Hindi News »Uttar Pradesh »Varanasi» Sadhu Bath With Cold Water

लगातार 21 दिन 221 घड़े पानी से स्नान कर किया तप, ये था मकसद

वाराणसी. विश्व शांत‍ि और समाज की भलाई के लिए काशी के दशाश्वमेघ घाट पर एक महंत 'जलधार तपस्या' पर बैठे हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 15, 2018, 05:24 PM IST

    • 21 दिन तक लगातार 3-3 घंटे महंत ने यूं किया स्नान।

      वाराणसी.विश्व शांत‍ि लिए 21 दिनों तक 'जलधार तपस्या' कर चुके महंत नेपाली बापू मकर संक्राति के मौके पर काशी पहुंचे। बता दें, महंत ने आजमगढ़ के लालगंज में 21 दिसंबर से 10 जनवरी तक लगातार 3-3 घंटे 221 घड़े के ठंडे पानी से स्नान कर तप किया था। DainikBhaskar.com से बातचीत में महंत ने अपने बारे में कुछ बातें बताईं। मेरी सहन शक्ति की परीक्षा...

      - तपस्वी महंत अवधूत गिरी जी महाराज (नेपाली बापू) को उनके भक्तों ने 21 दिनों तक लगातार 3-3 घंटे 221 घड़े ठंडे पानी से स्नान कराया।

      - नेपानी बापू ने बताया, ''इस बार जलधार तपस्या आजमगढ़ के लालगंज में 21 दिसंबर से 10 जनवरी तक किया। मकर संक्रांति पर दशाश्मेध घाट पर तप साधना में बैठे।''

      - ''यह तपस्या सर्दी में घड़े के ठंडे पानी से नहाकर की जाती है। मैं इसे विश्व शांति और समाज की भलाई और उनकी एकजुटता के लिए करता हूं।

      - ''इससे सहन शक्ति की परीक्षा होती है कि शरीर प्रकृति से कितना लड़ सकता है। यही मेरी तपस्या है।''

      - ''पहले मैं इसे 45 दिन करता था, अब 21 दिन का ही तप किया। यह तपस्या सुबह 3 बजे से 6 बजे लगातार 21 दिन तक चली।''

      - इस प्रकार के स्नान को सन्यासी या आध्यात्मिक भाषा में जलधार तपस्या कहते हैं।

    • लगातार 21 दिन 221 घड़े पानी से स्नान कर किया तप, ये था मकसद
      +3और स्लाइड देखें
    • लगातार 21 दिन 221 घड़े पानी से स्नान कर किया तप, ये था मकसद
      +3और स्लाइड देखें
    • लगातार 21 दिन 221 घड़े पानी से स्नान कर किया तप, ये था मकसद
      +3और स्लाइड देखें
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Varanasi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
    Web Title: Sadhu Bath With Cold Water
    (News in Hindi from Dainik Bhaskar)

    More From Varanasi

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×