--Advertisement--

भगवा रंग में पूर्वांचल की सबसे बड़ी मंडी, अफसर ने बताई वजह

वाराणसी. पूर्वांचल की सबसे बड़ी फलों और सब्जियों की पहाड़िया मंडी को भगवा रंग में रंगा जा रहा है।

Dainik Bhaskar

Jan 02, 2018, 12:40 PM IST
सफाई और रंगाई के लिए बनारस को मिला है 9 लाख का बजट। सफाई और रंगाई के लिए बनारस को मिला है 9 लाख का बजट।

वाराणसी. पूर्वांचल की सबसे बड़ी फलों और सब्जियों की पहाड़िया मंडी को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। बिहार, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, झारखंड समेत कई राज्यों में यहां से फल और सब्जियां जाती हैं। बाहर से ट्रकों द्वारा सैकड़ों टन माल रोज यहां उतरता है। क्यों क‍िया गया गेरुआ रंग...

- सचिव पार्थव् सारथी ने बताया, ''25 सालों से मंडियों का डेंट पेंट नहीं हुआ था। मंडियों के प्रदेश अध्यक्ष सीएम योगी खुद हैं। पहली बार उन्होंने मंडी सचिवों को सीधे बजट दिया है। बनारस को 9 लाख सफाई और रंगाई को मिला है।''

- ''रंग को अधिकारियों और व्यापारियों ने सहमिति से बनाया है। चर्चा में है कि बसपा में नीला और सपा में हरा और लाल था। इस सरकार ने गेरुआ सिर्फ इस लिए किया है की गंदा नहीं होगा।''

- व्यापारी सोहन विश्वकर्मा ने बताया, ''मंडी आर्थिक हब है। ट्रक-के-ट्रक माल का सौदा मंडी में होता है। तीन बड़े गोदाम मंडी के अंदर माल रखने के लिए है।

- जम्मू कश्मीर, महराष्ट्र से फलों के व्यापारी आते हैं। लगभग 150 से ज्यादा सब्जी और फलों के ट्रकों का कारोबार होता है।

- मंडी व्यपारी सोनू यादव ने बताया, ''फल और सब्जी मिलाकर करीब एक से डेढ़ करोड़ का कारोबार होता है। 52 एकड़ जमीन पर मंडी का कारोबार फैला है।

पूर्वांचल की सबसे बड़ी फलों और सब्जियों की पहाड़िया मंडी भगवा रंग में रंगा जा रहा है। पूर्वांचल की सबसे बड़ी फलों और सब्जियों की पहाड़िया मंडी भगवा रंग में रंगा जा रहा है।
X
सफाई और रंगाई के लिए बनारस को मिला है 9 लाख का बजट।सफाई और रंगाई के लिए बनारस को मिला है 9 लाख का बजट।
पूर्वांचल की सबसे बड़ी फलों और सब्जियों की पहाड़िया मंडी भगवा रंग में रंगा जा रहा है।पूर्वांचल की सबसे बड़ी फलों और सब्जियों की पहाड़िया मंडी भगवा रंग में रंगा जा रहा है।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..