Hindi News »Uttar Pradesh »Varanasi» Yuvraj Singh Birthday Special Story

जब भीड़ के बीच लड़की को कुछ यूं बचाते दिखे युवराज, जानें कौन थी वो

12 दिसंबर को क्रिकेटर युवराज सिंह का 36वां बर्थडे हैं।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Dec 12, 2017, 01:57 PM IST

  • जब भीड़ के बीच लड़की को कुछ यूं बचाते दिखे युवराज, जानें कौन थी वो
    +3और स्लाइड देखें
    युवराज सिंह अगस्त में वाराणसी आए थे।

    वाराणसी.12 दिसंबर को क्रिकेटर युवराज सिंह का 36वां बर्थडे हैं। इस मौके पर DainikBhaskar.com आपको युवराज की वाराणसी विज‍िट के बारे में बता रहे हैं, जब वह यहां YWC शोरूम का इनॉगरेशन करने पहुंचे थे। युवी को देखने के लिए सैकड़ों फैंस मॉल के पास उमड़ पड़े। सेल्फी लेने के चक्कर में भीड़ बेकाबू हो गई और धक्का-मुक्की होने लगी थी। उनके साथ कंपनी की सीईओ साजम‍िन कारा भी थी, जो भीड़ की वजह से ग‍िरने की स्थ‍ित‍ि में आ गई। ऐसे में यवुराज ने खुद अपने दोनों हाथों से कवर करते हुए उन्हें भीड़ से बाहर न‍िकाला।

    भीड़ को काबू करने के ल‍िए बुलाई पड़ी थी पीएसी...

    - बता दें, भीड़ को बेकाबू देख युवराज स‍िंह फैंस पर नाराज भी हुए, क्योंक‍ि वह कई बार खुद भी ग‍िरते-ग‍िरते बचे। ऐसे में मौके पर पीएसी बुलानी पड़ी। जब वो होटल पहुंचे तो मीड‍िया से मुलाकात की। हालांक‍ि, सबसे पहले YWC कंपनी की सीईओ साजमिन कारा ने आकर अपना इंट्रो दिया।

    4 सवालों के लिए दिए थे ये जवाब

    Q. आपको कैंसर से लड़ने के ल‍िए सबसे बड़ी ताकत कहां से आई?
    A. मेरी मां मेरी हिम्मत और ताकत हैं। उन्होंने ही मौत के जंग में मुझे लड़ने का जज्बा दिया। मेरी कैंसर से फाइट में मां की अहम भूमिका रही। कैंसर पेशेंट के लिए उसके घर वाले और दोस्त ही उसे लड़ने में मदद कर सकते हैं। और मुझसे बड़ा उदाहरण और कोई नहीं हो सकता।

    Q. क्या आपको कभी लगा क‍ि आप कैंसर से हार रहे हो?
    A. हां, लगता था फाइट हार जाऊंगा, लेक‍िन मेरी मां ने हार नहीं माना। कंट्री के लोगों ने मेरी लिए दुआ किया। आज सबसे के लिए मिशाल हूं। वापस आकर फ‍िर टीम में क्र‍िकेट खेल रहा हूं।

    Q. कैंसर के दौरान आप का दिन क्या सोचकर कटता था?
    A. बस एक बात सोचता था, मुझे वापस इंड‍िया के लिए खेलना है। डॉक्टर ने मुझे एक दिन बोला- आप तंदरुस्त हो जाएंगे। मैं अपने पैरों पर खड़ा हो जाऊंगा, ये सुनकर जोश आ गया।

    Q. कैंसर से पहले आप ऐसे पीड़ितों को देखकर क्या सोचते थे?
    A. कैंसर पीड़‍ित तो देखकर पहले बहुत खराब लगता था। बाद में एहसास हुआ क‍ि कितना खतरनाक है। बस उसी समय मन बनाया क‍ि अध‍िक से अध‍िक लोगों की मदद कर पाऊं। कोई भी पुराना कट हो या बीमारी महसूस हो तो टेस्ट जरूर कराएं। हमारा ट्रस्ट कैंस पीड़‍ितों के ल‍िए पूरी तरह से काम कर रहा है।

  • जब भीड़ के बीच लड़की को कुछ यूं बचाते दिखे युवराज, जानें कौन थी वो
    +3और स्लाइड देखें
    युवराज के साथ उनकी कंपनी YWC की सीईओ भी आई थी।
  • जब भीड़ के बीच लड़की को कुछ यूं बचाते दिखे युवराज, जानें कौन थी वो
    +3और स्लाइड देखें
    युवराज ने YWC की सीईओ शाजमीन कारा को भीड़ में धक्का-मुक्का से प्रोटेक्ट किया था।
  • जब भीड़ के बीच लड़की को कुछ यूं बचाते दिखे युवराज, जानें कौन थी वो
    +3और स्लाइड देखें
    भीड़ को बेकाबू देख युवराज स‍िंह फैंस पर नाराज भी हुए, क्योंक‍ि वह कई बार खुद भी ग‍िरते-ग‍िरते बचे।
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Varanasi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Yuvraj Singh Birthday Special Story
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Varanasi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×