--Advertisement--

फेसबुक पर पोस्ट हुई ये फोटो, जानें क्या है इस ITBP जवान का दर्द

गाजीपुर. फेसबुक पर इन दिनों डॉक्टर सुपारी किलर का एक पोस्ट तेजी से वॉयरल हो रहा है।

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2018, 08:06 AM IST
पोस्ट में दिख रहे शख्स का नाम आशुतोष त्यागी है। वह ITBP का जवान है, वर्तमान में लेह में तैनात है। पोस्ट में दिख रहे शख्स का नाम आशुतोष त्यागी है। वह ITBP का जवान है, वर्तमान में लेह में तैनात है।

गाजीपुर. फेसबुक पर इन दिनों डॉक्टर सुपारी किलर का एक पोस्ट तेजी से वॉयरल हो रहा है। इसपर 12 हजार से ज्यादा शेयर और हजारो कमेंट आ चुके हैं। dainikbhaskar.com आपको इस पोस्ट के सच और पीड़‍ित परिवार के बारे में बताने जा रहा है।

परेशानी बताने पर डॉक्टर ने कहा, नाटक कर रही है तुम्हारी बहू

- पोस्ट में दिख रहे शख्स का नाम आशुतोष त्यागी है, जोकि गाजीपुर जिले के मोहम्दाबाद का रहने वाला है। वह ITBP का जवान है, वर्तमान में लेह में तैनात है। फेसबुक पर पोस्ट आशुतोष के बड़े भाई संजीव त्यागी ने किया था।

- बातचीत में आशुतोष ने बताया, 28 फरवरी 2017 को मेरी शादी प्रीती से हुई थी। जनवरी 2018 में पत्नी की ड‍िलीवरी होनी थी। खबर मिलते ही मैं 30 जनवरी को छुट्टी लेकर लेह से निकल पड़ा।

- 30 जनवरी की शाम पत्नी को दर्द शुरू हो गया। मां और मौसी उसे बलिया में डॉ. विजेता प्रकाश के पास लेकर गए। हजारों रुपए एंठने के बाद डॉ. ने कहा सीजन करना होगा, कहीं और लेकर जाओ।

- वहां से परिजन पत्नी को डॉ. पीएस तिवारी के नर्सिंग होम लेकर गए, रातभर एडमिट करने के बाद दूसरे दिन (31 जनवरी) उसने बिना किसी जांच के ऑपरेशन कर ड‍िलीवरी करा दी।

- आशुतोष की मां मंजू राय ने बताया, ड‍िलीवरी के बाद से बहू को ब्लीडिंग और दर्द लगातार होता रहा। जब डॉक्टर से इसके बारे में बताया, तो उसने कहा तुम्हारी बहू नाटक कर रही।

- एक फरवरी की सुबह बहू को ब्लड इंफेक्शन होने लगा। शाम करीब 5 बजे उसे वाराणसी के भिखारीपुर हॉस्प‍िटल के लिए रेफर कर दिया। साथ ही डायलेसिस के लिए लिख दिया।

जवान ने डॉक्टर के पकड़े पैर, फिर भी...

- आशुतोष ने बताया, मैं पत्नी को वाराणसी ले गया, लेकिन वहां डॉक्टरों ने डायलेसिस करने से मना कर दिया और दवा पर दवा ख‍िलाते रहे।

- मैंने डॉक्टर्स के पैर तक पकड़े लेकिन वो नहीं माने। बाद में पता चला कि जिस डॉक्टर को डाय‍लेसिस करना है वो 2 फरवरी दोपहर बाद आएगा। मरीज कहीं और न जाए इसलिए उन्होंने दवाई में उलझाए रखा।

- मैं डॉक्टर्स से पत्नी को दूसरे हॉस्प‍िटल में रेफर करने की मिन्नत करने लगा, लेकिन वो छोड़ने को तैयार नहीं थे। आख‍िरकार उन्होंने एक लाख 25 हजार का बिल मेरे हाथ में थमाया और कहा इसको जमा करवाओ, फिर पत्नी को ले जाओ।

- किसी तरह मैं 3 फरवरी को पत्नी को रेफर कराकर वाराणसी के दूसरे बड़े हॉस्प‍िटल में लेकर गया। वहां भी 2 दिन तक जांच-दवा चली, इस दौरान पत्नी की मौत हो गई। मेरी पत्नी की मौत इन डॉक्टर सुपारी किलर की वजह से हुई।

- मणिकर्णिका घाट पर पत्नी का अंतिम संस्कार किया। फरवरी महीने में प्रीती को शादी कर लाया और एक साल बाद फरवरी महीने में ही उसने मेरा साथ छोड़ दिया।

- मैं सभी आरोपी डॉक्टर्स के ख‍िलाफ केस दर्ज कराऊंगा, ताकि उन्हें सजा मिल सके। इससे मेरी पत्नी की आत्मा को शांति मिलेगी।

जवान ने कहा, मैं आरोपियों के ख‍िलाफ केस दर्ज कराऊंगा, ताकि उन्हें सजा मिल सके। इससे मेरी पत्नी की आत्मा को शांति मिलेगी। जवान ने कहा, मैं आरोपियों के ख‍िलाफ केस दर्ज कराऊंगा, ताकि उन्हें सजा मिल सके। इससे मेरी पत्नी की आत्मा को शांति मिलेगी।
ITBP jawan photo with wife post on facebook
ITBP jawan photo with wife post on facebook
X
पोस्ट में दिख रहे शख्स का नाम आशुतोष त्यागी है। वह ITBP का जवान है, वर्तमान में लेह में तैनात है।पोस्ट में दिख रहे शख्स का नाम आशुतोष त्यागी है। वह ITBP का जवान है, वर्तमान में लेह में तैनात है।
जवान ने कहा, मैं आरोपियों के ख‍िलाफ केस दर्ज कराऊंगा, ताकि उन्हें सजा मिल सके। इससे मेरी पत्नी की आत्मा को शांति मिलेगी।जवान ने कहा, मैं आरोपियों के ख‍िलाफ केस दर्ज कराऊंगा, ताकि उन्हें सजा मिल सके। इससे मेरी पत्नी की आत्मा को शांति मिलेगी।
ITBP jawan photo with wife post on facebook
ITBP jawan photo with wife post on facebook
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..