--Advertisement--

आज फ्रांस के राष्ट्रपति के साथ वाराणसी पहुंचे PM मोदी, नाव से कराएंगे गंगा की सैर; 1500 करोड़ की योजाओं की देंगे सौगात

पीएम मोदी और फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों साढ़े पांच घंटे में करीब 1500 करोड़ रुपए की सौगात देंगे।

Dainik Bhaskar

Mar 12, 2018, 12:05 AM IST
प्रधानमंत्री मोदी ने डीएलडब् प्रधानमंत्री मोदी ने डीएलडब्

वाराणसी. फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों और नरेंद्र मोदी सोमवार को वाराणसी पहुंचे। मिर्जापुर में सोलर प्लांट और गंगा में सैर के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने डीएलडब्ल्यू में कई प्रोजेक्ट्स की शुरुआत की। इस मौके पर उन्होंने कहा- "काशी के लोगों ने फ्रांस के राष्ट्रपति का सम्मान और जबर्दस्त स्वागत कर कमाल कर दिया। फ्रांस के घर-घर में लोग जरूर पूछेंगे कि वाराणसी कहां है, जहां हमारे नेता का इस तरह का स्वागत हो रहा है। आज एक अद्भुत नजारा देखने को मिला। हमारे इस प्रेम ने भारत और फ्रांस की दोस्ती को भिगा दिया। बता दें कि मोदी ने मैक्रों को गंगा की सैर कराई। जापान के पीएम शिंजो आबे के बाद वे वाराणसी आने वाले दूसरे राष्ट्राध्यक्ष हैं।

मोदी के स्पीच की अहम बातें

1) हमें यहां रोजगार को बढ़ावा देना होगा

- नरेंद्र मोदी ने कहा- "भारत सरकार डीएलडब्लू का जितना ज्यादा आधुनिकीकरण कर सकती है करेगी। रोजगार को बढ़ावा देने की कोशिश की जा रही है। 800 करोड़ रुपए के विकास के काम होली के रंग में रंग भर देते हैं। आज मुझे यहां गरीब परिवारों को आवास की चाबी देने का मौका मिल रहा है। मैंने लोगों से कहा है कि घर मिलने के बाद आपको अपने बच्चों को पढ़ाना है।"

2) यहांं पर्यटकों को लाने के लिए मजबूर करना होगा

- नरेंद्र मोदी ने कहा- "बनारस में रेलवे के आधुनिकीकरण का काम किया जा रहा है। कचरा महोत्सव शुरू कर स्वच्छता मिशन को आगे बढ़ाया जा रहा है। कबाड़ को जुगाड़कर करके उपयोगी बनाया जा सकता है। बनारस को स्वच्छता में प्राथमिकता देनी है। बनारस के पास सब कुछ है। हमें पर्यटकों को यहां आने के लिए मजबूर करना है।"

3) बेटियां स्वस्थ होंगी तो आने वाली पीढ़ी भी स्वस्थ होगी

- नरेंद्र मोदी ने कहा- "आयुष्मान भारत योजना के तहत गरीब परिवारों को 5 लाख तक का अस्पताल का खर्च उपलब्ध कराया जाएगा और आरोग्य की दिशा में यह कारगर साबित होगा। हमारे बच्चे कुपोषण मुक्त हों, इसके लिए हमने प्रधानमंत्री पोषण मिशन के तहत गरीब और मध्यम वर्गीय परिवार को सहयोग उपलब्ध कराने का बीड़ा उठाया है। हमारी बेटियां स्वस्थ होंगी तो आने वाली पीढ़ी भी स्वस्थ होगी।"

मोदी ने इमैनुएल मैक्रों को 3 किमी तक गंगा की सैर कराई, 20 मिनट लगे

- वाराणसी में मोदी ने मैक्रों को गंगा की सैर कराई। दोनों अस्सी घाट से नाव में बैठे और 3 किमी चलने के बाद दशाश्वमेध घाट पहुंचे। इस दूरी को तय करने में करीब 20 मिनट का वक्त लगा।

