--Advertisement--

योगी से हुई है बात, 2018 में शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण : रामजन्म भूमि के न्यास के सचिव

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विवादित 2.77 एकड़ जमीन 3 बराबर हिस्सों में बांटने का ऑर्डर दिया था।

Dainik Bhaskar

Dec 21, 2017, 04:17 PM IST
हाईकोर्ट ने फैसला भी पक्ष में दिया है सुप्रीम कोर्ट से भी फैसला हमारे पक्ष में आएगा। हाईकोर्ट ने फैसला भी पक्ष में दिया है सुप्रीम कोर्ट से भी फैसला हमारे पक्ष में आएगा।

आजमगढ़. रामजन्म भूमि के न्यास के सचिव सुरेश दासजी महाराज ने कहा- "2018 में राम मंदिर बनने का कार्य शुरू हो जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से इस सम्बन्ध में दो दिन पहले बातचीत भी हुई है। हाईकोर्ट ने फैसला भी पक्ष में दिया है सुप्रीम कोर्ट से भी फैसला हमारे पक्ष में आएगा।" वो यहां महामंडलेश्वर मौनी बाबा की प्रथम पुण्यतिथि के अवसर पर पहुंचे थे।

-केन्द्र और प्रदेश में हमारी सरकार है और राष्ट्रपति भी हमारे हैं। अगर ऐसा नहीं होता है तो जिस तरह सोमनाथ मंदिर को दोबारा बनवाने के लिए सरदार पटेल ने विशेष कानून बनाकर मंदिर बनाया था उसी तर्ज पर अयोध्या में राम मंदिर बन कर रहेगा।
-रामजन्म भूमि के बारे में हाईकोर्ट ने जो फैसला दे दिया कि वही रामजन्म भूमि है। लेकिन जो हमारे अपोजिट हैं वो सुप्रीम कोर्ट चले गए। सुप्रीम कोर्ट 5 दिसम्बर से सुनवाई करना चाहता था लेकिन कांग्रेस वाले नहीं चाहते कि राम मंदिर का निर्माण हो।

अब हमारी सरकार

-रामजन्म भूमि का निर्माण होगा क्योंकि केंद्र में मोदी, प्रान्त में योगी हैं। राष्ट्रपति भी अपने हैं और अब इनकी कोई बहानेबाजी नहीं चलेगी की हमारे पास बहुमत नहीं है अब हर हालत में इनको रामजन्म भूमि का निर्माण करना है।
-2 दिन पहले मुख्यमंत्री से बात हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि 2018 में राम मंदिर का कार्य शुरू हो जाएगा। हम सुप्रीम कोर्ट का सम्मान करते हैं और उनके फैसले का इंतजार कर रहे हैं। हम जानते हैं कि फैसला रामजन्म भूमि के पक्ष में होगा।
-अगर ऐसा नहीं हुआ तो लोकसभा में नया कानून बनाकर जिस प्रकार सरदार वल्लभ भाई पटेल ने सोमनाथ के मंदिर का निर्माण करवाया था। उसी प्रकार एक कानून बनाकर रामजन्मभूमि का निर्माण कर सकते हैं।


7 साल में SC में 20 अर्जियां, 7 चीफ जस्टिस बदले

-हाईकोर्ट के फैसले के खिलाफ सुन्नी वक्फ बोर्ड 14 दिसंबर, 2010 को सुप्रीम कोर्ट पहुंचा। फिर एक के बाद एक 20 पिटीशन्स दाखिल हो गईं। सुप्रीम कोर्ट ने 9 मई, 2011 को हाईकोर्ट के फैसले पर स्टे लगा दिया, लेकिन सुनवाई शुरू नहीं हुई। इस दौरान 7 चीफ जस्टिस बदले। सातवें चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने इस साल 11 अगस्त को पहली बार पिटीशन्स लिस्ट की।

HC ने विवादित जमीन 3 हिस्सों बांटने का दिया था ऑर्डर

-इलाहाबाद हाईकोर्ट ने विवादित 2.77 एकड़ जमीन 3 बराबर हिस्सों में बांटने का ऑर्डर दिया था। अदालत ने रामलला की मूर्ति वाली जगह रामलला विराजमान को दी। सीता रसोई और राम चबूतरा निर्मोही अखाड़े को और बाकी हिस्सा मस्जिद निर्माण के लिए सुन्नी वक्फ बोर्ड को दिया था।


भागवत ने कहा था अयोध्या में बनेगा राममंदिर


-हाल ही में संघ प्रमुख मोहन भागवत ने बेंगलुरु में कहा था कि अयोध्या में राम जन्मभूमि पर ही मंदिर बनेगा। भागवत ने कहा था, "राम जन्मभूमि पर कोई दूसरा ढांचा नहीं, बल्कि सिर्फ राम मंदिर बनेगा। ये हमारी आस्था का मामला है।" भागवत ने यह बात कर्नाटक के उडूपी में धर्म संसद में स्पीच के दौरान कही थी।

फाइल । फाइल ।
X
हाईकोर्ट ने फैसला भी पक्ष में दिया है सुप्रीम कोर्ट से भी फैसला हमारे पक्ष में आएगा।हाईकोर्ट ने फैसला भी पक्ष में दिया है सुप्रीम कोर्ट से भी फैसला हमारे पक्ष में आएगा।
फाइल ।फाइल ।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..