--Advertisement--

अगर कार के अंदर छूट जाए चाभी, ये डि‍वाइस-ऐप आएगी काम

कानपुर के एक कपल ने ऐप और डिवाइस डेवलप किया है, जो फोर व्हीलर गाड़ियों के लिए काम की है।

Danik Bhaskar | Dec 07, 2017, 12:05 AM IST

वाराणसी. एमएसएमई (Ministry of Micro, Small and Medium Enterprises) डेवलपमेंट फोरम की ओर से बीएचयू के शताब्दी कृषि ऑडिटोरियम में व्यापार मेला, स्टार्टअप कंपनियां, युवा आंत्रप्रेन्योर शामिल हुए। कानपुर से आए एक कपल सौरभ श्रीवास्तव और उनकी पत्नी दिव्या श्रीवास्तव ने ऐप और डिवाइस डेवलप किया है, जो फोर व्हीलर गाड़ियों के लिए काम की है। अक्सर कार के अंदर चाभी छूट जाती है और काफी परेशान होना पड़ता है। ऐप के जरिए कार का शीशा बिना तोड़े चाभी तो निकल ही सकती है। साथ में एेसी, म्यूजिक सिस्टम ऑन-ऑफ किया जा सकता है। इसे डेवलप करने में तीन महीने लगे।

- दिव्या ने बताया, मैंने इलाहाबाद यूनाइटेड इंस्टीट्यूट से एमबीए किया है। लखनऊ में आईटी सॉफ्टवेयर कंपनी में एचआर थी। बीटेक और एमबी प्रोफाइल के थे। यही सोचकर शादी की, अपनी खुद की कंपनी को ब्रांड बनाएंगे।

एमएसएमई डेवलपमेंट फोरम की ओर से बीएचयू के शताब्दी कृषि ऑडिटोरियम में व्यापार मेला, स्टार्टअप कंपनियां, युवा इंटरपेन्योर शामिल हुए। एमएसएमई डेवलपमेंट फोरम की ओर से बीएचयू के शताब्दी कृषि ऑडिटोरियम में व्यापार मेला, स्टार्टअप कंपनियां, युवा इंटरपेन्योर शामिल हुए।