और मेहनत और लगन से ये मुकाम हासिल किया। यही नहीं 23 जुलाई 2017 को बेंगलूरु के चेयरमैन क्लब में मास्टर्स एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया द्वारा आयोजित एशिया मास्टर्स एथलेटिक्स डे पर आयोजित ब्यूटी कांटेस्ट में ब्यूटी क्वीन का खिताब भी जीता। DainikBhaskar.com उनके इस अचीवमेंट की कहानी बता रहा है।

बीमारी की वजह से बेड पर रहीं 6 साल

- नीलू के मुताबिक, 2002 में किडनी फेल और हार्ट की बीमारी की वजह से 6 साल तक बेड पर रहीं। 85 किलो वेट हो गया था। इस दौरान मिसकैरेज से काफी ब्लीडिंग को झेलना पड़ा था।
- हिम्मत नहीं हारी और कुछ दिनों बाद डॉक्टर की सलाह पर 2008 में ट्रैक पर टहलना फिर दौड़ना शुरू किया।
- मन में यही था अपने को फिर से ब्यूटी बनाना है। 2009 में हरियाणा में नेशनल खेला और गोल्ड हासि‍ल किया।
- अब तक 49 नेशनल और इंटरनेशनल मेडल जीत चुकीं 45 साल की नीलू ने देश भर की 22 कंटेस्टेंट को पीछे छोड़ते हुए यह उपलब्धि हासिल की है।
- ऑस्ट्रेलिया से आए वर्ल्ड मास्टर्स एथलेटिक्स फेडरेशन के अध्यक्ष Stan stern ने नीलू को ट्रॉफी देकर सम्मानित कि‍या।
- इस कॉम्पटीशन का मकसद था कि मास्टर्स महिला खिलाड़ी अपने खेल के साथ-साथ अपने फिटनेस और ब्यूटी पर भी ध्यान दें। समाज को यह संदेश दें कि किसी भी उम्र में फिट और सुंदर रहा जा सकता है।

नीलू ने ये जीते ये मेडल्स


2009 में पहली बार फिनलैंड में मास्टर एथलीट चैम्पियनशिप में ब्रांज मेडल जीता।
2010 में बैंकाक ओपन मास्टर एथलीट चैम्पियनशि‍प में गोल्ड।
2010 चेन्नई एशियन टूर्नामेंट में 3 गोल्ड।
2010 मलेशिया- मास्टर्स एथलेटिक्स में 4 गोल्ड और ब्रांज मेडल।
2011 मलेशिया में 4 गोल्ड एक सिल्वर मेडल।
2011 चंडीगढ़ में 3 गोल्ड और एक सिल्वर।
2012 बैंगलौर- एशियन ओपन चैम्पियनशिप में 1 गोल्ड ओर 2 गोल्ड।
2012 थाईलैंड में मास्टर एथलीट चैम्पियनशिप में 5 गोल्ड।
2012 चीन में ओपन मास्टर एथलीट चैम्पियनशिप में 2 गोल्ड।
2014 मलेशिया में मास्टर एथलीट चैम्पियनशिप में 2 गोल्ड 4 स‍िल्वर।

2014 जापान में मास्टर एथलीट चैम्पियनशिप में 4 स‍िल्वर।
2016 सिंगापुर मास्टर एथलीट चैम्पियनशिप में 1 स‍िल्वर और एक ब्रांज।
इसके अलावा 300 से ज्यादा मेडल लोकल और स्टेट और ड‍िस्ट्रि‍क लेवल पर है।

