Hindi News »Uttar Pradesh News »Varanasi News» Old Weapons Used In World Wars

17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 14, 2018, 04:23 PM IST

200 सालों से चले आ रहे इन पुराने वेपन्स के बारे में DainikBhaskar.com आपको बताने जा रहा है।
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें

    वाराणसी.15 जनवरी को आर्मी डे है। कभी हिटलर ने कहा था- गोरखा अगर मुझे मिल जाए तो पूरे विश्व पर कब्जा कर लूंगा। गोरखा रेजीमेंट के इतिहास और 200 सालों से चले आ रहे इनके वेपन्स के बारे में DainikBhaskar.com ने पूर्व ब्रिगेडियर एसपी सिन्हा बातचीत की। गोरखा रेजीमेंट के 200वें सालगिरह पर देखे गए थे पुराने वेपन्स...

    - ईस्ट इंडिया कंपनी के जमाने में बने 1817 में फतेहपुर लेबी के नाम से गोरखा रेजिमेंट हुआ करता था, जो उनकी सेना का महत्वपूर्ण हिस्सा था।
    - 1860 में गोरखा रेजीमेंट एक कंपनी पहली बार वाराणसी आई थी। 1901 में 9-जीआर के नाम से बंगाल इंफैंट्री बना। उसने प्रथम विश्वयुद्ध से लेकर करगिल तक की हर लड़ाई में निर्णायक भूमिका निभाई है।
    - विक्टोरिया क्रॉस से लेकर महावीर चक्र तक तमाम मेडल इस रेजिमेंट ने हासिल किए हैं। यहां कैंटोमेंट स्थित म्यूजियम में पहली बार गोरखा रेजीमेंट के 200वें सालगिरह पर वेपन्स को जनता के देखने के लिए रखा गया था।

    क्यों मनाते हैं आर्मी डे?
    - आर्मी डे, भारत में हर साल 15 जनवरी को लेफ्टिनेंट जनरल (बाद में फील्ड मार्शल) के. एम. करियप्पा के भारतीय थल सेना के मुख्य कमांडर का पदभार ग्रहण करने के उपलक्ष्य में मनाया जाता है।
    - उन्होंने 15 जनवरी 1949 को ब्रिटिश राज के समय के भारतीय सेना के अंतिम अंग्रेज शीर्ष कमांडर (कमांडर इन चीफ, भारत) जनरल रॉय बुचर से ये पदभार ग्रहण किया था।
    - इस दिन उन सभी बहादुर सेनानियों को सलामी भी दी जाती है जिन्होंने कभी ना कभी अपने देश और लोगों की सलामती के लिये अपना सर्वोच्च न्योछावर कर दिया।

  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
  • 17वीं शताब्दी से..2nd सेकेंड वर्ल्ड वार तक यूज होते थे ऐसे हथ‍ियार- PHOTOS
    +18और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Varanasi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Old Weapons Used In World Wars
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

Stories You May be Interested in

      More From Varanasi

        Trending

        Live Hindi News

        0
        ×