--Advertisement--

तीन रूप में हुआ बटुक भैरव का श्रृंगार, इंग्लिश वाइन-मटन करी का लगा भोग

वाराणसी. महादेव के बाल रूप बटुक भैरव मंदिर में त्रिगुणात्मक श्रृंगार हुआ।

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 11:43 AM IST
batuk bhairav mandir aarti in varanasi

वाराणसी. महादेव के बाल रूप बटुक भैरव मंदिर में त्रिगुणात्मक श्रृंगार हुआ। बाबा यहां सात्विक, राजसी और तामसी तीनों रूपो में विराजते हैं। शरद ऋतु के विशेष दिन में बाबा का त्रिगुणात्मक श्रृंगार किया जाता। मंदिर को तंत्र साधना के लिए भी जाना जाता है। तीन घंटे से ज्यादा समय तक महारूद्र यज्ञ होता है, जिसमे पंचमेवा, साकला, देशी घी के साथ मदिरा अर्पित किया जाता है।

- महंत जीतेन्द्र मोहन पुरी ने बताया, ''सुबह बाल बटुक को जूस, टॉफी, बिस्कुट, फल का भोग लगाया जाता है।
- दोपहर को राजसी रूप में चावल-दाल, रोटी-सब्जी का भोग लगाया जाता है।
- शाम को बाबा की महाआरती के बाद भैरव को मटन करी, फिश करी, अंडा के साथ मदिरा का भोग लगाया जाता है। इतना ही नहीं बाबा को प्रसन्न करने के लिए 100 बोतल से ज्यादा शराब से खप्पड़ भी भरा जाता है।
- दर्शन मात्र से दैहिक, दैविक और भौतिक कष्टों से मुक्ति मिल जाती है। नव ग्रह दोष से छुटकारे के लिए बाबा का दर्शन जरूर करना चाहिए।

batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
X
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
batuk bhairav mandir aarti in varanasi
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..