Hindi News »Uttar Pradesh »Varanasi» Myth And Facts About Rani Lakshmibai Life

रानी लक्ष्मीबाई की लाइफ से जुड़े हैं ये 7 Myth, वंशज ने बताए Facts

झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का जन्म 19 नवंबर 1835 को काशी के भदैनी इलाके में हुआ था।

DainikBhaskar.com | Last Modified - Nov 18, 2017, 09:00 AM IST

  • रानी लक्ष्मीबाई की लाइफ से जुड़े हैं ये 7 Myth, वंशज ने बताए Facts
    +6और स्लाइड देखें

    वाराणसी.झांसी की रानी लक्ष्मीबाई का जन्म 19 नवंबर 1835 को काशी के भदैनी इलाके में हुआ था। DainikBhaskar.com ने खुद को लक्ष्मीबाई के वंशज होने का दावा करने वाले एडवोकेट विवेक दिलीप ताम्बे से बातचीत की। उन्होंने लक्ष्मीबाई के बारे में कुछ मिथ और उनके फैक्ट्स बताए।


    FACT-नहीं, मोरोपंत 1810 के बाद ही पेशवा के यहां आ गए थे। वह बाजीराव सेकेंड के भाई सीमाजी आपा (भदैनी वाराणसी) के यहां पूजा करते थे।

  • रानी लक्ष्मीबाई की लाइफ से जुड़े हैं ये 7 Myth, वंशज ने बताए Facts
    +6और स्लाइड देखें

    FACT-नहीं, लक्ष्मीबाई करीब 4 साल की उम्र तक ही काशी में रही हैं। उन्होंने यहां कभी कुछ भी ऐसा नहीं सीखा।

  • रानी लक्ष्मीबाई की लाइफ से जुड़े हैं ये 7 Myth, वंशज ने बताए Facts
    +6और स्लाइड देखें

    FACT-नहीं, ऐसी कोई सुरंग जन्मस्थली पर नहीं थी। और कोई ऐसा सुरंग जन्मस्थली पर नहीं था।

  • रानी लक्ष्मीबाई की लाइफ से जुड़े हैं ये 7 Myth, वंशज ने बताए Facts
    +6और स्लाइड देखें

    FACT-पिता मोरोपंत अक्सर मणिकर्णिका घाट जाते थे। मनु नाम से पुकारते थे। उन्होंने ने बचपन में ही नाम रख दिया था।

  • रानी लक्ष्मीबाई की लाइफ से जुड़े हैं ये 7 Myth, वंशज ने बताए Facts
    +6और स्लाइड देखें

    FACT-नहीं, झांसी से ही उन्होंने अंगेजों को मुहं तोड़ जबाब दिया था।

  • रानी लक्ष्मीबाई की लाइफ से जुड़े हैं ये 7 Myth, वंशज ने बताए Facts
    +6और स्लाइड देखें

    FACT-काशी से झांसी कोई नहीं गया। बाजीराव पेशवा उस समय कानपुर के पास बिठूर में निवास करते थे। पिता मोरोपंत मां भागीरथी की मृत्यु के बाद मनु को लेकर 1838-39 में नाव से चले गए।

  • रानी लक्ष्मीबाई की लाइफ से जुड़े हैं ये 7 Myth, वंशज ने बताए Facts
    +6और स्लाइड देखें

    FACT- नहीं, बाजीराव सेकेंड ने बचपन में बिठूर में उनका नाम छबीली (मैना) रखा था।

आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Varanasi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×