--Advertisement--

धोती-कुर्ता में क्रिकेट खेलते दिखे प्लेयर, कुछ यूं हो रही थी मैच की कमेंट्री

स्टूडेंट्स धोती-कुर्ता पहन कर क्रिकेट मैच खेलते नजर आए।

Danik Bhaskar | Jan 24, 2018, 05:08 PM IST
स्टूडेंट्स धोती-कुर्ता पहन कर मैच खेलते नजर आए। स्टूडेंट्स धोती-कुर्ता पहन कर मैच खेलते नजर आए।

वाराणसी. यहां शास्त्रार्थ महाविद्यालय के 74 वें स्थापना दिवस पर बड़े ही अनोखे अंदाज में क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया। इस दौरान स्टूडेंट्स धोती-कुर्ता पहन कर मैच खेलते नजर आए। एक टीम सफेद धोती पहनकर खेल रही थी तो दूसरी पीली। वहीं, अंपायर भी इसी परिधान में रुद्राक्ष की माला पहने डिसीजन देते दिखे। साथ ही, मैच की पूरी कमेंट्री भी संस्कृत में हो रही थी। अलग अंदाज में लग रहे थे चौके-छक्के...

- सम्पूर्णानद संस्कृत यूनिवर्सिटी के ग्राउंड में बुधवार को 8-8 ओवर के क्रिकेट मैच का आयोजन किया गया।
- आयोजक पवन कुमार शुक्ला ने बताया कि समाज को बताने का मकसद है कि वेद पढ़ने वाले बच्चे किसी से भी कम नहीं है। वो केवल कर्मकांड और पूजा कराने तक सिमित नहीं है बल्कि टिका-चंदन लगाकर ग्राउंड में छक्के-चौके भी जड़ सकते हैं। वहीं, मैच के अंत में विजेता टीम को सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा, मैन ऑफ द मैच का इनाम भी दिया जाएगा।
- अंपायर ओमजी पांडेय ने बताया कि विद्यालय में रहते हुए उत्साह के लिए इसका आयोजन किया गया है। भारत के कोने कोने से बच्चे जनेऊ धारण करके यहां पढ़ने आते हैं। मैच को दौरान दोनों टीमों को ड्रेस कोड दिया गया है।
- वहीं, स्टूडेंट राकेश पांडेय ने बताया कि अक्सर हमसे समाज के अन्य लोग पूछते है कि आप लोगों की स्पोर्ट्स में रूचि नहीं है क्या। मैंने उन्हें बताना चाहता हूं ऐसा बिल्कुल नहीं है, वेदपाठ और संस्कृत पढ़ने वाले छात्र किसी से कम नहीं है। धोती पहनकर दौड़ लगाना अपने आप में रोचक होता है।
- लम्बी चुर्की देखकर दूसरे बच्चे अंदाजा लगा लेते है कि हम उनके जैसे नहीं है। हमारा पारंपरिक परिधान ड्रेस कोड धोती-कुर्ता और त्रिपुण्ड होता है। हम वैवाहरिक जीवन में यही पहनते है, हमें इसे पहनकर खेलने में काफी मजा आ रहा है।

क्रिकेट मैच की कमेंट्री भी संस्कृत में की गई। क्रिकेट मैच की कमेंट्री भी संस्कृत में की गई।
यहां आए सभी लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा। यहां आए सभी लोगों के लिए आकर्षण का केंद्र रहा।
एक टीम सफेद धोती पहनकर खेल रही थी तो दूसरी पीली। एक टीम सफेद धोती पहनकर खेल रही थी तो दूसरी पीली।