--Advertisement--

कमोड लेकर प्रपोज करने पहुंचे दूल्हे, दुल्हन का था ऐसा रिएक्शन

वाराणसी. बीएचयू कैंपस के सड़कों पर ट्रैक्टर पर सवार एक दुल्हन को दो दूल्हे अनोखे अंदाज में प्रपोज करते दिखे।

Dainik Bhaskar

Jan 22, 2018, 03:15 PM IST
बीएचयू के 102वें स्थापना दिवस पर बीएचयू के 102वें स्थापना दिवस पर

वाराणसी. बीएचयू का 102वां स्थापना दिवस सोमवार को मनाया गया। फैकल्टी, स्टूडेंट्स लेकर कर्मचारियों ने भी झांकी न‍िकाली। छात्रों की एक झांकी में ट्रैक्टर पर सवार दुल्हन को दो दूल्हे अनोखे अंदाज में प्रपोज करते दिखे। एक दूल्हा हाथ में टॉयलेट लिए था तो दूसरा गुलाब का फूल। दुल्हन टॉयलेट गिफ्ट देने वाले को ही पसंद करती है और उसी से शादी करती है। बीएचयू आईआईटी के डीन प्रो. वीएन राय ने बताया, ''शताब्दी वर्ष पूरा हो चुका है, थीम बेस्ट झाकियां हैं, जो बीएचयू के 100 उपलब्धियों के साथ भारत की जरूरत, ग्रीन टेक्नोलॉजी पर रखा गया है।''

पारंपरिक परिधानों में जमकर थि‍रके छात्र-छात्राएं

- बीएचयू ने अपने 102वें स्थापना दिवस पर दो दर्जन से ज्यादा झाकियां निकाली।

- पारंपरिक परिधान में सजे छात्र-छात्राएं और कर्मचारियों ने पूरे धूमधाम से स्थापना दिवस मनाया।

- मां सरस्वती की अराधना की गई वहीं, माता की झांकी निकाली गई।

- सभी ने बीएचयू संस्थापक भारतरत्न पं. मदनमोहन मालवीय जी को नमन कर उनके पदचिन्हों पर चलते हुए उनके सपनों को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया।

दुल्हन बनी छात्रा ने बताई ये बात


- दीपिका ने बताया, ''दो दूल्हे हैं, जो मुझे शादी के लिए प्रपोज करने स्टेज पर पहुंचे। मैं गांव की सीधी-साधी लड़की का रोल प्ले कर रही हूं। मुझे जो दूल्हा टॉयलेट गिफ्ट कर रहा है, वही पसंद है।

- आईएमएस द्वारा निकाली गई झांकी में चलता-फिरता ऑपरेशन थियेटर दर्शाया गया।

- वहीं, फैकल्टी ऑफ एनिमल साइंस की झांकी में मुर्गे की तरह दिखने वाला टर्की बर्ड आकर्षण का केंद्र रहा। 4 महीने में इसका वजन 10 किलो का होता है। एक साल में मादा टर्की 100 अंडे देती है। उम्र के तीसवें सप्ताह में रंगीन अंडे देती है। मैक्सिको में इसकी डिमांड बहुत है।

X
बीएचयू के 102वें स्थापना दिवस परबीएचयू के 102वें स्थापना दिवस पर
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..