--Advertisement--

बनारस में हर जगह मोदी के साथ रही ये महिला, जानें क्या है इनकी प्रोफाइल

वाराणसी में फ्रांस प्रेसिडेंट के साथ आए थे मोदी, नौका विहार में भी निलाक्षी रहीं साथ।

Danik Bhaskar | Mar 12, 2018, 07:44 PM IST

वाराणसी. पीएम नरेंद्र मोदी फ्रांसीसी प्रेसिडेंट के साथ वाराणसी आए और नौका विहार के बाद दिल्ली चले गए। घाट पर पहुंचने से लेकर बनारसी बजड़े पर नौका विहार और एयरपोर्ट लौटने तक एक महिला लगातार मोदी के साथ रहीं। DainikBhaskar.com इसी लेडी के बारे में अपने रीडर्स को बता रहा है।

14 फॉरेन ट्रिप पर रहीं मोदी के साथ


- फ्रांसीसी राष्ट्रपति विजिट के दौरान एक तरफ मोदी थे, जो बोलचाल में गुजराती और हिंदी प्रिफर करते हैं और दूसरी तरफ बचपन से फ्रेंच बोल रहे इमैनुअल मैक्रों। भाषाओं के इस अंतर को कम करने के लिए मौजूद थीं निलाक्षी सिन्हा।
- निलाक्षी हर वक्त मोदी के साथ रहीं। वो पीएम की ऑफिशियल इंटरप्रेटर हैं, जो कि विदेशी भाषाओं को हिंदी में ट्रांसलेट कर उनकी विदेशी अधिकारियों और डिग्नेट्रीज से बातचीत के दौरान मदद करती हैं।
- निलाक्षी अब तक 14 फॉरेन ट्रिप्स पर मोदी के साथ रही हैं।

पेरिस से सीखी है फ्रेंच

- IFS अफसर निलाक्षी साहा सिन्हा फ्रेंच भाषा की एक्सपर्ट हैं। प्रेजेंट में वो मिनिस्ट्री ऑफ एक्सटर्नल अफेयर्स के वेस्टर्न अफ्रीका डिविजन में डायरेक्टर का पद संभाल रही हैं।
- इन्होंने पेरिस से फ्रेंच लिट्रेचर और लेंग्वेज में कोर्स किया है। इसी वजह से इन्हें बतौर इंटरप्रेटर पीएम के साथ रखा जाता है।
- फ्रेंच इनकी प्रमुख विदेशी भाषा है। इसके अलावा ये हिंदी, इंग्लिश और बंगाली भाषाओं की जानकारी रखती हैं।

पढ़ लेती हैं मोदी का माइंड

- इंटरप्रेटर का काम सिर्फ विदेशी भाषा को ट्रांसलेट करने का नहीं होता। उसे ठीक उसी फीलिंग और मीनिंग के साथ ट्रांसलेट करना होता है, जिससे की कहने वाली के भाव बिगड़ें न।
- निलाक्षी मोदी के मनोभाव को अच्छे से समझती हैं। वो विदेशी मंत्री व गेस्ट्स को देने वाले जवाब उसी भाव के साथ फ्रेम करती हैं, जैसे कि मोदी देना चाहते हैं।
- बराक ओबामा और फ्रेंकॉइज होलान्डे जैसे बड़े नेताओं के साथ मुलाकात के दौरान निलाक्षी मोदी के साथ थीं।