ये 9 रूल्स फॉलो करती हैं नीलू


1. जिंदगी में खुश रहने की कला आना चाहिए। जब सोच को हेल्दी होगी तो स्किन अपने आप ग्लो करती रहेगी।
2. फि‍ट रहने के लिए डेली 45 मिनट का वर्क आऊट जरुरी है। बॉडी से पसीना निकलना चाहिए।
3. दि‍न भर में 5 से 6 लीटर पानी पीना चाहिए।
4. घरेलू महिला हो या कामकाजी, टाइम मैनेजमेंट होना जरुरी होता है। रूटीन चार्ट बनाकर फॉलो करना चाहिए।
5. सोच को क्रिएटिव किचन से लेकर बाहर तक रखना चाहिए। अक्सर निगेटिव मोड़ आने पर हताशा के बजाए लड़ने और रास्ता खोजने की कोशि‍श करनी चाहि‍ए।
6. पाइनेपल और नारियल का जूस पीना चाहिए ताकि स्किन का ग्लो बना रहे। इससे वेट कंट्रोल होता है।
7. 40 साल के बाद हर तीन महीने पर रूटीन चेकअप कराते रहना चाहिए। अक्सर इस पड़ाव पर पीरियड प्रॉब्लम होती है। कंसल्ट कर अपने बारे में जानना चाहिए। पीरियड होना न होना पॉजिटिव लेकर चलना चाहिए। मेजिटेशन करना चाहिए।
8. इस उम्र में बच्चों के साथ टाइम स्पेंड करना चाहिए, लगेगा बचपन खत्म नहीं हुआ।
9. फिटनेस के लिए अंदर की ब्यूटी सबसे जरुरी है, जिसके लिए परिवार को समझना और हेल्दी डाइट लेना चाहिए।

2002 में किडनी फेल और हार्ट की बीमारी की वजह से 6 साल तक बेड पर रहीं नीलू। 2002 में किडनी फेल और हार्ट की बीमारी की वजह से 6 साल तक बेड पर रहीं नीलू।
बीमारी की वजह से 2003 में नीलू का वेट 86 किलो हो गया था। बीमारी की वजह से 2003 में नीलू का वेट 86 किलो हो गया था।
हिम्मत नहीं हारी और कुछ दिनों बाद डॉक्टर की सलाह पर 2008 में ट्रैक पर टहलना फिर दौड़ना शुरू किया। हिम्मत नहीं हारी और कुछ दिनों बाद डॉक्टर की सलाह पर 2008 में ट्रैक पर टहलना फिर दौड़ना शुरू किया।
2009 में हरियाणा में नेशनल खेला और गोल्ड हासि‍ल किया। 2009 में हरियाणा में नेशनल खेला और गोल्ड हासि‍ल किया।
अब तक 49 नेशनल और इंटरनेशनल मेडल जीत चुकी हैं नीलू। अब तक 49 नेशनल और इंटरनेशनल मेडल जीत चुकी हैं नीलू।
X
एथलीट नीलू की उम्र 45 साल है और उनका 20 साल का एक बेटा भी है।एथलीट नीलू की उम्र 45 साल है और उनका 20 साल का एक बेटा भी है।
2002 में किडनी फेल और हार्ट की बीमारी की वजह से 6 साल तक बेड पर रहीं नीलू।2002 में किडनी फेल और हार्ट की बीमारी की वजह से 6 साल तक बेड पर रहीं नीलू।
बीमारी की वजह से 2003 में नीलू का वेट 86 किलो हो गया था।बीमारी की वजह से 2003 में नीलू का वेट 86 किलो हो गया था।
हिम्मत नहीं हारी और कुछ दिनों बाद डॉक्टर की सलाह पर 2008 में ट्रैक पर टहलना फिर दौड़ना शुरू किया।हिम्मत नहीं हारी और कुछ दिनों बाद डॉक्टर की सलाह पर 2008 में ट्रैक पर टहलना फिर दौड़ना शुरू किया।
2009 में हरियाणा में नेशनल खेला और गोल्ड हासि‍ल किया।2009 में हरियाणा में नेशनल खेला और गोल्ड हासि‍ल किया।
अब तक 49 नेशनल और इंटरनेशनल मेडल जीत चुकी हैं नीलू।अब तक 49 नेशनल और इंटरनेशनल मेडल जीत चुकी हैं नीलू।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..