--Advertisement--

ब्रेन हैमरेज से हुई शख्स की मौत, मोदी से है खास कनेक्शन

नरेंद्र मोदी के वाराणसी में सबसे फेवरेट कुक प्रदीप कुमार मल्होत्रा का शुक्रवार को ब्रेन हैमरेज से निधन हो गया।

Dainik Bhaskar

Jan 06, 2018, 04:54 PM IST
पीएम मोदी के वाराणसी के फेवरेट पीएम मोदी के वाराणसी के फेवरेट

वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी में सबसे फेवरेट कुक प्रदीप कुमार मल्होत्रा का शुक्रवार को ब्रेन हैमरेज से निधन हो गया। बता दें, मोदी के काशी दौरे पर 7 बार DLW गेस्ट हाउस में रुक चुके हैं। हर बार प्रदीप ने ही उनका खास ख्याल रखा है। बेटी प्रि‍यंका ने बताया ''अपने नातियों को लेने के लिए पापा को 22 दिसंबर को कलकत्ता आना था। 21 दिसंबर को ही उनकी तबीयत खराब हो गई, जिसके बाद उन्हें एडमिट कराया गया था। वह बार-बार नातियों से मिलने के लिए बोल रहे थे, लेकिन डॉक्टर्स ने परमिशन नहीं दी। शुक्रवार को उन्हें फोन पर नातियों के आवाज की रिकॉर्डिंग सुनाई गई, जिसके एक घंटे बाद ही उनका निधन हो गया।'' पीएम, प्रदीप से अक्सर करते थे ये सवाल...

- प्रि‍यंका ने बताया, ''पीएम मोदी, पापा से अक्सर ये सवाल पूछते थे कि शहर को सुधारने में क्या-क्या करना चाहिए।''

- ''सरकार कैसी चल रही है, जो फैसले लिए जा रहे हैं, सही है या नहीं।''

- वहीं, जब पापा उनसे उन्हें दिल्ली ले जाने की बात करते थे, तो वह कहते थे, ''अाप बनारस में ही रहिए, जिससे जब मैं बनारस आऊं तो आपके हाथों का खाना मिल सके।''

- प्रि‍यंका ने बताया, ''DLW गेस्ट हाउस में जब भी मोदी रहते थे, जाने से पहले पापा के हाथ की बनी अदरक की चाय जरूर पीते थे।''

मोदी के बारे में बताई थी ये बातें

- पिछली बार 22 सितंबर को पीएम दो दिन के दौरे पर वाराणसी दौरे पर आए थे, इस दौरान भी प्रदीप ने ही उनका ख्याल रखा था।

- DainikBhaskar.com से बातचीत में प्रदीप ने बताया था, ''पीएम 8 नवंबर 2014 को पहली बार DLW गेस्ट हाउस में रात रुके थे।''
- ''गेस्ट हाउस में 23 कमरे हैं। पीएम के लिए स्पेशल लग्जरी गेस्ट रूम है।''
- ''पीएम सुबह मॉर्निंग वॉक, इसके बाद योग फि‍र पूजा करते हैं। उन्हें गुजरती खिचड़ी और दाल-जीरा बहुत पसंद है।''
- ''पहले दौरे पर उन्होंने चावल-दाल, सब्जी के साथ दही खाया था। लंच में मटर पनीर, चावल रोटी और दही का स्वाद लिया था। स्वीट डिश में रस मलाई खाई थी।''
- ''अदरक की चाय उनको बहुत पसंद है। ग्रीन सलाद, फुलकी-रोटी ही वो खाते हैं।''

राष्ट्रपति की शपथ ग्रहण समारोह में किया गया था इन्वाइट

- प्रदीप मल्होत्रा अजमेर राजस्थान के रहने वाले थे। 1963 में पिता केएन मल्होत्रा ट्रांसफर होकर बनारस आए। तब से यहीं रह रहे थे।
- इंटर तक की पढ़ाई के बाद 1966 में इन्हें कैंटीन मैनेजर के पद पर नियुक्ति मिली। 2005 में इस पद से रिटायर हुए, लेकिन अच्छे काम और वीवीआईपी को ट्रीट करने का लम्बा अनुभव देखते हुए इन्हें एक्सटेंशन दिया गया।
- राष्ट्रपति कोविंद ने अपने शपथ ग्रहण समारोह में प्रदीप को बुलाया था। ये काशी के पहले व्यक्ति थे, जिन्हे इस समारोह में गुजरात सरकार द्वारा बुलाया गया था।
- परिवार में इनकी पत्नी श्रीमती संतोष मल्होत्रा है एक बेटी प्रियंका, जिसकी शादी हो चुकी है।

X
पीएम मोदी के वाराणसी के फेवरेटपीएम मोदी के वाराणसी के फेवरेट
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..