- इससे पहले उन्होंने बड़ा लालपुर के दीनदयाल उपाध्याय हस्तकला संकुल को देखा। बता दें कि जापान के पीएम शिंजो आबे के बाद मैक्रों वाराणसी आने वाले दूसरे राष्ट्राध्यक्ष हैं। जापान के पीएम शिंजो आबे ने यहां गंगा आरती भी की थी।

सोलर प्लांट का इनॉगरेशन किया मिर्जापुर में

- नरेंद्र मोदी और इमैनुएल मैक्रों ने मिर्जापुर में 650 करोड़ की लागत से बने सोलर प्लांट का उद्घाटन किया।

सोलर प्लांट की खास 10 बातें:

1) इस प्लांट में 3,18,650 सोलर प्लेट्स लगाई गई हैं।
2) यहां इस्तेमाल होने वाली हर प्लेट 315 वाट की है।
3) पूरे प्लांट की लागत 650 करोड़ रुपए है।
4) इस सोलर प्लांट को 382 एकड़ पथरीली भूमि पर बनाया गया है।
5) इसे बनाने में 18 महीने का वक्त लगा।
6) 250 मजदूरों ने लगातार काम कर बनाया।
7) इस बनाने में 18 एक्सपर्ट्स ने लगातार काम किया।
8) प्रतिदिन 1.5 लाख घरों को बिजली देने की क्षमता है।
9) हर रोज 5 लाख यूनिट बिजली उत्पादित होगी।
10) मिर्जापुर में 40 लाख यूनिट प्रतिदिन की खपत है।

क्यों खास है ये दौरा?

- इंटरनेशनल पॉलिटिक्स में फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रो पीएम मोदी के काशी विजिट को लेकर चर्चा है। बीएचयू (काशी हिन्दू विश्वविद्यालय) के पॉलिटिक्ल साइंस डिपार्टमेंट के प्रोफेसर केके मिश्रा ने दोनों राष्ट्राध्यक्षों के काशी विजिट को लेकर इंटरनेशनल पॉलिटिक्स के 7 फायदे बताए।


1) पीएम नरेंद्र मोदी ने भारत को विश्व गुरु और काशी को राष्ट्रगुरु बनाने का सपना देखा है। इससे पहले 12 दिसंबर, 2015 जापानी पीएम शिंजो आबे को गंगा आरती दिखाने लाये थे। यहां की संस्कृति, गंगा, घाट, मंदिरों से लघु भारत को एक ही बार में बताना मकसद है।
2) पूरा विश्व जब टेरोरिज्म से जूझ रहा है, ऐसे में पीएम मोदी दुनिया को बताना चाहते हैं कि बनारस विश्व शांति का केंद्र है। जहां स्वामी विवेकानंद, शंकराचार्य, रविदास, बुद्ध जैसे संत महात्मा भी इसी तलाश में आये थे।
3) वर्ल्ड हेरिटेज सिटी का सपना तभी पूरा होगा। जब काशी के गलियों, उद्योग, संस्कृति, रहन-सहन, मंदिरों और 84 घाटों की चर्चा राष्ट्राध्यक्षों के जरिये कई देशों में होगी।
4) ग्राउंड पॉलिटिक्स के जरिये पाकिस्तान, चीन जैसे देशों को संदेश देना कि दिल्ली, मुंबई ही नहीं बल्कि भारत के काशी जैसे स्थान भी महत्वपूर्ण हैं।
5) एनर्जी प्लांट के उद्घाटन से भारत पूरे विश्व संदेश देगा कि एनर्जी, इन्वायरमेंट, इम्प्लॉयमेंट, इन्वेस्टमेंट के साथ टूरिज्म को लेकर बड़ा काम कर रहा है।
6) जापान और फ्रांसीसी राष्ट्राध्यक्षों की विजिट से दुनिया के दूसरे देशों के पीएम, राष्ट्रपति भी वाराणसी आना चाहेंगे। गंगा और यहां के सात किमी लंबे घाट पर्यटकों को सबसे ज्यादा पसंद हैं।

X
प्रधानमंत्री मोदी ने डीएलडब्प्रधानमंत्री मोदी ने डीएलडब्
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..