Hindi News »Uttar Pradesh »Varanasi» Wrestler Rinku Singh Untold Story

ट्रक ड्राइवर थे इस रेसलर के पिता, अब बेटा दिखाएगा WWE में दम

DainikBhaskar.com ने रेसलर के पिता से बात कर उनकी लाइफ से जुड़े किस्से जानें, जो आपको बता रहा है।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Jan 25, 2018, 11:10 AM IST

    • रेसलर रिंकू के पिता ने बताया- 16 साल की उम्र में ही बेटे ने भाला खेलना (जेवलिन) शुरू किया था।

      भदोही(यूपी). यहां का एक नौजवान अमेरिका में अपना दमखम दिखाएगा। दशक भर पहले बेसबॉल खलाड़ी के रुप में पहचान बनाई। अब WWE रेसलिंग कर इंडिया का नाम रौशन करेगा। WWE से करार के बाद फ्लोरिडा परफामिंग सेंटर में ट्रेनिंग ले रहे हैं। DainikBhaskar.comने रेसलर के पिता से बात कर उनकी लाइफ से जुड़े किस्से जानें, जो आपको बता रहा है। 16 साल की उम्र से था टैलेंट...

      - ज्ञानपुर तहसील के हौलपुर गांव के रहने वाले रिंकू के पिता ब्रह्म सिंह सीमेंट फैक्ट्री का ट्रक चलाते थे, लेकिन वर्तमान में काम को छोड़ चुके हैं।

      - पिता ने बताया, ''मैं सोनभद्र रेनुकोट में सीमेंट फैक्ट्री का ट्रक चलाता था। बड़ा परिवार होने की वजह से खेतों में भी काम करता था।''

      - ''16 साल की उम्र में ही बेटे ने भाला खेलना (जेवलिन) शुरू किया था। 2007 में उसे पता चला कि बनारस में लखनऊ जेवलिन थ्रो के लिए इलाहाबाद हॉस्टल में ट्रायल है, तो चुपके से मां को बताकर चला गया।''

      - ''वहां उसका सिलेक्शन भी हो गया। 2008 अमेरिका से यूएस मेजर बाल लीग की एक टीम मुंबई आई और कांटेस्ट 'द मिलियन डालर आर्म' आर्गनाइज्ड की।''

      - ''इस टीम को बेसबॉल में थ्रोवर की तलाश थी। करीब 37 हजार प्रतिभागियों में बेटे ने 87 मिल पर हॉवर थ्रो कर मिलियन डालर जीता। तभी पिट्सबर्ग पाइरेट ने तीन साल का एग्रीमेंट भी कर लिया।''

      - रिंकू के जीवन संघर्ष से प्रभावित होकर डिज्नी ने 'द मिलियन डॉलर आर्म' नामक फिल्म भी बनाई थी।

      आगे की स्लाइड में पढ़ें, रेसलर की ऐसी है डाइट ...

    • ट्रक ड्राइवर थे इस रेसलर के पिता, अब बेटा दिखाएगा WWE में दम
      +3और स्लाइड देखें
      पिता ने बताया- 2007 में बेटा चुपके से मां को बताकर बनारस में जेवलिन थ्रो के ट्रायल पर गया और सिलेक्ट होकर लौटा।

      एक टाइम में है रेसलर की ऐसी डाइट

      - पिता बताते हैं, ''बेटे को बचपन से ही अपनी मां के हाथों की रोटी, दाल और साग खाना बहुत पसंद है। 30 से 40 रोटी, 3 कटोरी दाल और 2 प्लेट सब्जियां आसानी से खा लेता है।

      - मां अंतराजा देवी का कहना है, ''बेटे बचपन से ही मेहनती था। बस उसे हारना नहीं पसंद था। अब उसकी इस सफलता पर बहुत खुशी हो रही है।''


      फ्लोरिडा परफार्मिंग सेंटर में ले रहें हैं ट्रेनिंग

      - वहीं, भतीजे अमन ने बताया, ''चाचा भी शुरुआत में भाला ही फेंका करते थे। उन्ही से प्रेरित होकर रिंकू ने बकायदे ट्रेनिंग भी ली थी।''

      - 6 फीट 3 इंच लम्बे और 102 किलोग्राम वजनी रिंकू ने दुबई में अप्रैल 2017 में WWE चयन प्रशिक्षण में भाग लिया था।

      - चाचा डीडी सिंह बताते हैं, ''13 जनवरी को WWE और रिंकू के बीच करार हुआ है, जिसके बाद अब वो फ्लोरिडा परफामिंग सेंटर में ट्रेनिंग ले रहा है।''

    • ट्रक ड्राइवर थे इस रेसलर के पिता, अब बेटा दिखाएगा WWE में दम
      +3और स्लाइड देखें
      पिता बताते हैं- बेटे को बचपन से ही अपनी मां के हाथों की रोटी, दाल और साग खाना बहुत पसंद है। 30 से 40 रोटी, 3 कटोरी दाल और 2 प्लेट सब्जियां आसानी से खा लेता है।
    • ट्रक ड्राइवर थे इस रेसलर के पिता, अब बेटा दिखाएगा WWE में दम
      +3और स्लाइड देखें
      13 जनवरी को WWE और रिंकू के बीच करार हुआ है, जिसके बाद अब वो फ्लोरिडा परफामिंग सेंटर में ट्रेनिंग ले रहा है।
    आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
    दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

    More From Varanasi

      Trending

      Live Hindi News

      0

      कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
      Allow पर क्लिक करें।

      ×