--Advertisement--

दिव्यांग मां की बेटी को गोद में लेकर पहुंचे मोदी के मंत्री, संडे को स्कूल खुलवाकर कराया एडमिशन

मंत्री जी ने रविवार को स्कूल खुलवाकर बच्ची का एडमिशन कराया।

Danik Bhaskar | Jan 14, 2018, 03:53 PM IST
मनोज सिन्हा ने इंग्लिश मीडियम में बच्ची का एडमिशन कराया। मनोज सिन्हा ने इंग्लिश मीडियम में बच्ची का एडमिशन कराया।

गाजीपुर. रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा रविवार को जिले के शाह फैज पब्लिक स्कूल पहुंचे। यहां उन्होंने गार्जियन बनकर एक बच्ची का स्कूल में एडमिशन कराया। बता दें कि बच्ची की मां दिव्यांग है। जिसके बाद बच्ची को गोद में लेकर खुद रेल राज्यमंत्री स्कूल पहुंचे और उसे स्कूल में एडमिशन दिलाया।

- शाह फैज पब्लिक स्कूल में रविवार को छुट्टी के दिन भी काफी गहमागहमी रही क्योंकि रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा यहां अचानक पहुंच गए।

- उन्होंने दिव्यांग महिला रिंकू यादव की साढ़े तीन साल की मासूम बच्ची रोहानिका का नर्सरी में एडमिशन कराया। मंत्री मनोज सिन्हा ऐसे देख स्कूल में मौजूद लोग खुश थे।

बच्ची के पिता हैं जेल में

- मासूम रोहानिका की मां रिंकू ने बताया कि उसके पति ने कुछ वर्ष पहले उस पर जानलेवा हमला किया था जिसके बाद से वो जेल में हैं।

- ऐसी हालत में वह बेहद गरीबी और बेबसी की जिंदगी बिता रही हैं। मंत्री मनोज सिन्हा ने दिव्यांग महिला की मदद के लिए कदम उठाया।

- उन्होंने मेरी मासूम बच्ची की बेहतर शिक्षा के लिए न सिर्फ निर्देश दिए, बल्कि खुद ही गार्जियन के तौर पर एडमिशन कराने स्कूल पहंचे।


रविवार को खुलाया स्कूल

- मंत्री मनोज सिन्हा ने रविवार को स्कूल खुलवाया और इंग्लिश मीडियम में मासूम का एडमिशन कराया।

- इसके बाद मंत्री ने कहा कि मुझे उम्मीद है कि ये बच्ची एक दिन जिले का नाम रौशन करेगी।

- उन्होंने कहा कि यहां का जनप्रतिनिधि होने के कारण मेरा कर्तव्य है कि मैं लोगों की मदद करूं।

मनोज सिंहा ने कहा- जनप्रतिनिधि होने के कारण ये मेरा कर्तव्य है। मनोज सिंहा ने कहा- जनप्रतिनिधि होने के कारण ये मेरा कर्तव्य है।
बच्ची की मां दिव्यांग है। बच्ची की मां दिव्यांग है।