विज्ञापन

वाराणसी : रेलवे गोदाम में देर रात लगी भीषण आग, लाखों का सामान जलकर खाक

Dainik Bhaskar

Feb 07, 2018, 09:30 AM IST

आग किस कारण से लगी है फिलहाल इसकी जांच की जा रही है।

आग लगने का कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है। आग लगने का कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है।
  • comment

वाराणसी. जैतपुरा थाना क्षेत्र के अलईपुर स्थित रेलवे माल गोदाम में मंगलवार देर रात करीब 1 बजे भीषण आग लग गई। आग इतनी विकराल थी की उसे काबू करने के लिए आधा दर्जन से ज्यादा फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को करीब 5 घंटे की कड़ी मशक्त करनी पड़ी। आग किस कारण से लगी फिलहाल इसका पता नहीं लगाया जा सका है। रेलवे अधिकारी मामले में कुछ भी बोलने से बच रहे हैं। बताया जा रहा है कि आग लगने के कारण लाखों का नुकसान हुआ है फिलहाल कितने का नुकसान हुआ है इसकी पुष्टि अभी नहीं की गई है।

-वाराणसी सिटी स्टेशन अलईपुर से कुछ आगे रेलवे का माल गोदाम है। यहां पर रेलवे के जरिए आने वाले सामानों के पार्सल को रखने का काम होता है। अधिकारिक सूत्रों की माने तो माल गोदाम में बिजली के तारों के बंडल और प्लास्टिक के पाइप बड़ी संख्या में मौजूद थे। इसी दौरान देर रात यहां भीषण आग लग गई। जब तक लोग आग पर काबू पाते हैं तब तक आपने इतना विकराल रुप ले लिया था कि आस-पास के 100 मीटर के दायरे में लगे पेड़ भी इसकी चपेट में आ गए।

-आग की विकरालता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि करीब एक किलोमीटर दूर तक आग की लपटें दिखाई दे रहीं थी।


मौके पर पहुंचे अधिकारी


-आग लगने की सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस और फायर ब्रिगेड की गाड़ियों ने आप को काबू में करने का प्रयास किया। आग इतनी बड़ी थी कि चेतगंज और भेलूपुर फायर स्टेशन के अलावा कोतवाली फायर स्टेशन से कुल सात फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को मौके पर लगाया गया।


क्या कहना है एसओ का ?

-एसओ जैतपुरा ने बताया कि आसपास झुग्गी झोपड़ी वाले रहते हैं। संभव है ली कुछ जलती चीज यहां फेक दी गई हो जिससे आग लगी। फिलहाल जांच के बाद ही कुछ साफ होगा कि आग किस कारण से लगी है।

आग लगने से रेलवे को लाखों का नुकसान हुआ है। आग लगने से रेलवे को लाखों का नुकसान हुआ है।
  • comment
X
आग लगने का कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है।आग लगने का कारणों का अभी खुलासा नहीं हो सका है।
आग लगने से रेलवे को लाखों का नुकसान हुआ है।आग लगने से रेलवे को लाखों का नुकसान हुआ है।
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें