Hindi News »Uttar Pradesh »Varanasi» Mirzapur Dutta Sisters Honored In Varanasi

जान दांव पर लगा फ्रांसीसी फ्रेंड्स को बचाया, ऐसी ब्रेव हैं ये 'दत्ता सिस्टर्स'

वाराणसी (यूपी). यूपी दिवस पर बुधवार को 'दत्ता सिस्टर्स' को काशी गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 25, 2018, 08:32 PM IST

    • 'दत्ता सिस्टर्स' को काशी गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया।

      वाराणसी (यूपी).यूपी दिवस पर बुधवार को 'दत्ता सिस्टर्स' को काशी गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया। 26 जनवरी को मिर्जापुर में भी तीनों बहनों का सम्मान होगा। बता दें, ये वही सिस्टर्स हैं, ज‍िन्होंने मिर्जापुर के लखनिया दरी वाटरफॉल घूमने आए अपने फ्रांसीसी फ्रेंड्स को शोहदों और बदमाशों से बचाया था। मिर्जापुर एसपी अशाीष तिवारी के मुताब‍िक, मामले में आठों आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है।

      शोहदों ने की छेड़खानी, दत्ता सिस्टर्स ने सिखाया सबक

      - मिर्जापुर में 10 दिसंबर को लखनिया दरी घूमने गए फ्रांसीसी टूरिस्ट और उनके इंडियन फ्रेंड्स के साथ ड्रिंक किए लड़कों ने मारपीट और छेड़खानी की थी।

      - इस दौरान उनके साथ बनारस की 'दत्ता सिस्टर्स' भी थीं, जिन्होंने बहादुरी दिखाते हुए लड़को को सबक सि‍खाया और उन्हें भागने पर मजबूर कर दिया।

      - 12वीं में पढ़ने वाली छोटी बहन तान्या ने बताया, ''कुछ लड़के ड्रिंक करके कमेंट पास कर रहे थे कि अतुल्य भारत किस साइड से ऊंचा है। शुरू में खामोश थी, लेकिन उनकी हिम्मत बढ़ गई और उन्होंने मेरे कमर पर हाथ डालकर गंदी बातें करना शुरू कर दिया।''

      - इसके बाद फ्रांसीसी फ्रेंड लैला पर कमेंट करने लगे। हमने विदेशी मेहमानों को ढाबे के अंदर कर दिया, ताकि उन्हें कुछ न हो। विदेशि‍यों को को अगले दिन फ्रांस लौटना था।

      - इसके बाद बदमाशों ने हम पर अटैक कर दिया, हमने बिना डरे उनका सामना किया, मुझे 6 लड़कों ने पकड़ लिया था और दीदी और चाचा को मार रहे थे।

      - मैंने कांच की बोतल एक लड़के के सिर पर मार दिया।

      - ग्रैजुएशन कर रही बड़ी बहन रिया दत्ता ने बताया, ''शोहदे छोटी बहन और लैला को छेड़ने लगे। चाचा नितिन पर भी हमला कर दिया। तीनों बहनों ने मिलकर उनका सामना किया। तान्या ने एक को बोतल मारी, वो एक मारते हम तीन घूंसा उन्हें मारते। हमने उन्हीं की हॉकी स्टिक छीनकर उनको पीटा।

      - बहन मिली दत्ता ने बताया, ''वो लोग अतुल्य भारत पर गंदे कमेंट, अब्यूज कर रहे थे। मेरी बहन और फॉरेनर को टच किया तो मैंने उन्हें थप्पड़ जड़ दिया। इसके बाद उन्होंने मारपीट शुरू कर दी।

      आगे की स्लाइड्स में पढ़ें क्या है दत्ता सिस्टर्स का फैमिली बैकग्राउंड...

    • जान दांव पर लगा फ्रांसीसी फ्रेंड्स को बचाया, ऐसी ब्रेव हैं ये 'दत्ता सिस्टर्स'
      +5और स्लाइड देखें
      26 जनवरी को मिर्जापुर में भी तीनों बहनों का सम्मान होगा।

      पि‍ता को है पैरालि‍सि‍स, 10 साल से हैं बेड पर

      - बता दें, इन बहनों के पिता जयंत दत्ता पिछले 10 साल से पैरालिसि‍स की वजह से बेड पर हैं। मां चैताली दत्ता नर्स हैं।

      - तीनों बहनें बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर परिवार की आर्थि‍क मदद करती हैं।

      - मां ने बताया, ''पैसे नहीं होने की वजह से मकान मालिक ने घर छोड़ने को कहकर एक महीने से बिजली काट दी है।''

      आगे की स्लाइड्स में पढ़ें क्यों फ्रांसीसी टूरिस्ट से है इमोशनल अटैचमेंट...

    • जान दांव पर लगा फ्रांसीसी फ्रेंड्स को बचाया, ऐसी ब्रेव हैं ये 'दत्ता सिस्टर्स'
      +5और स्लाइड देखें
      दत्ता सिस्टर्स ने मिर्जापुर के लखनिया दरी वाटरफॉल घूमने आए अपने फ्रांसीसी फ्रेंड्स को शोहदों और बदमाशों से बचाया था।

      इसलिए है फ्रांसीसी टूरिस्ट से इमोशनल अटैचमेंट

      - मां ने बताया, ''मेरी तीन बेटियां है। मंझली बेटी मिली कुछ महीनों पहले जल गई थी। काफी इलाज के बाद जब पैसे खत्म हो गए तो अजीर प्योर बनारस (पूरी तरह बनारस के) संस्था, जहां फ्रांसीसी फ्री में ट्रीटमेंट करते हैं, वहां गई। यहां इलाज कराया और मेरी बेटी ठीक हो गई, तबसे इन फ्रांसीसि‍यों से इमोशनल अटैचमेंट और फ्रेंडशिप हो गई।''

      - ''मुझे गर्व है कि मेरी बेटियों ने टूरिस्ट की जान बचाने के लिए जान की बाजी लगा दी।''

    • जान दांव पर लगा फ्रांसीसी फ्रेंड्स को बचाया, ऐसी ब्रेव हैं ये 'दत्ता सिस्टर्स'
      +5और स्लाइड देखें
    • जान दांव पर लगा फ्रांसीसी फ्रेंड्स को बचाया, ऐसी ब्रेव हैं ये 'दत्ता सिस्टर्स'
      +5और स्लाइड देखें
    • जान दांव पर लगा फ्रांसीसी फ्रेंड्स को बचाया, ऐसी ब्रेव हैं ये 'दत्ता सिस्टर्स'
      +5और स्लाइड देखें
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Varanasi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Mirzapur Dutta Sisters Honored In Varanasi
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From Varanasi

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×